COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

क्रिकेट न्यूज: दिनभर की बड़ी खबरें- 23 दिसंबर 2018

SENIOR ANALYST
न्यूज़
4.15K   //    23 Dec 2018, 22:12 IST

Enter caption



AUS v IND: ऑस्ट्रेलिया ने अपनी टीम में 7 साल के बच्चे को किया शामिल, कहा विराट कोहली को करुंगा आउट

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीसरा टेस्ट मैच 26 दिसंबर से मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में खेला जाएगा। भारत के खिलाफ इस मुकाबले के लिए ऑस्ट्रेलिया ने अपनी टीम में सिर्फ 7 साल के लेग स्पिन गेंदबाज आर्ची चिलर को टीम में शामिल किया है।  इस महीने की शुरुआत में ऑस्ट्रेलिया ने एलान किया था की आर्ची भारत के खिलाफ होने वाली सीरीज में टेस्ट टीम का हिस्सा बनेगा। इससे पहले चिलर ने ऐडिलेड में पहले टेस्ट से पहले ऑस्ट्रेलिया के साथ प्रैक्टिस की थी और ये पहले ही तय हो गया था कि आर्ची तीसरे टेस्ट के लिए टीम का हिस्सा होंगे। इस खबर की घोषणा ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने की थी। 


रणजी ट्रॉफी 2018-19, सातवां राउंड: दूसरे दिन का राउंड अप

रणजी ट्रॉफी 2018-19 में आज से सातवें राउंड का आज दूसरा दिन था। दूसरे दिन जम्मू-कश्मीर के लिए इरफान पठान, विदर्भ के लिए वसीम जाफर और हरियाणा के लिए युजवेंद्र चहल ने अच्छी गेंदबाजी करते हुए 3 विकेट चटकाए। इसके अलावा पंजाब के युवा बल्लेबाज अनमोलप्रीत सिंह अपने शतक से चूक गए और 85 रन बनाकर आउट हुए। विदर्भ के लिए दिग्गज बल्लेबाज वसीम जाफर ने 126 रनों की शानदार पारी खेली और 55वां प्रथम श्रेणी शतक जड़ा। मणिपुर ने दूसरे ही दिन शानदार जीत करते हुए अरुणाचल प्रदेश को 112 रनों से शिकस्त दी।


नो बॉल के गलत निर्णय की वजह 8 मिनट तक रुका रहा बांग्लादेश और वेस्टइंडीज का टी20 मैच

शनिवार को बांग्लादेश और वेस्टइंडीज के बीच खेली गई टी-20 सीरीज के आखिरी मैच में नो-बॉल की वजह से आठ मिनट तक बाधा उत्पन्न हुई। मैदान पर मौजूद अंपायर तनवीर अहमद की एक गलती के कारण खिलाड़ी और अंपायर के बीच करीब आठ मिनट तक बहस चलती रही। दरअसल, ओशेन थॉमस की गेंद पर लिटन दास का कैच शरफेन रदरफोर्ड ने पक़ड़ा जिसे अंपायर ने नो बॉल करार दिया। रीप्ले देखने पर पता चला कि यह गेंद नो बॉल नहीं थी। इससे पहले वाली गेंद भी अंपायर ने नो बॉल करार दे दी थी लेकिन वो भी नो बॉल नहीं थी। अब लगातर 2 गलत नो बॉल दिए जाने की वजह से वेस्टइंडीज के कप्तान कार्लोस ब्रैथवेट नाराज हो गए।


AUS v IND: पर्थ टेस्ट मैच में रविंद्र जडेजा के नहीं खेलने की वजह आई सामने

रविवार को मेलबर्न में पत्रकारों से बातचीत में शास्त्री ने कहा कि रविंद्र जडेजा के साथ दिक्कत ये हुई कि ऑस्ट्रेलिया आने के बाद उन्हें एक इंजेक्शन की जरूरत पड़ी। उसकी वजह से उन्हें पूरी तरह से ठीक होने में कुछ समय लग गया। पर्थ टेस्ट में हमें लगा कि वो 70-80 प्रतिशत ही फिट हैं और वहां पर उनको खिलाकर हम कोई खतरा मोल नहीं लेना चाहते थे। शास्त्री ने कहा कि अगर वो मेलबर्न में 80 प्रतिशत भी फिट रहे तो वो यहां खेलेंगे। गौरतलब है पर्थ टेस्ट मैच में भारतीय टीम को 146 रनों से करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा था। इस जीत के साथ ही ऑस्ट्रेलिया ने सीरीज में 1-1 की बराबरी कर ली थी।


क्या नो बॉल के लिए भी रिव्यू सिस्टम होना चाहिए ?

क्रिकेट में अगर किसी बल्लेबाज को आउट दिया जाता है और उसे लगता है कि वो आउट नहीं है तो फिर वो डीआरएस यानि डिसीजन रिव्यू सिस्टम का प्रयोग कर सकता है। इसके बाद थर्ड अंपायर रीप्ले में देखकर अंतिम फैसला लेते हैं। डीआरएस का प्रयोग ज्यादातर एलबीडब्ल्यू के संदर्भ में होता है। यही अधिकार फील्डिंग करने वाली टीम को भी होता है कि अंपायर अगर किसी बल्लेबाज को नॉट आउट करार देता है और फील्डिंग करने वाली टीम को लगता है कि बल्लेबाज आउट है तो वो रिव्यू ले सकते हैं। लेकिन क्या नो बॉल के लिए भी रिव्यू सिस्टम होना चाहिए।

Get Cricket News In Hindi Here



Advertisement
Topics you might be interested in:
SENIOR ANALYST
Advertisement
Fetching more content...