Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

क्या आप जानते हैं: 2009 में हुई वो बीमारी जिसने ब्रॉक लैसनर की लगभग जान ले ली थी

ANALYST
फ़ीचर
Published 14 May 2019, 13:00 IST
14 May 2019, 13:00 IST

Enter caption

WWE में ब्रॉक लैसनर को हराना काफी ज्यादा मुश्किल है। बीस्ट के पास बहुत तगड़ी बॉडी है, उनके रैसलिंग मूव्स और फिनिशर (F5) WWE के सबसे खतरनाक मूव्स में से एक हैं।

पूर्व यूनिवर्सल चैंपियन को देखकर लगता है कि उन्हें कोई भी बीमारी परेशानी नहीं करती होगी, लेकिन वह भी इंसान ही हैं। उन्हें भी कई सारी बीमारियों का सामना करना पड़ता है।

UFC में बतौर फाइटर काम करने के दौरान उन्हें बहुत खतरनाक बीमारी हो गई थी, जिसकी वजह से उनकी जान भी जा सकती थी। इस बीमारी का नाम डाइवर्टीक्युलिटिस था। 

ब्रॉक लैसनर को आंत-संबंधी बीमारी थी, यह बीमारी मुख्य तौर पर बुखार, धूम्रपान, मोटापे, ड्रग्स और बैक्टीरिया के इन्फेक्शन के करण होती है। यह बीमारी अमेरिका में सामान्य है लेकिन अफ्रीका और एशिया में इस बीमारी को असामान्य माना जाता है।

इस बीमारी से व्यक्ति के एब्स में दर्द होता है और इससे डायरिया आदि जैसे रोग भी हो जाते है। इस बीमारी को दवाई-गोली, हल्की डाइट और सर्जरी से ठीक किया जा सकता है। 

ये भी पढ़ें- ब्रॉक लैसनर की कुल कमाई और संपत्ति

ब्रॉक लैसनर को 2009 के आसपास इस बीमारी के बारे में पता चला। उन्होंने खुद को कनाडा के अस्पताल दिखाया लेकिन वहां कुछ नहीं हो पाया, बाद में उन्होंने नार्थ डकोटा में भी डॉक्टर को बताया।

डॉक्टरों के अनुसार, उन्हें डाइवर्टीक्युलिटिस (Diverticulitis) नाम की गंभीर बीमारी है। बाद में उन्हें पता चला कि वह मोनोनुक्लिओसीस नाम की एक और बीमारी से पीड़ित हैं। कुछ समय तक पेनकिलर खाने के बाद उन्होंने सर्जरी करवाने का निर्णय लिया।

उन्होंने सर्जरी करवाई, जिससे उनकी बीमारी खत्म हो गयी। लेकिन 2011 में एक बार फिर से उनकी यह बीमारी लौट आयी। जिसकी वजह से उन्हें और कुछ समय तक आराम करना पड़ा।

Advertisement

उन्होंने अपनी बुक 'डेथ क्लच' में इस बीमारी के बारे में जानकारी दी और बताया कि इसकी वजह से उनके कितनी तकलीफ उठानी पड़ी। अगर उन्हें सही समय पर पता नहीं चलता तो शायद उनकी यह बीमारी और भी बड़ा रूप ले लेती।

WWE News in Hindi, RAW, SmackDown के सभी मैच के लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

Modified 20 Dec 2019, 23:02 IST
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...