Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

US Open 2016 : जर्मनी की एंजेलिक कर्बर ने प्लिस्कोवा को हराकर सत्र का दूसरा ग्रैंडस्लैम खिताब जीता

ANALYST
Modified 11 Oct 2018, 14:01 IST
Advertisement
जर्मनी की एंजेलिक कर्बर ने शनिवार को US Open 2016 के महिला सिंगल्स के फाइनल में चेक गणराज्य की करोलिना प्लिस्कोवा को 6-3, 4-6, 6-4 से हराकर सत्र का दूसरा ग्रैंडस्लैम खिताब जीता। कर्बर ने न सिर्फ यूएस ओपन का खिताब जीता बल्कि अपनी नंबर-1 रैंकिंग भी पक्की की। वह सोमवार को जारी होने वाली रैंकिंग में अमेरिका की सेरेना विलियम्स को पीछे छोड़ देंगी। कर्बर ने इस वर्ष की शुरुआत में ऑस्ट्रलियन ओपन का खिताब भी जीता था। 28 वर्षीया कर्बर ने फाइनल जीतने के बाद कहा, 'इस वर्ष चैंपियन बनकर ट्रॉफी उठाने की भावना को शब्दों में व्यक्त नहीं कर सकती। एक ही वर्ष में दूसरा ग्रैंडस्लैम खिताब जीतकर बहुत खुश हूं। यह मेरे करियर का सर्वश्रेष्ठ वर्ष है। मेरी टेनिस यात्रा की शुरुआत पांच वर्ष पहले न्यूयॉर्क से ही हुई थी जब मैंने सेमीफाइनल तक का सफर तय किया था। अब यहीं पर ट्रॉफी जीतकर बहुत खुश हूं। यह अतुल्नीय है।' दूसरी वरीय कर्बर ने फाइनल मुकाबले में प्लिस्कोवा की गलतियों का पूरा लाभ उठाया और तीसरे सेट में जबर्दस्त वापसी करते हुए मुकाबला अपने नाम किया। जर्मनी की कर्बर को खिताब दिलाने में प्लिस्कोवा ने भी अनजाने में मदद की जब उन्होंने सेमीफाइनल में सेरेना विलियम्स को हराया। प्लिस्कोवा ने सेरेना के लगातार 186 सप्ताह शीर्ष पर बने रहने के क्रम को भी तोड़ दिया जिसकी शुरुआत फरवरी 2013 में हुई थी। सोमवार को विश्व की नंबर-1 महिला टेनिस खिलाड़ी बनने के बारे में बात करते हुए कर्बर ने कहा, 'यह मेरे लिए काफी मायने रखता है। जब मैं छोटी थी तब हमेशा दुनिया की नंबर-1 टेनिस खिलाड़ी बनने और ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने के सपने देखती थी। आज मेरे सभी सपने सच होने जा रहे हैं और मैं हर पल का आनंद उठाना चाहती हूं। मैं यहां दूसरी ग्रैंडस्लैम ट्रॉफी के साथ खड़ी हूं जो मेरे लिए काफी महत्वपूर्ण है।' कर्बर जर्मनी की पहली महिला खिलाड़ी बनी जिन्होंने यूएस ओपन का खिताब जीता और वह विश्व रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंचने वाली भी अपनी देश की पहली महिला खिलाड़ी हैं। जर्मन खिलाड़ी ने मैच की जबर्दस्त शुरुआत की और पहला सेट 6-3 से आसानी से जीत लिया। चेक गणराज्य की खिलाड़ी ने इस सेट में 17 अनफोर्स्ड एरर किए। हालांकि डब्लूटीए टूर लीडिंग में इस वर्ष 447 ऐस मारकर फाइनल में पहुंचने वाली 24 वर्षीया प्लिस्कोवा ने दूसरे सेट में दमदार खेल दिखाया और 17 विनर्स लगाकर कर्बर को पूरी तरह पस्त करते हुए सेट 6-4 से जीत लिया। अंतिम सेट 3-3 की बराबरी पर चल रहा था, लेकिन कर्बर ने जोरदार खेल दिखाते हुए ट्रॉफी पर कब्ज़ा किया। 2 घंटे 7 मिनट तक चले इस मैच में प्लिस्कोवा ने कुल 47 अनफोर्स्ड एरर किए। मैच के बाद प्लिस्कोवा ने कहा, 'कर्बर के साथ आप गलतियों का इंतजार नहीं कर सकते। वह आपको कोई मौका देना पसंद नहीं करती। मुझे लगता है कि कर्बर हर हाल में शीर्ष स्थान पर पहुंचने की हक़दार हैं। मेरे ख्याल से रैंकिंग में यह अच्छा बदलाव रहेगा।' Published 11 Sep 2016, 11:41 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit