बलगम का आयुर्वेदिक इलाज - Balgam Ka Ayurvedic Ilaaj

बलगम का आयुर्वेदिक इलाज (फोटो - sportskeedaहिंदी)
बलगम का आयुर्वेदिक इलाज (फोटो - sportskeedaहिंदी)

बलगम (Mucus) की समस्या से वायु मार्ग बंद हो सकता है जिस कारण सांस लेने में दिक्कत हो सकती है। कई मामलों में यह निमोनिया जैसी बीमारी भी हो सकता है। यदि कोई क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज और ब्रोन्किइक्टेसिस जैसे रोगों से पीड़ित हैं, तो फेफड़ों से बलगम को साफ करना बहुत जरूरी है। बलगम जमा होने पर आपको कुछ असहजता महसूस हो सकती है जैसे छाती में भारीपन, घरघराहट होना, गले में खराश और सांस का इंफेक्शन हो सकता है। इस लेख में बलगम के आयुर्वेदिक इलाज बताए गए हैं, आइये इन्हें जानें।

बलगम का आयुर्वेदिक इलाज

1. कच्ची हल्दी (Turmeric root)

बलगम की स्थिति में कच्ची हल्दी जरूरी है। हल्दी में करक्यूमिन होता है जो बलगम को गलाने में मददगार होता है। इसमें मौजूद एंटी-बैक्टीरियल गुण और एंटी-वायरल गुण के कारण यह सर्दी-जुकाम में भी उपयोगी है। कच्ची हल्दी के रस की 3-4 बूंदो का सेवन करें। या फिर हल्दी के रस को गर्म पानी में मिलाकर गरारे करें।

2. शहद और गर्म पानी (Warm water and honey)

शहद और गर्म पानी दोनों ही बलगम की स्थिति में फायदेमंद होते हैं। खांसी में राहत पाने के लिए शहद प्रभावी होता है और छाती में जमा बलगम में गर्म पानी में शहद मिलाकर पीने से आराम मिल सकता है।

3. नीलगिरी (Eucalyptus oil)

आमतौर पर नीलगिरी का इस्तेमाल खांसी से निजात पाने के लिए किया जाता है। यह बलगम वाली खांसी में और जमे बलगम को बाहर निकालने में मददगार होता है। उपयोग के लिए - नीलगिरी का तेल सीधा छाती पर लगाएं। यह जमा हुआ कफ साफ़ करने में उपयोगी है। आप इसे गर्म पानी मिलाकर स्नान भी कर सकते हैं।

4. स्टीम लें (Steam)

गर्म पानी की भाप लेना फायदेमंद माना जाता है। एक बर्तन में पानी गर्म करें, उस गर्म पानी से चेहरे पर भाप लें। इसके लिए अपने सिर को तौलिये से ढक लें और भाप को सांस के माध्यम से अंदर जाने दें। भाप बलगम को पिघलाने में और बाहर निकालने में मददगार होती है।

5. गरारे करें (Gargle)

गर्म पानी से गरारे करने से भी छाती में सेक लगती है और जमा हुआ बलगम पिघलता है। आप पानी गर्म करके एक चुटकी नमक डाल सकते हैं और फिर इससे गरारे करें।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
App download animated image Get the free App now