Create
Notifications

वीडियो : जब गीता फोगाट ने रियो ओलंपिक कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक के खिलाफ कुश्ती लड़ी

ANALYST
Modified 21 Sep 2018

गीता फोगाट और साक्षी मलिक भारत की सबसे सफल महिला पहलवानों में से एक हैं। गीता 2010 कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक जीतने वाली भारत की पहली महिला पहलवान बनी और ओलंपिक्स के लिए क्वालीफाई करने वाली देश की पहली महिला पहलवान भी बनी। साक्षी मलिक अधिकांश फोगाट बहनों की छाया के तले दबी रही, लेकिन वह ओलंपिक्स में पदक जीतने वाली भारत की पहली महिला पहलवान बनी। साक्षी ने 2016 रियो ओलंपिक्स में कांस्य पदक जीता था।

उल्लेखनीय है कि दोनों ही महिला पहलवान बहुत ही नम्र पृष्टभूमी से ताल्लुक रखती हैं। गीता और साक्षी दोनों को हरियाणा में सामाजिक पक्षपात और लिंगभेद जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ा। मगर दोनों ने अपना लक्ष्य हासिल करने के लिए इन बाधाओं को आड़े नहीं आने दिया। साक्षी हमेशा अपनी वरिष्ठ हमवतन गीता को अपना आदर्श मानती हैं। दोनों चैंपियंस एकसाथ ट्रेनिंग कर रही थी, लेकिन रियो गेम्स में अपनी जगह पक्की करने के लिए दोनों को एक-दूसरे से प्रतिस्पर्धा करना थी। ओलंपिक ट्रायल्स में साक्षी ने बाउट जीती। हालांकि आमिर खान की दंगल (जिसमें गीता और उनके संघर्षों की कहानी बताई है) की अपार सफलता के बाद एक वीडियो काफी हिट हुआ है, जिसमें कॉमनवेल्थ स्वर्ण पदक विजेता और ओलंपिक पदक विजेता बाउट करती नजर आ रही हैं। वीडियो में दिखाया गया है कि दोनों महिला पहलवान एक-दूसरे का सामना 2015 में नई दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम काम्प्लेक्स, कस्बा जाधव रेसलिंग हॉल में एशियाई कैडेट रेसलिंग चैंपियनशिप्स में कर रही हैं। फाइट की शुरुआत सहज तरह से होती हैं जहां दोनों रेस्लर्स एक-दूसरे पर मजबूत पकड़ बनाने की कोशिश कर रहे हैं। शुरुआती पकड़ के बाद साक्षी आक्रामक रुख अपनाती हैं और गीता का पैर पकड़कर उन्हें मैट पर गिराने की कोशिश करती हैं। हालांकि गीता बड़े अच्छे से दांव पलटते हुए साक्षी को नीचे गिरा देती हैं। पहले राउंड की समाप्ति तक दोनों पहलवान 1-1 अंक हासिल करते हैं। दूसरे राउंड की शुरुआत भी पहले राउंड जैसी होती है जिसमें साक्षी आक्रमण करती हैं। वह गीता को मैट के बाहर गिराने में सफल हो जाती हैं और एक अंक हासिल कर लेती हैं। साक्षी फिर गीता के पैर पकड़ने की कोशिश करती हैं, लेकिन गीता इस समय पूरी तरह तैयार रही और साक्षी को मैट पर पटक देती हैं। साक्षी लगातार गीता के निचले शरीर पर निशाना साधे हुए हैं और तीसरे राउंड की शुरुआत में ही गीता को मैट पर पटक देती हैं। हालांकि गीता दमदार वापसी करती हैं और जल्द ही एक अंक जीत लेती हैं। गीता ने इसके बाद अपने अनुभव का पूरा फायदा उठाया और साक्षी के सभी दांवों को पस्त करते हुए मुकाबला जीत लिया। बाउट की समाप्ति में दिख रहा है कि गीता ने साक्षी को मैट पर पटका और मुकाबला अपने पक्ष में कर लिया।
Published 30 Dec 2016
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now