Create
Notifications

वीजा मामले में ऑस्ट्रेलिया कोर्ट ने दिया जोकोविच का साथ, डिटेंशन सेंटर से छूटकर की प्रैक्टिस

नोवाक जोकोविच के वीजा को कैंसिल किए जाने के फैसले को कोर्ट ने गलत ठहराया।
नोवाक जोकोविच के वीजा को कैंसिल किए जाने के फैसले को कोर्ट ने गलत ठहराया।
SENIOR ANALYST

ऑस्ट्रेलियाई बॉर्डर फोर्स की ओर से वीजा कैंसिल किए जाने के मामले में दुनिया के नंबर 1 टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच की बड़ी जीत हुई है। जोकोविच को ऑस्ट्रेलिया की स्थानीय कोर्ट ने राहत देते हुए सरकार के उनका वीजा कैंसिल किए जाने की कार्यवाही को गलत बताया है। कोर्ट ने जोकोविच के हक में फैसला देते हुए उनके वीजा को उचित ठहराया है और सरकार को आदेश दिया कि जोकोविच को फैसले की 30 मिनट के भीतर डिटेंशन सेंटर से बाहर निकाला जाए।

अपने हक में फैसला आने के बाद जोकोविच ने ट्विटर के माध्यम से सभी का धन्यवाद किया।
अपने हक में फैसला आने के बाद जोकोविच ने ट्विटर के माध्यम से सभी का धन्यवाद किया।

इस फैसले के बाद जोकोविच सैकड़ों समर्थकों की मौजूदगी के बीच डिटेंशन सेंटर से बाहर निकले। अब साल के पहले ग्रैंड स्लैम ऑस्ट्रेलियन ओपन में खेलने की जोकोविच की राह काफी हद तक साफ हो गई है क्योंकि आयोजकों ने पहले ही जोकोविच को विशेष अनुमति दी थी। डिटेंशन सेंटर से निकलने के बाद जोकोविच रॉड लेवर एरेना में प्रैक्टिस करते भी नजर आए। वैसे कोर्ट में सुनवाई के दौरान कोर्ट के बाहर जोकोविच के समर्थकों और पुलिस के बीच झड़प भी हुई।

क्या है पूरा मामला

I’m pleased and grateful that the Judge overturned my visa cancellation. Despite all that has happened,I want to stay and try to compete @AustralianOpen I remain focused on that. I flew here to play at one of the most important events we have in front of the amazing fans. 👇 https://t.co/iJVbMfQ037

सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने साल 2021 में ही साफ कर दिया था कि वो किसी भी स्थिति में अपने कोविड वैक्सीनेशन की जानकारी जाहिर नहीं करेंगे। ऑस्ट्रेलियन ओपन की एक शर्त थी कि सभी खिलाड़ी टूर्नामेंट में भाग लेने से पहले वैक्सीनेशन करवाकर इसकी सूचना देंगे। विश्व नंबर 1 और गत विजेता जोकोविच के रवैये के बाद टेनिस ऑस्ट्रेलिया ने उन्हें विशेष अनुमति देते हुए टूर्नामेंट में खेलने की अनुमति दी थी। ऐसे में जोकोविच 5 जनवरी को ऑस्ट्रेलिया के लिए प्लेन से रवाना हुए। 6 जनवरी को ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न एयरपोर्ट पहुंचने पर ऑस्ट्रेलियाई बॉर्डर फोर्स ने जोकोविच को एयरपोर्ट से बाहर नहीं जाने दिया। उनके वीजा में गड़बड़ी बताते हुए उन्हें एक होटल में रखा गया जो बतौर डिटेंशन सेंटर इस्तेमाल किया जाता है। इस बर्ताव के बाद जोकोविच के परिवार और टीम ने स्थानीय कोर्ट में वीजा कैंसिल किए जाने के विरोध में अपील की थी।

ऑस्ट्रेलियन ओपन में खेलना अभी तय नहीं

अपने पक्ष में फैसला आने के बाद जोकोविच ने ऑस्ट्रेलियन ओपन में खेलने की पूरी उम्मीद जताई और अपने कोच और परिवार के साथ रॉड लेवर एरेना में जाकर प्रैक्टिस भी की। लेकिन 17 जनवरी से शुरु हो रहे टूर्नामेंट में जोकोविच खेल पाते हैं या नहीं ये अभी तय नहीं है। कई विशेषज्ञों का मानना है कि ऑस्ट्रेलियाई सरकार की सरेआम हुए किरकिरी के बाद सरकार कोई न कोई पैंतरा अपनाकर जोकोविच को देश से बाहर निकालने की कोशिश कर सकती है।

नोवाक जोकोविच को मेलबर्न समेत दुनियाभर में कई लोगों ने लगातार समर्थन दिया।
नोवाक जोकोविच को मेलबर्न समेत दुनियाभर में कई लोगों ने लगातार समर्थन दिया।

हालांकि आयोजक अब भी चाहेंगे कि जोकिवच इस टूर्नामेंट में खेलें क्योंकि जोकोविच न सिर्फ गत विजेता हैं लेकिन रिकॉर्ड 9 बार ऑस्ट्रेलियन ओपन जीत चुके हैं और अपने रिकॉर्ड 21वें ग्रैंड स्लैम को जीतने की कोशिश करेंगे। ऐसे में जोकोविच की ब्रैंड वैल्यू तो पहले से ही थी, अब इस पूरे प्रकरण के बाद उन्हें खेलने के लिए देखने वालों की तादाद और बढ़ेगी। ऐसे में फैंस चाहेंगे कि जोकोविच को साल का पहला ग्रैंड स्लैम खेलने का मौका मिले।


Edited by निशांत द्रविड़
Fetching more content...
Article image

Go to article
App download animated image Get the free App now