Create

5 भारतीय खिलाड़ी जिनका ये आखिरी ऑस्ट्रेलियाई दौरा हो सकता है

Enter caption

भारतीय क्रिकेट टीम का ऑस्ट्रेलिया दौरा 21 नंबर से शुरू हो चुका है जो 18 जनवरी तक चलेगा। इस दौरे के दौरान पहले 3 टी20 फिर 4 टेस्ट मैच और आखिर में 3 वनडे मैचों की सीरीज खेली जाएगी।

इससे पहले जब भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गई थी तो चार टेस्ट मैचों की सीरीज खेली गई थी जिसमें से दो मैच ऑस्ट्रेलिया ने जीत लिए थे और दो ड्रॉ हो गए थे। इसके बाद 2015 में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गई भारतीय टीम और ऑस्ट्रेलिया के बीच पांच वनडे और तीन टी20 खेले गए। इनमें वनडे में ऑस्ट्रेलिया ने 4-1 से जीता तो टी20 सीरीज भारत ने अपने नाम की।

हालांकि इस दौरे के बाद आने आने वालों सालों में भारत फिर से ऑस्ट्रेलिया दौर पर जाएगा तो माना जा रहा है कि कुछ खिलाड़ी जो अभी टीम का हिस्सा हैं वो अगले दौरे में नहीं होंगे। यहां जानिए ऐसे पांच खिलाड़ियों के बारे में जिनका ये आखिरी ऑस्ट्रेलिया दौरा हो सकता है।

#5 मुरली विजय

Murali Vijay

2017 तक मुरली विजय को भारतीय क्रिकेट टीम के धुरंधर बल्लेबाजों में गिना जाता था लेकिन इसके बाद उनकी परफॉर्मेंस में गिरावट देखी गई। आखिरी दस इनिंग में मुरली ने एक भी अर्धशतक नहीं बनाया है। हाल ही में भारत के इंग्लैड दौरे में मुरली ने 4 इनिंग्स में 6.5 की खराब औसत से सिर्फ 26 रन ही स्कोर किए हैं।

हालांकि मुरली को ऑस्ट्रेलिया दौरे में शामिल किया गया है। इस दौरान पृथ्वी शाॉ उन्हें कड़ी टक्कर देते दिखाई दे सकते हैं। मुरली ने 59 टेस्ट मैचों में 3933 रन बनाए हैं वहीं 17 वनडे खेलते हुए 339 रन स्कोर किए हैं।

यह भी पढ़ें: भारत के 5 क्रिकेट स्टेडियम जहां खेला जा सकता है 2023 के विश्व कप का फाइनल मैच

क्रिकेट की ब्रेकिंग न्यूज़ और ताज़ा ख़बरों के लिए यहां क्लिक करें

#4 रविंद्रचंद अश्विन

Ravichandran Ashwin

अश्विन करीब 7 सालों से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेल रहे हैं। उनकी गिनती भारत के बेहतरीन गेंदबाजों में होती है। अश्विन भारत के सबसे कम समय में 50, 100, 150, 200, 250, और 300 विकेट झटकने वाले खिलाड़ी हैं। इसके साथ ही अश्विन हर फॉर्मेंट में काफी समझदारी से खेलते हैं। हालांकि कुछ खराब प्रदर्शन के कारण वो सीमित ओवरों के प्रारूप में अपनी जगह गंवा चुके हैं।

2017-2018 में 20 टेस्ट मैचों में अश्विन ने 87 विकेट झटके हैं। वनडे में कुलदीप यादव और चहल के अच्छे प्रदर्शन के कारण 33 साल के अश्विन को टीम से बाहरा का रास्ता भी देखना पड़ा है। ऐसे में माना जा रहा है कि तीन-चार साल बाद जब भारत फिर से ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाएगा तो टीम में अश्विन शामिल न हों।

