Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

विश्व कप 2019: मार्टिन गप्टिल के ओवर-थ्रो पर विवादित निर्णय की समीक्षा करेगा एमसीसी

ANALYST
न्यूज़
Published 13 Aug 2019, 19:46 IST
13 Aug 2019, 19:46 IST

मार्टिन गप्टिल 
मार्टिन गप्टिल 

विश्व कप 2019 फ़ाइनल इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया था, जिसमें मार्टिन गप्टिल का थ्रो बेन स्टोक्स के बल्ले से लगकर बॉउंड्री पार चला गया था और इसके बाद अम्पायर कुमार धर्मसेना ने इंग्लैंड के खाते में 6 रन जोड़ने का निर्णय दिया था। बाद में मैच टाई हो गया, और सुपर ओवर के भी टाई होने की वजह से इंग्लैंड को ज्यादा बाउंड्री लगाने के आधार पर विजेता घोषित कर दिया गया था।

यह भी पढ़े: बीसीसीआई द्वारा भारतीय टीम का मुख्य कोच बनने के लिए चुने गए 6 उम्मीदवार

हालांकि सोमवार को मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) ने कहा कि इस ओवरथ्रो की समीक्षा सितम्बर में की जाएगी। एमसीसी ने अपने बयान में कहा कि, "वर्ल्ड क्रिकेट कमेटी ने पुरूषों के आईसीसी वर्ल्ड कप के फाइनल के ओवरथ्रो को लेकर नियम 19.8 के बारे में बात की है। उनका मानना है कि नियम स्पष्ट है, लेकिन सितंबर में इस मामले की पूरी समीक्षा की जाएगी।" 

गौरतलब है कि विश्व कप 2019 के फ़ाइनल में इंग्लैंड की टीम को न्यूजीलैंड ने 241 रनों का लक्ष्य दिया था, जिसके जवाब में इंग्लैंड को आखिरी की तीन गेंदों पर 9 रनों की जरूरत थी। बेन स्टोक्स दो रन लेने के लिए भाग रहे थे, तभी न्यूजीलैंड के फील्डर मार्टिन गप्टिल का थ्रो स्टोक्स के बल्ले से टकराकर बॉउंड्री के पार चला गया था। मैदान में उपस्थित दोनों अम्पायरों ने आपस में बात कर के इंग्लैंड की टीम को 6 रन दे दिए थे। इसके बाद क्रिकेट जगत में इस निर्णय को लेकर काफी विवाद हुआ था।

इस निर्णय पर आईसीसी के सर्वश्रेठ अम्पायरों में से एक रह चुके साइमन टॉफेल ने भी सवाल उठाये थे और कहा था कि इंग्लैंड को मात्र 5 रन मिलने चाहिए थे क्योंकि मार्टिन गप्टिल के थ्रो फेंकने से पहले बेन स्टोक्स ने दूसरे रन के लिए अपने साथी खिलाड़ी को क्रॉस नहीं किया था।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

Modified 21 Dec 2019, 00:09 IST
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...