अनुलोम विलोम के फायदे: Alom Vilom ke Fayde

फोटो- desi health club
फोटो- desi health club

आजकल के लोग अपनी हेल्थ और फिटनेस को लेकर ज्‍यादा जागरूक रहते है। इसलिए वह खुद को फिट रखने के लिए तरह-तरह के उपायों की खोज करती रहती हैं। अगर आप भी अफने आपको फिट रखने के तरीके की खोज कर रही हैं तो आप अनुलोम-विलोम को अपने फिटनेस रूटीन में शामिल कर सकते हैं। अनुलोम विलोम प्राणायाम एक बहुत ही महत्वपूर्ण योगासन है जो शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

ये भी पढ़ें: भूख बढ़ाने के उपाय: Bhukh Badhane ke Upay

शरीर को बीमारियों से दूर रखने के लिए इस योगासन को रोजाना 10 मिनट करना चाहिए। सबसे अच्‍छी बात इसे करना बहुत ही आसान है और यह सभी उम्र के लोग आसानी से कर सकते हैं। इस आसन को करने से सांस लेने की क्रिया में सुधार होता है, वजन कम होता है और चेहरे पर ग्‍लो आता है। जानते हैं अनुलोम विलोम प्राणायाम करने का तरीका और इसके फायदे।

अनुलोम-विलोम करने का तरीका -

अनुलोम विलोम प्राणायाम करने के लिए सबसे पहले एक शांत जगह पर बैठ जाए।

फिर अपने दाएं हाथ के अंगूठे से अपनी दाएं नाक को बंद करें।

और फिर बाई तरफ की नाक से सांस अंदर की ओर लें।

अब अंगूठे के साथ वाली उंगुलियों से बाई नाक को बंद कर दें।

उसके बाद दाहिनी नाक से अंगूठे को हटा दें और दाई नाक से सांस को बाहर छोड़े।

इसी तरह इस प्राणायाम को 5 से 15 मिनट तक रोजाना करें।

लेकिन शुरुआत 5 मिनट से ही करें।

ये भी पढ़ें: पेट कम करने की एक्सरसाइज: Pet Kam Karne Ki Exercise

अनुलोम विलोम करने के फायदे -

आपके रोजमर्रा के तनाव को कम करता है और इसे सुबह करने से आप पूरा दिन एनर्जी से भरपूर रहती हैं।

आंखों की रोशनी बढ़ाती है।

ब्‍लड सर्कुलेशन ठीक रखता है।

ब्रेन और लंग्‍स को मजबूती मिलती है।

अनिद्रा की समस्‍या दूर होती है।

हार्ट हेल्‍दी रहता है।

कोल्‍ड, कफ और अस्‍थमा जैसी समस्‍याओं को काफी हद तक दूर करता है।

बॉडी को डिटॉक्‍स भी करता है, जिससे चेहरे पर ग्‍लो आता है और ये बढ़ती उम्र को भी थाम लेता है।

डिप्रेशन दूर करके फोकस बढ़ाता है।

इसे रोजाना करने से आपकी इम्‍यूनिटी बढ़ती है। जिससे छोटी-मोटी बीमारियां आपसे कोसों दूर रहती हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

ये भी पढ़ें: छाती में गैस के लक्षण: Chaati Mein Gas Ke Lakshan

Edited by Naina Chauhan