5 कारण क्यों WWE ने अपने ब्रांड्स के बीच सुपरस्टार्स ट्रेड शुरू करने का फैसला किया 

एजे स्टाइल्स
एजे स्टाइल्स

इस हफ्ते WWE कमेंटेटर माइकल ने स्मैकडाउन के दौरान खुलासा किया कि एजे स्टाइल्स को ब्लू ब्रांड का हिस्सा बनाया जा चुका है। यह काफी चौंकाने वाला फैसला था क्योंकि एजे स्टाइल्स 'ब्रांड टू ब्रांड इनविटेशनल' रूल के तहत स्मैकडाउन में आए थे। आपको बता दें, इस रूल के तहत एक ब्रांड का सुपरस्टार दूसरे ब्रांड में नजर सकता है।

यह भी पढ़े: 5 बड़े WWE सुपरस्टार्स जिनके बेहतरीन सुझाव को विंस मैकमैहन ने रिजेक्ट कर दिया

एजे स्टाइल्स के ब्लू ब्रांड का हिस्सा बनने से यह बात साफ हो गई है कि आने वाले समय में स्मैकडाउन के सुपरस्टार को रेड ब्रांड का हिस्सा बनाया जा सकता है। हालांकि अभी तक यह बात साफ नहीं है कि WWE ने कितने सुपरस्टार्स को एक ब्रांड से दूसरे ब्रांड में भेजने का फैसला किया है। इस आर्टिकल में हम ऐसे 5 कारणों के बारे में बात करने वाले हैं कि क्यों WWE ने अपने ब्रांड्स के बीच सुपरस्टार्स ट्रेड शुरू करने का फैसला किया है।

5.WWE अपने रेटिंग्स बढ़ाना चाहती है

पिछले कुछ सालों के दौरान WWE की रेटिंग्स में काफी गिरावट देखने को मिली और कोरोना महामारी ने स्थिति को और भी खराब कर दिया है। इस महामारी के कारण WWE अपने शोज और सभी पीपीवी अपने परफॉर्मेंस सेंटर में बिना ऑडियंस के कराने को मजबूर है

शायद यही कारण है कि WWE ने अपने ब्रांड्स के बीच सुपरस्टार्स ट्रेड शुरू कराने का फैसला किया ताकि फैंस एक बार फिर बड़ी संख्या में WWE देखना शुरू कर दे। हालांकि यह देखना रोचक होगा कि यह नया रूल फैंस को कितना पसंद आता है और आने वाले समय में यह साफ हो जाएगा कि इस रूल से WWE की रेटिंग्स में कितना इजाफा होने वाला है।

4.WWE नए फ्यूड्स की शुरुआत कर समरस्लैम के लिए स्टेज तैयार करना चाहती है

समरस्लैम WWE के चार सबसे बड़े पीपीवी में से एक है और WWE इस पीपीवी को धमाकेदार बनाने के तैयारियों में अभी से ही व्यस्त हो चुकी है और शायद यही कारण है कि WWE ने सुपरस्टार ट्रेड रूल शुरू करने का फैसला किया ताकि वह सुुुुुपरस्टार्स को एक ब्रांड से दूसरे ब्रांड में भेजकर नए फ्यूड्स की शुरुआत कर सके और जिससे फैंस को समरस्लैम जैसे बड़े पीपीवी में फ्रेश मैच देखने को मिले।

3.WWE के टॉप शो रॉ में नए सुपरस्टार्स काे लाइमलाइट में आने का मौका मिल सके

एजे स्टाइल्स (Aj Styles) ने पिछले कुछ सालों में यह साबित किया है कि वह WWE के टॉप हील सुपरस्टार्स में से एक हैं। हालांकि, वह रॉ में एक हील सुपरस्टार्स के रूप में काफी बेहतरीन काम कर रहे थे लेकिन शायद उन्हें स्मैकडाउन में भेजने का फैसला इसलिए किया गया ताकि रॉ में नए हील सुपरस्टार्स को लाइमलाइट में आने का मौका मिल सके और एजे स्टाइल्स के ब्लू ब्रांड का हिस्सा बनने के कारण एंड्राडे, एंजेल गार्जा जैसे हील सुपरस्टार्स के लिए काम आसान हो गया है।

2.WWE ड्राफ्ट का एक छोटा रूप

कंपनी हर साल WWE ड्राफ्ट के जरिए अपने कुछ सुपरस्टार्स को एक ब्रांड से दूसरे ब्रांड से भेजती है। ऐसा करने पर WWE को रेसलमेनिया के बाद नई शुरुआत करने में मदद मिलती है और फैंस को भी इस कारण फ्रेश फ्यूड देखने को मिलते हैं। इस महामारी के वक्त WWE ड्राफ्ट को कराने का कोई मतलब नहीं बनता है क्योंकि हर ड्राफ्ट के घोषणा के बाद चीयर करने के लिए फैंस एरीना में मौजूद नहीं होंगे और शायद यही कारण है कि कंपनी ने WWE ड्राफ्ट के छोटे रूप सुपरस्टार्स ट्रेड कराने का फैसला किया।

1.WWE स्मैकडाउन की रेटिंग्स को बढ़ाने के लिए

स्मैकडाउन के सबसे बड़े सुपरस्टार्स रोमन रेंस काफी समय से WWE में नहीं दिखाई दिए हैं और उनकी अनुपस्थिति के कारण स्मैकडाउन को काफी नुकसान हो रहा है और शायद यही कारण है कि WWE ने सुपरस्टार्स ट्रेड शुरू करने का फैसला किया ताकि वह एजे स्टाइल्स जैसे रॉ के कुछ बड़े सुपरस्टार्स को स्मैकडाउन में भेजकर इस शो की रेटिंग बढ़ाने में मदद कर सके।

Quick Links

Edited by PANKAJ
App download animated image Get the free App now