नसों की कमजोरी का 6 आयुर्वेदिक उपचार- Naso Ki Kamjori Ka 6 Ayurvedic Upchar

नसों की कमजोरी का आयुर्वेदिक उपचार (फोटो-Sportskeeda hindi)
नसों की कमजोरी का आयुर्वेदिक उपचार (फोटो-Sportskeeda hindi)

नसों की कमजोरी (weak vein) की समस्या आजकल काफी आम समस्या बन गई है। नसों में कमजोरी के कई कारण हो सकते हैं। लेकिन नसों में कमजोरी की शिकायत होने पर लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए। क्योंकि नस कमजोर होने से आप कई गंभीर बीमारियों के शिकार हो सकते हैं। नसें हमारे शरीर में रक्त संचारित करती हैं। नसों का काम दिल तक खून पहुंचाने का होता है, जिससे हमें ऑक्सीजन मिलता है। इसलिए नसों की कमजोरी स्वास्थ्य के लिए काफी खतरनाक साबित हो सकती है। नसों की कमजोरी को दूर करने के लिए आप कुछ आयुर्वेदिक उपचारों को अपना सकते हैं। इन आयुर्वेदिक उपायों से नसों के कमजोरी की समस्या ठीक होने में काफी मदद मिलती है। आइए जानते हैं नसों की कमजोरी को दूर करने की क्या क्या आयुर्वेदिक उपाय है।

नसों की कमजोरी का 6 आयुर्वेदिक उपचार

अश्वगंधा का सेवन

अश्वगंधा (ashwagandha) एक आयुर्वेदिक औषधीय है, इसका सेवन स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। अश्वगंधा का सेवन करने से नसें मजबूत होती है। क्योंकि इसका सेवन करने से शरीर को ताकत मिलती है। जिससे नसों की कमजोरी दूर होती है। इसके लिए अश्वगंधा चूर्ण को दूध में मिलाकर सेवन करना चाहिए।

सरसों के तेल से मालिश

नसों की कमजोरी को दूर करने के लिए सरसों का तेल (mustard oil) काफी फायदेंमद माना जाता है। सरसों के तेल से नसों के दर्द की शिकायत भी दूर होती है। इसके लिए सरसों के तेल को गर्म कर के, हल्के हाथों से मालिश करनी चाहिए।

दूध में मिश्री और घी मिलाकर सेवन

नसों के कमजोरी की शिकायत होने पर दूध (Milk) का सेवन काफी फायदेमंद माना जाता है। लेकिन सिर्फ दूध का नहीं, बल्कि नसों में कमजोरी की शिकायत होने पर दूध में मिश्री और देसी घी मिलाकर सेवन करना चाहिए। इससे कमजोरी की शिकायत दूर होती है।

पुदीने के तेल से मालिश

पुदीने के तेल (Peppermint oil) से मालिश करने से भी नसों की कमजोरी दूर होती है। पुदीने के तेल से मालिश करने से दर्द और सूजन दोनों में भी आराम मिलता है।

हल्दी

नसों में कमजोरी की शिकायत होने पर हल्दी का सेवन भी काफी फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि हल्दी औषधीय गुणों से भरपूर होती है। इसके लिए हल्दी वाले दूध का सेवन करना चाहिए, हल्दी वाले दूध का सेवन करने से शरीर में एनर्जी भी बनी रहती है।

सेंधा नमक

नसों की कमजोरी को दूर करने के लिए सेंधा नमक (rock salt) काफी लाभदायक साबित होता है। क्योंकि सेंधा नमक में मैग्नीशियम और सल्फेट पाया जाता है, इसलिए अगर किसी को कमजोर नसों की शिकायत है, तो उसे पानी में सेंधा नमक मिलाकर नहाना चाहिए।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Rakshita Srivastava
App download animated image Get the free App now