Create

2 WWE सुपरस्टार्स जिन्हें वाइल्ड कार्ड रूल के कारण फायदा हुआ और 2 जिन्हें नहीं हुआ

Enter caption

कुछ सप्ताह पहले ही विंस मैकमैहन ने WWE में वाइल्ड कार्ड रूल लागू किया है, जिसे दुनिया भर से मिली-जुली प्रतिक्रियाएं प्राप्त हुई हैं। नए नियम के अनुसार, रॉ के कोई चार सुपरस्टार स्मैकडाउन में और स्मैकडाउन के कोई चार सुपरस्टार रॉ में जा सकते हैं।

पिछले कुछ सप्ताह में हुए एपिसोड्स पर गौर किया जाए तो रोमन रेंस, पेटन रॉयस, बिली के और कोफ़ी किंग्सटन स्मैकडाउन के ऐसे सुपरस्टार हैं, जो लगातार रॉ में नजर आ रहे हैं। दूसरी ओर रॉ सुपरस्टार सैमी जेन और ड्रू मैकइंटायर नियमित रूप से ब्लू ब्रांड में दिखाई दिए हैं।

इस हफ्ते तो WWE ने अपना ही नियम तोड़ते हुए आठ स्मैकडाउन सुपरस्टार्स को रॉ में आने की अनुमति दी थी। यहाँ हम दो ऐसे सुपरस्टार्स के नाम आपके सामने रखने वाले हैं, जिन्हें इस नए नियम का कोई अधिक फायदा नहीं पहुंचा है और दो ऐसे जिन्हें बड़ा पुश मिला है।

#1 ड्रू मैकइंटायर- नहीं हुआ है फायदा

Enter caption

एक समय ऐसा प्रतीत होने लगा था कि मैकइंटायर धीरे-धीरे यूनिवर्सल टाइटल की ओर रुख कर रहे हैं, मगर जैसे ही वाइल्ड कार्ड रूल लागू हुआ, उनका किरदार दिशा से भटक गया। शेन मैकमैहन के हील किरदार को तो इससे मजबूती मिली है लेकिन मैकइंटायर को इसका कोई फायदा पहुंचेगा, इसकी कोई गारंटी नहीं है।

आपको याद दिला दें कि रैसलमेनिया 35 तक वो कंपनी के सबसे बड़े हील सुपरस्टार्स में से एक हुआ करते थे। मगर अब वो मिड-कार्ड सुपरस्टार्स को 24/7 टाइटल जीतने में मदद करते दिखाई दे रहे हैं।

बेहतर होगा अगले सप्ताह होने वाले सुपर शोडाउन में मैकइंटायर, रोमन रेंस पर हमला करें। WWE को भी इन्हीं के बीच स्टोरीलाइन तैयार करनी चाहिए, जिससे द स्कॉटिश साइकोपैथ ख़राब दौर से बाहर निकल सकें।

WWE News in Hindi, RAW, SmackDown के सभी मैच के लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

#2 द आइकॉनिक्स- नहीं हुआ है फायदा

Enter caption

द आइकॉनिक्स ऑफ़िशियल तौर पर स्मैकडाउन रोस्टर का हिस्सा हैं, परन्तु वाइल्ड कार्ड रूल के बाद मौजूदा WWE विमेंस टैग टीम चैंपियंस को ऐसे बुक किया जा रहा है, जैसे वो रॉ रोस्टर का हिस्सा हों।

बिली के और पेटन रॉयस आख़िरी बार स्मैकडाउन रिंग में 23 अप्रैल को दिखाई दी थीं। यानी आज के हिसाब से विमेंस टैग टीम चैंपियंस को स्मैकडाउन में आए 38 दिन बीत चुके हैं। सच्चाई तो यह है कि उन्हें 24/7 चैंपियन से भी बेकार तरीके से बुक किया जा रहा है।

एक और कड़वी सच्चाई यह है कि वाइल्ड कार्ड रूल के बाद उन्होंने रॉ में एक भी मैच नहीं जीता है। यह रणनीति समझ से परे है कि आख़िर उन्हें असुका और कायरी सेन के साथ फ्यूड से अलग क्यों कर दिया गया है। मनी इन द बैंक में यदि इन दो टीमों के बीच मैच हुआ होता, तो उसे देखने में मजा ही अलग आता।

#1 कोफ़ी किंग्सटन- कुछ हद तक फायदा पहुंचा है

Enter caption

कोफ़ी किंग्सटन के मौजूदा किरदार को देखते हुए ऐसा कहना गलत नहीं है कि उन्हें इस नए नियम का कोई फायदा नहीं पहुंचा है। कोफ़ी की माइक स्किल्स लगातार सुधर रही हैं, जो कि इससे पहले ज़ेवियर वुड्स और बिग ई किया करते थे।

वाइल्ड कार्ड रूल के बाद वो कई बार रॉ के मेन इवेंट का हिस्सा बन चुके हैं। अच्छी बात यह है कि जितनी बार भी चैंपियन रहते उन्होंने रॉ का मेन इवेंट मैच लड़ा है, उनमें से उन्हें किसी में भी हार नहीं मिली है।

अगले सप्ताह सुपर शोडाउन की बात करें तो उनका सामना डॉल्फ जिगलर से होना है। जिगलर ने पिछले सप्ताह धमाकेदार वापसी करते हुए कोफ़ी किंग्सटन पर हमला कर हील टर्न लिया था। आपको यह भी बता दें कि डॉल्फ जिगलर पहले भी वर्ल्ड चैंपियन रह चुके हैं और अब उन्हें फिर WWE यूनिवर्स को हैरान करने का मौका मिला है।

यह भी पढ़ें: चार बड़ी गलतियाँ जिनसे WWE को सुपर शोडाउन में बचना होगा

#1 शेन मैकमैहन- फायदा पहुंचा है

Enter caption

कुछ महीने पहले तक किसी ने नहीं सोचा था कि शेन मैकमैहन कभी WWE के सबसे मुख्य हील किरदारों में से एक बनने वाले हैं। यह वाइल्ड कार्ड रूल का ही नतीजा है कि जब भी वो रिंग में आते हैं, पूरा क्राउड़ उन्हें गुस्से भरी नजरों से देखता है।

रोमन रेंस जैसे लोकप्रिय सुपरस्टार के साथ फ्यूड शेन के हील किरदार को और भी मजबूती दे रही है। 2016 में जब उन्होंने वापसी की थी, ऐसा शायद ही किसी ने सोचा होगा कि यही व्यक्ति अगले एक या दो साल में कंपनी की हील डिवीज़न का भार अपने कंधों पर संभालते हुए नजर आएगा।

वो भलि-भांति क्राउड़ को अपने इशारों पर नचाना जानते हैं। मगर अब इलायस और ड्रू मैकइंटायर का क्या होगा, इसके बारे में फिलहाल कुछ भी कहना कठिन है।

यह भी पढ़ें: 5 घटनाएँ जिनसे मजबूर होकर डीन एम्ब्रोज़ को WWE छोड़नी पड़ी

Quick Links

Edited by विजय शर्मा
Be the first one to comment