रोमन रेंस के परिवार के दिग्गज रेसलर का खुलासा, बताया कि वो तीन मिनट के लिए लगभग मर ही गए थे

Ankit
WWE
WWE

WWE में कई सारे दिग्गज आए हैं लेकिन कुछ ऐसे रहे जिन्होंने अपना नाम छोड़ा। इसी लिस्ट में रिकिशी (Rikishi) भी शामिल हैं। रिकिशी (Rikishi) WWE सुपरस्टार जे (Jey) और जिमी Jimmy) उसो के पिता है। WWE दिग्गज रिकिशी (Rikishi) ने बताया कि उनकी जिंदगी का एक हादसा कैसे उन्हें रेसलिंग बिजनेस में लेकर आया।

यह भी पढ़ें: 5 बड़ी चीजें जो WrestleMania में ऐज द्वारा रोमन रेंस को हराने के बाद देखने को मिल सकती है

Insight with Chris Van Vliet के ताजा एपिसोड में WWE के दिग्गज रिकिशी ने बताया कि कैसे उनकी जिंदगी प्रो रेसलिंग ने बचाई। उन्होंने बताया कि वो 17 साल के थे और एक हादसे में घायल हो गए थे।

प्रो रेसलिंग ने मेरी जिंदगी बचाई। सैन फ्रांसिस्को में हम लोग एक चर्च के वहां जा रहे थे। मैं मेरी मां और पिता के साथ। हम लोग हमेशा चर्च जाकर प्रार्थना करते थे लेकिन इस बार हम दूसरे रास्ते पर जा रहे थे। मैं थोड़ा गलत चला गया था। मैं भीड़ में भाग रहा था। तभी एक हादसा हुआ और मैं अपनी जिंदगी खो बैठा था। मैं लगभग तीन मिनट तक बेहोश था और मेरी आंखे एबुलेंस में खुली और मैंने अपनी मां को देखा।

WWE दिग्गज रिकिशी के साथ फिर मां ने क्या किया?

गोली लगने के कुछ दिन बाद रिकिशी की मां ने उन्होंने कैलिफोर्निया में उनके अंकल आफा और सिका के पास भेज दिया था। दोनों ही रेसलिंग को अच्छे से जाते थे और उन्हें पता था कि कैसे ऑडियंस के सामने परफॉर्म करना है। रिकिशी ने दोनों को धन्यवाद करते हुए कहा कि उनकी जिंदगी फिर ट्रेक पर आ गई।

ये भी पढ़ें:- WrestleMania 37 को लेकर पूरी जानकारी: कब और कहां होगा आयोजन, शो में WWE फैंस होंगे मौजूद

मैं लगभग दो महीनों के लिए हॉस्पिटल में था और तब मेरी मां ने फैसला कर लिया था कि मुझे वो कैलिफोर्नियां से दूसर भेजने वाली है। उन्होंने मुझे मेरे मामा के पास भेज दिया। उसी दौरान मैं रेसलिंग के बिजनेस में आया। मुझे खुशी है कि उन्होंने ये किया। क्योंकि उसी के बाद मैं अपनी जिंदगी को ट्रेक पर ला पाया।

रिकिशी को उनके लंबे और शानदार करियर के लिए साल 2015 में हॉल ऑफ फेमर का सम्मान दिया गया था। रोमन रेंस रिकिशी के परिवार के मेंबर हैं।

WWE और रेसलिंग से जुड़ी तमाम बड़ी खबरों के साथ-साथ अपडेट्स, लाइव रिजल्ट्स को हमारे Facebook page पर पाएं।