Create

एंग्जायटी के घरेलू उपाय: Anxiety ke gharelu upaay

फोटो: MensXP
फोटो: MensXP
Amit Shukla

एंग्जायटी एक ऐसी परेशानी है जिससे हम सब दो चार होते रहे हैं और इससे कोई भी अछूता नहीं है। दरअसल मानसिक स्वास्थ्य एक ऐसी समस्या है जिसको लेकर अमूमन बात नहीं होती है और ना ही इसपर ध्यान दिया जाता है। ऐसे में कई लोगों को इस बात की खबर नहीं होती है कि उन्हें एंग्जायटी है।

ये भी पढ़ें: विटामिन B12 की कमी के लक्षण: Vitamin B12 ki kami ke lakshan

ऐसे कई लोग आपको सड़कों पर मिल जाएंगे जो अपनी सेहत और स्थिति के बावजूद इलाज नहीं करवा पाते हैं। ऐसे कई लोग एंग्जायटी के कारण मानसिक रोगी बन जाते हैं। ये ध्यान रखना जरूरी है कि इंसान का दिमाग ही उसकी सबसे बड़ी ताकत है और उसकी सबसे बड़ी कमजोरी भी।

ये भी पढ़ें: शरीर को ठंडक पहुंचाने वाले फल : Shareer ko thandak pahunchane wale fal

अगर दिमाग कंट्रोल में है तो हर परेशानी ठीक हो सकती है लेकिन अगर एंग्जायटी या इसके जैसी अन्य मानसिक बीमारियों ने आपके दिमाग पर असर कर रखा है तो आपको परेशानी का सामना करना पड़ता है। ये बात ध्यान रखें कि इस दुनिया में हर मुश्किल का हल है और अगर आप एंग्जायटी के कारण खुद का ध्यान रखना चाहते हैं तो आप इन आदतों को जीवन का हिस्सा बना सकते हैं।

ये भी पढ़ें: बॉडी की गर्मी का इलाज कैसे करें: Body ki garmi ka ilaj kaise kare?

एंग्जायटी के घरेलू उपाय

खुद को बनाएं बेहतर - ऐसे कई लोग होते हैं जो हमेशा बस ये मानते हैं कि उनके साथ कभी कुछ अच्छा नहीं हो सकता है। वो हमेशा खुद को कोसते हैं जबकि अगर आप खुद को बेहतर बनाते हैं तो आपको एंग्जायटी से आराम मिलेगा।

आज के बारे में सोचें - हम या तो गुजरे हुए या आनेवाले कल को लेकर चिंतित रहते हैं और दिक्कत ये है कि आप इन दोनों में नहीं होते हैं। आप आज में होते हैं, इस पल में होते हैं और इस पल को शायद ही कभी जीने का प्रयास किया जाता है। ये दुखद है लेकिन अगर आप इस पल में जीने की आदत ड़ाल लें तो सबकुछ बदल जाएगा।

मेडिटेशन को जिंदगी का हिस्सा बनाएं - मेडिटेशन को आपकी सेहत के लिए सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। अगर आपको कोई भी परेशानी है तो मेडिटेशन करने की आदत डालें। ऐसा करते ही आपको बहुत आराम मिलेगा क्योंकि एक्सरसाइज से सेहत और शरीर में होने वाले हर बुरे बदलाव को ठीक करने का मौका मिलता है।


Edited by Amit Shukla

Comments

Fetching more content...