Create
Notifications

US Open 2016 : जोकोविक को हराकर वावरिंका ने तीसरा ग्रैंडस्लैम खिताब जीता

Abhishek Tiwary

स्विट्ज़रलैंड के स्टान वावरिंका 46 वर्षों में यूएस ओपन के पुरुष सिंगल्स का खिताब जीतने वाले सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बने जब उन्होंने रविवार को दुनिया के नंबर-1 नोवाक जोकोविक को हराकर करियर का तीसरा ग्रैंडस्लैम जीता। 31 वर्षीय तीसरी वरीय वावरिंका ने चार घंटे के भीतर जोशीले मुकाबले को 6-7 (1/7), 6-4, 7-5, 6-3 से अपने नाम किया। उन्होंने तब भी अपना संयम बनाए रखा जब जोकोविक ने चौथे सेट में दो बार मेडिकल टाइम आउट लेकर विवादों को जन्म देने का प्रयास किया। वावरिंका 1970 में 35 वर्षीय केन रोसवाल के बाद पुरुष टूर्नामेंट के सबसे उम्रदराज विजेता बने। 2002 में पीट सेमप्रास के बाद वह खिताब हासिल करने वाले 30 वर्ष से अधिक उम्र वाले पहले टेनिस खिलाड़ी भी बने। यह स्विस खिलाड़ी का पहला यूएस ओपन खिताब है। इससे पहले उन्होंने 2014 में ऑस्ट्रलियन ओपन और 2015 में फ्रेंच ओपन ग्रैंडस्लैम खिताब जीता था। पिछले दोनों ग्रैंडस्लैम जीत में वावरिंका ने सर्बिया के जोकोविक को हराया था। जोकोविक को ऑस्ट्रलियन ओपन के क्वार्टरफाइनल्स में जबकि फ्रेंच ओपन के फाइनल में वावरिंका के हाथों शिकस्त झेलना पड़ी थी। मैच जीतने के बाद वावरिंका ने कहा, 'नोवाक आप महान चैंपियन व बेहतर व्यक्ति हैं और आपके ही कारण मैं इस जगह हूं। आपने अब तक जो भी किया है उसके लिए आपको शुभाकामनाएं देता हूं। यह अद्भुत है। मैंने विजेता बनने का लक्ष्य नहीं बनाया था, बस हर मैच को जीतने का प्रयास किया। मेरा लक्ष्य अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना था जिसमें कामयाब हुआ।' 2011 और 2015 यूएस ओपन चैंपियन जोकोविक की निगाह वर्ष का तीसरे ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने पर टिकी हुई थी। मगर 29 वर्षीय सर्बियाई खिलाड़ी को रनर-अप बनकर संतोष करना पड़ा। वह मैच में 17 में से सिर्फ तीन ही ब्रेक पॉइंट हासिल कर सके। वहीं वावरिंका ने कुल 51 अनफोर्स्ड एरर किए, लेकिन 46 विनर लगाकर विरोधी खिलाड़ी को हरा दिया। जोकोविक ने मैच के बाद कहा, 'स्टान आप जीत के असली हक़दार हैं। आपने सही मौकों पर साहस दिखाया और इस वजह से खिताब जीतने के आप हक़दार थे। वावरिंका मानसिक तौर पर ज्यादा मजबूत निकले।' जोकोविक ने मैच की शुरुआत अपने अंदाज में करते हुए 2-0 की बढ़त बना ली। पहले सेट में जोकोविक ने 5-2 की बढ़त बना राखी थी, लेकिन वावरिंका ने जबर्दस्त वापसी करते हुए स्कोर 6-6 से बराबर कर दिया। डयूस होने के बाद जोकोविक ने सफलता हासिल करते हुए पहला सेट अपने नाम किया। दूसरे सेट में वावरिंका ने शुरुआत में 3-1 की बढ़त बनाकर जोकोविक पर दबाव बना दिया। सर्बियाई खिलाड़ी इस दबाव से बाहर नहीं निकल सके और दूसरा सेट 4-6 से हार गए। अपने प्रदर्शन से निराश जोकोविक ने रैकेट भी तोड़ दिया जिसके बाद उन्हें अंपायर से नियम उल्लंघन की चेतावनी भी मिली। वावरिंका ने अगले दोनों सेटों में अपने प्रहार जारी रखते हुए मैच और खिताब अपने नाम किया।


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...