यह भी पढ़ें: आईपीएल 2019: 5 खिलाड़ी जो नीलामी में सबसे महंगे बिक सकते हैं

#3 पार्थिव पटेल

Parthiv Patel

2002 में जब पार्थिव ने डेब्यू किया था तो वो सबसे कम उम्र के विकेटकीपर बने। हालांकि, स्टंप के पीछे खराब प्रदर्शन करने के कारण और एमएस धोनी की अच्छी परफॉर्मेंस के चलते 2004 में उन्हे कुछ मैचों में शामिल नहीं किया गया। तभी से पार्थिव की जगह टीम में फिक्स नहीं हैं। टीम में उनकी जगह अंदर-बाहर की बनी रहती है।

वहीं अब ऋषभ पंत को कीपर के तौर पर एक अच्छा खिलाड़ी माना जा रहा है। इसके चलते वो लंबे फॉर्मेट के मैचों में स्टंप के पीछे दिखाई देते हैं। ऐसे में चार साल बाद अगले ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान पार्थिव शायद ही शामिल हो सकें। इससे पहले जब पार्थिव 2004 में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गए थे तो 32 की औसत से चार टेस्ट मैचों में 160 रन बनाए थे।

यह भी पढ़ें: वनडे क्रिकेट में ये 3 धाकड़ बल्लेबाज बना सकते हैं 'तिहरा शतक'

#2 दिनेश कार्तिक

Dinesh Karthik

दिनेश कार्तिक ने करीब 14 साल पहले अपना इंटरनेशनल डेब्यू किया था। करीब डेढ़ दशक के करियर के दौरान कार्तिक ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कई मैच खेले हैं। इस ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान कार्तिक को टी20 सीरीज में शामिल किया गया है। वनडे इंटरनेशल में कई बार दिनेश कार्तिक को चेक किया गया लेकिन वो खराब प्रदर्शन के कारण अपनी जगह पक्की नहीं कर पाए।

कार्तिक की जगह अंबाती रायडू को शामिल कर लिया गया था। वहीं अब ऋषभ पंत अपना नाम टीम में पक्का कराने के करीब हैं। ऐसे में अगले ऑस्ट्रेलिया दौरे में कार्तिक शायद ही टीम में हों। कार्तिक ने अभी तक 24 टेस्ट मैचों में 1025 रन बनाए हैं और 84 वनडे में 1663 रन बनाए हैं। वहीं 22 टी20 में 300 रन स्कोर किए हैं।

यह भी पढ़ें: 5 क्रिकेटर जो वनडे में लंबे करियर के बाद भी अब तक टिके हुए हैं

#1 एमएस धोनी

MS Dhoni

भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पिछले कुछ समय से अपने खराब प्रदर्शन को लेकर काफी आलोचनाओं का सामना कर रहे हैं। 2018 में धोनी ने 13 इनिंग्स में 25 की औसत से 272 रन ही स्कोर किए है। इनमें उन्होंने सबसे ज्यादा रन (42 पर नबाद) दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बनाए थे।

2014-2015 ऑस्ट्रेलिया दौरे में भारत ने खराब प्रदर्शन किया था। वहीं धोनी का ये आखिरी ऑस्ट्रेलिया दौरा हो सकता है क्योंकि माना जा रहा है कि वर्ल्ड कप 2019 के बाद धोनी अपने संन्यास का ऐलान कर सकते हैं।

धोनी ने अभी तक 90 टेस्ट, 332 वनडे और 93 टी20 खेलते हुए 16000 रन बनाए हैं। धोनी वनडे में 10,000 रनों का आंकड़ा भी पार कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें: 3 भुला दिए गए भारतीय क्रिकेटर जो वर्ल्ड कप के लिए टीम का बैकअप बन सकते हैं

लेखक: प्रसाद मंदाति

अनुवादक: हिमांशु कोठारी

Quick Links

Edited by सावन गुप्ता
Be the first one to comment