Create

रोमन रेंस के हील टर्न को लेकर उनके पुराने दुश्मन ने दिया चौंकाने वाला बयान

रोमन रेंस
रोमन रेंस

पिछले कई सालों से फैंस मांग कर रहे थे कि रोमन रेंस को WWE में हील टर्न ले लेना चाहिए। आखिरकार फैंस की सालों पुरानी मांग अब पूरी हो गई है क्योंकि WWE समरस्लैम 2020 में वापसी कर उन्होंने वाकई में हील टर्न ले लिया है।

विंस मैकमैहन ने रोमन को WWE का अगला जॉन सीना बनाने का हरसंभव प्रयास किया, लेकिन ऐसा करने में वो सफल नहीं हो पाए। कुछ लोगों का तो ये भी मानना है कि WWE को रोमन को मेन इवेंट सुपरस्टार के तौर पर पुश देना ही नहीं चाहिए था।

ये भी पढ़ें: 5 WWE सुपरस्टार्स जिनके साथ रोमन रेंस के संबंध अच्छे नहीं हैं

खैर पिछले 3 सालों में अब काफी चीजें बदल चुकी है। हाल ही में करीब 5 महीने तक WWE रिंग से दूर रहने के बाद उनकी वापसी हुई और उनका पॉल हेमन के साथ आना सबसे चौंकाने वाला लम्हा रहा।

हाल ही में साल 2017 में रोमन रेंस को यूनाइटेड स्टेट्स टाइटल के लिए चैलेंज करने वाले रुसेव से रोमन के हील टर्न के बारे में सवाल पूछा गया। इसका जवाब देते हुए उन्होंने मौजूदा WWE यूनिवर्सल चैंपियन की खूब तारीफ की है। उन्होंने ये भी कहा कि हर सुपरस्टार को खुद में बदलाव और नई चुनौतियों का सामना करना चाहिए।

उन्होंने कहा,

"उनका हील टर्न मुझे काफी पसंद आया। उन्हें नई चुनौतियों का सामना करने की जरूरत थी क्योंकि लंबे समय तक हील रहने के बाद मेरे मन में भी खुद में बदलाव करने की इच्छा जागृत होने लगी थी। 'Rusev Day' से पहले और उसके बाद भी मुझे हील सुपरस्टार ही बनाए रखा गया था। लोगों को सफल होने के लिए बदलाव की जरूरत होती है और मुझे लगता है कि पॉल हेमन और विंस मैकमैहन अच्छे से जानते हैं कि रोमन के हील टर्न को सफल कैसे बनाना है।"

रुसेव और रोमन रेंस के बीच समानताएं

रुसेव ने ये भी बताया कि रोमन रेंस की मौजूदा स्थिति उनके करियर के 2017 के समय जैसी है। जब वो 'Rusev Day' के समय बड़े बेबीफेस सुपरस्टार बन चुके थे लेकिन WWE इस बात को मानने को तैयार नहीं थी।

वहीं अब रोमन हील बन चुके हैं तो संभव ही WWE ये मानने को तैयार नहीं होगी कि कंपनी का सबसे बड़ा बेबीफेस सुपरस्टार विलन कैसे बन सकता है। खैर अब ये देखना दिलचस्प होगा कि रोमन का हील टर्न कितना सफल साबित हो पाता है।

ये भी पढ़ें: 3 चीजें जो रोमन रेंस इस हफ्ते स्मैकडाउन में कर सकते हैं

Quick Links

Edited by Neeraj sharma
Be the first one to comment