Create
Notifications

5 अनबूझ सवाल जो WWE SmackDown में बैरन कॉर्बिन के डाउनफॉल से खड़े होते हैं

अनबूझ सवाल जो WWE SmackDown में बैरन कॉर्बिन के डाउनफॉल से खड़े होते हैं
अनबूझ सवाल जो WWE SmackDown में बैरन कॉर्बिन के डाउनफॉल से खड़े होते हैं
reaction-emoji
Amit Shukla

WWE में बैरन कॉर्बिन (Baron Corbin) का किरदार आज कल काफी बुरे दौर में है। ऐसा उनके किरदार को दिखाया जा रहा है और इसकी वजह से कई सवाल भी खड़े होते हैं। वो एक समय पर किंग थे लेकिन अब उनका किरदार इससे एकदम उलट हो चला है। ये एक ऐसे रेसलर के तौर पर दिखाए जा रहे हैं जिसके पास कुछ नहीं है।

ये भी पढ़ें: 5 बातें जो आप WWE हॉल ऑफ फेमर और रुस्तम-ए-हिन्द Dara Singh जी के बारे में नहीं जानते होंगे

हमने देखा कि पहले उनकी गाड़ी को बैंक वाले पैसे ना चुका पाने के कारण ले गए और अब उनके घर पर भी खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। ये सब अगर उनके हैप्पी कॉर्बिन वाले ट्रेडमार्क किए गए किरदार के लिए किया जा रहा है तो वो एक अलग बात है लेकिन इस किरदार और मौजूदा कहानी के कारण कुछ सवाल खड़े होते हैं जिनके बारे में हम यहाँ बात करने वाले हैं।

#5 WWE टीवी पर उनकी कोई एंट्रेंस थीम नहीं है

बैरन कॉर्बिन के जीवन में पैसों की कमी वाला किरदार दिखाया जा रहा है। ऐसे में क्या वो इसलिए किसी थीम सांग को नहीं इस्तेमाल कर पा रहे हैं क्योंकि वो उसकी रॉयल्टी नहीं दे पा रहे हैं। किंग का खिताब हारने के कारण वो अब अपने किंग के समय वाले थीम सांग का इस्तेमाल नहीं कर पा रहे हैं।

ये भी पढ़ें: WWE Money in the Bank में रोमन रेंस ने भारतीय सुपरस्टार का किया था बहुत ही बुरा हाल, खतरनाक स्पीयर देकर किया था 'अधमरा'

वहीं क्या वो उससे पहले इस्तेमाल में रहे अपने थीम सांग को भी प्रयोग में नहीं ला सकते हैं? ये एक बड़ा सवाल है जिसका जवाब अब तक नहीं मिला है। जिस तरह से इस समय कहानी चल रही है उसके बाद ऐसा लग रहा है जैसे आनेवाले दिनों में भी ये जारी रहेगी और हमें शायद इनका कोई थीम सांग देखने को ना मिले।

ये भी पढ़ें: 7 WWE दिग्गज सुपरस्टार्स जो क्रिकेट खेलते हुए नजर आए हैं

कृपया Sportskeeda के WWE सेक्शन को बेहतर बनाने में मदद करें। अभी 30 सेकंड का सर्वे करें!

#4 क्या WWE ने क्राउन हारने के बाद उनकी सारी पेमेंट्स बंद कर दी हैं?

एक रेसलर को कंपनी में काम करने के लिए पेमेंट मिलती है फिर चाहे उन्हें जीत मिले या फिर हार। अगर हारने पर कोई पेमेंट ना मिलती तो कर्ट हॉकिंस के पास तो कभी पैसा ही नहीं होता क्योंकि वो जितने मैचों में हार चुके हैं उतना तो शायद ही कोई हारा होगा। इसको देखते हुए क्या ये कहा जा सकता है कि कुछ गलत हो रहा है।

रिलीज किए गए सुपरस्टार्स को भी 90 दिनों की पेमेंट होती है ताकि वो अपनी गुजर बसर कर सकें। ऐसे में क्या कॉर्बिन ने ऐसे किसी बड़े स्तर के कर्मचारी को नाराज कर दिया है कि उनके पास पैसे की किल्लत आ गई है और पहले कार के बाद अब उनका घर भी जाने की कगार पर है? क्या इस बार चीजें कुछ ज्यादा जल्दी नहीं हुई हैं?

