Create
Notifications

अपने देश के झंडे तले नहीं खेल पाएंगे टेनिस नंबर 1 डेनिल मेदवेदेव, टेनिस संघों ने लगाया बैन

हाल ही में विश्व नंबर 1 बने मेदवेदेव रूस के झंडे तले प्रतियोगिताओं में नहीं खेल पाएंगे।
हाल ही में विश्व नंबर 1 बने मेदवेदेव रूस के झंडे तले प्रतियोगिताओं में नहीं खेल पाएंगे।
Hemlata Pandey
visit

रूसी सेना की ओर से यूक्रेन में हमले के बाद दुनियाभर के खेल संघ रूस और उसका साथ दे रहे बेलारूस की टीमों और खिलाड़ियों को बैन कर रही है। फुटबॉल, बैडमिंटन के बाद अब टेनिस की दुनिया ने भी रूस और बेलारूस के खिलाफ कार्यवाही का ऐलान किया है। विश्व के सभी टेनिस संघों ने मिलकर रूस और बेलारूस की टीमों को अंतर्राष्ट्रीय टेनिस ईवेंट्स से बाहर कर दिया है। यही नहीं फैसला लिया गया है कि रूस और बेलारूस के खिलाड़ी यदि किसी टूर्नामेंट में भाग लेते हैं तो उनके देश का राष्ट्रीय ध्वज इस्तेमाल में नहीं लाया जाएगा और खिलाड़ी Neutral खिलाड़ियों के रूप में भाग लेंगे।ऐसे में हाल ही में विश्व नंबर 1 टेनिस खिलाड़ी बने रूस के डेनिल मेदवेदेव और विश्व नंबर 6 रूस के एंड्री रुब्लेव आने वाले टूर्नामेंटों में अपने देश के ध्वज तले नहीं खेल पाएंगे।

ITF suspends Russia and Belarus from ITF membership and international team competitionFull statement ⬇️

ITF (International Tennis Federation) बोर्ड ने रूसी टेनिस फेडरेशन और बेलारूसी टेनिस फेडरेशन की सदस्यता सस्पेंड कर दी है और ITF की ओर से कराई जाने वाली डेविस कप प्रतियोगिता, बिली जीन कप जैसी टीम प्रतियोगिताओं से दोनों देशों का प्रतिभाग खत्म कर दिया है। खास बात ये है कि रूस की पुरुष टीम ने साल 2021 का डेविस कप का खिताब जीता था। वहीं पुरुष टेनिस संघ यानि ATP और महिला टेनिस संघ यानि WTA ने अक्टूबर में रूस के मॉस्को में होने वाले टूर्नामेंट को सस्पेंड कर दिया है। सभी अंतर्राष्ट्रीय टेनिस प्रतियोगिताओं, टेनिस ग्रैंड स्लैम में रूस और बेलारूस के खिलाड़ी न्यूट्रल खिलाड़ी के रूप में शिरकत करेंगे और इन दो देशों के राष्ट्रीय ध्वज का इस्तेमाल किसी भी तरह नहीं किया जाएगा। यह सस्पेंशन अनिश्चितकाल के लिए किया गया है।

रूस की टीम ने 2021 में डेविस कप जीता था। इस बार रूस डेविस कप में भाग नहीं ले पाएगा।
रूस की टीम ने 2021 में डेविस कप जीता था। इस बार रूस डेविस कप में भाग नहीं ले पाएगा।

पिछले कुछ दिनों से रूस के अलावा अन्य देशों के खिलाड़ी युद्ध में रूसी सेना की भूमिका के विरोध में लगातार मांग कर रहे थे कि इन देशों के टेनिस में प्रतिनिधित्व पर कार्यवाही की जाए। यूक्रेन की महिला टेनिस खिलाड़ी एलिना स्वितोलीना ने मेक्सिको मे हो रही मोन्टेरी ओपन प्रतियोगिता में पहले दौर में रूसी खिलाड़ी के खिलाफ खेलने से मना कर दिया था। हालांकि बाद में उन्होंने ये मैच खेलते हुए मुकाबला जीता। लेकिन वो लगातार मांग कर रही थी कि रूसी खिलाड़ियों को उनके झंडे के तले खेलने न दिया जाए। विश्व नंबर 1 डेनिल मेदवेदेव और एंड्री रुब्लेव अपने स्तर से युद्ध की निंदा कर चुके हैं। लेकिन अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति, फीफा और अन्य खेल संघों की ओर से लगातार रूस और बेलारूस के खिलाड़ियों के खिलाफ कार्यवाही का ऐलान किया जा रहा है। ऐसे में अब टेनिस संघों ने ये फैसला लिया है।


Edited by निशांत द्रविड़
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now