Create

विम्बल्डन से मिलने वाली धनराशि को यूक्रेन युद्ध के लिए दान देंगे एंडी मरे

मरे पहले ही साल 2022 की सारी इनामी राशि युद्ध प्रभावितों को देने की घोषणा कर चुके हैं।
मरे पहले ही साल 2022 की सारी इनामी राशि युद्ध प्रभावितों को देने की घोषणा कर चुके हैं।
Hemlata Pandey

पूर्व विश्व नंबर 1 एंडी मरे ने साल के तीसरे ग्रैंड स्लैम विम्बल्डन की शुरुआत से पहले एक बड़ा ऐलान किया है। मरे विम्बल्डन के जरिए मिलने वाली इनामी धनराशि को यूक्रेन के युद्ध प्रभावित लोगों के लिए दान में देंगे। 2 बार विम्बल्डन चैंपियन बन चुके स्कॉटिश खिलाड़ी मरे ने इस साल फरवरी में रूस की सेना द्वारा यूक्रेन पर हुए हमले के बाद घोषणा की थी कि इस साल टेनिस से होने वाली सारी कमाई से युद्ध प्रभावित यूक्रेन वासियों की मदद करेंगे और अब विम्बल्डन से पहले एक इंटरव्यू के दौरान मरे ने इस संबंध में फिर अपनी स्थिति साफ की है। मरे युद्ध प्रभावित लोगों के लिए घरों और बच्चों की पढ़ाई पर अधिक से अधिक मदद करना चाहते हैं।

सेंटर कोर्ट पर प्रैक्टिस के दौरान अपने कोच के साथ एंडी मरे।
सेंटर कोर्ट पर प्रैक्टिस के दौरान अपने कोच के साथ एंडी मरे।

टेनिस प्रतियोगिताओं में हर राउंड में भाग लेने वाले खिलाड़ियों को इनामी धनराशि दी जाती है जो हर राउंड के साथ बढ़ती है। 27 जून से शुरु हो रहे विम्बल्डन के पुरुष सिंगल्स के पहले दौर में खेलने वाले खिलाड़ियों को 50 हजार ब्रिटिश पाउंड यानी करीब 48 लाख रुपए मिलेंगे तो वहीं फाइनल विजेता को कुल 2 मिलियन ब्रिटिश पाउंड यानी करीब 19 करोड़ 20 लाख रूपए की धनराशि मिलेगी। मरे ने UNICEF के माध्यम से विम्बल्डन की इनामी धनराशि को युद्ध प्रभावित लोगों की मदद में लगाने का फैसला किया है। मरे टेनिस करियर की शुरुआत से ही अलग-अलग चैरिटी के साथ काम कर लोगों की मदद करते आ रहे हैं।

मरे ने साल 2013 और 2016 में विम्बल्डन की ट्रॉफी अपने नाम की है।
मरे ने साल 2013 और 2016 में विम्बल्डन की ट्रॉफी अपने नाम की है।

एंडी मरे मौजूदा विश्व नंबर 51 खिलाड़ी हैं, साल 2013 और 2016 में विम्बल्डन का पुरुष सिंगल्स खिताब जीत चुके हैं। साल 2017 में मरे क्वार्टरफाइनल में हारे थे और इसके बाद 2018, 2019 में वो चोट के कारण विम्बल्डन का हिस्सा नहीं बने। साल 2020 में टूर्नामेंट हो नहीं पाया था जबकि पिछले साल मरे तीसरे दौर में उपविजेता मतेओ बेरेतिनी से हारकर बाहर हुए। मरे ने अपना आखिरी खिताब साल 2019 में एंटूअर्प ओपन के रूप में जीता था। पिछले काफी सालों से वो चोट के कारण टेनिस कोर्ट से कई मौकों पर दूर रहे हैं। ऐसे में इस बार विम्बल्डन जीतने के वो निश्चित रूप से प्रबल दावेदार तो नहीं हैं लेकिन फैंस उनकी बेहतर वापसी की उम्मीद में जरूर हैं।


Edited by Prashant Kumar

Comments

Fetching more content...