#3 2019 में हुए WWE King of the Ring से पहले कॉर्बिन कैसे रहते थे?

एक इंसान जो महंगी घड़ी को रख सकता है क्या वो इतना पैसा नहीं कमाता होगा कि वो अपनी कार और घर को सुरक्षित रख सके? ऐसा तो नहीं है कि कॉर्बिन ने पहले काफी पैसा खर्चा किया और अब उसकी वजह से उनके पास पैसे की किल्लत आ गई है? क्या उन्होंने जरूरत से ज्यादा खर्च कर दिया है?

वैसे ये बात थोड़ी अटपटी है क्योंकि इतना पैसा तो किसी भी रेसलर को मिलता है कि वो अपने जीवन को अच्छे से चला सके। अगर कॉर्बिन के पास पैसों की इतनी कमी है तो इसका मतलब है कि उन्हें या तो कभी पेमेंट ही नहीं मिली या फिर इतनी कम मिली कि उसे गिना ही नहीं जा सकता है, पर क्या ये संभव है?

#2 किंग कॉर्बिन अब काम पर भला क्यों आ रहे हैं?

अगर उन्हें कम पेमेंट मिल रही है या पेमेंट मिल ही नहीं रही है तो फिर वो कंपनी में काम करने के लिए क्यों आ रहे हैं? किंग कॉर्बिन का क्राउन तो महज कुछ दिन पहले ही उनसे लिए गया है। ऐसे में इतनी जल्दी उस क्राउन को खोने के बाद वो इस स्थिति में कैसे आ गए हैं? अगर ऐसा है तो वो काम पर क्यों आ रहे हैं?

पैसा यानी मेहनताना ना मिलने पर कोई भी कंपनी में आना बंद कर सकता है तो ऐसे में क्या है जिसके कारण वो अब भी ऑफिस आ रहे हैं? ऐसी क्या प्रेरणा है जिसके लिए वो रिंग में आ रहे हैं और इसके बावजूद अपनी घड़ी, गाड़ी और शायद अब घर को भी खोने वाले हैं? क्या ये बात कहीं से सही है? क्या कंपनी इस तरह का सवाल खड़ा करके उन्हें खराब तो नहीं दिखा रही है?

#1 शिंस्के नाकामुरा को उनकी गाड़ी पर मालिकाना हक इतनी जल्दी कैसे मिल गया?

ऑक्शन और घर से उठाई गई कारों के लिए देश में एक नियम है और वो ये कि पुराना मालिक उसको प्राप्त करने के लिए दो हफ्ते का समय ले सकता है। ऐसे में ये कैसे मुमकिन है कि महज सात दिनों के अंदर अंदर इन्होंने उस गाड़ी से अपना मालिकाना हक भी खो दिया और वो ऑक्शन हो गई?

ये कहानी नियमों के हिसाब से सही नहीं है क्योंकि दो हफ्ते के बाद ऑक्शन होता है और उसके बाद सबसे ज्यादा बोली लगाने वाले को कोई भी सामान दिया जाता है। इस स्थिति में महज एक हफ्ते में गाड़ी को खोना, उसका टो किया जाना, ऑक्शन होना और अगले हफ्ते नाकामुरा का उसे इस्तेमाल करना देश के कानून का उल्लंघन है। क्या कंपनी ये बता सकती है कि उसने ये कैसे कर दिया?

Edited by Amit Shukla
reaction-emoji

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...