Create
Notifications

एसिडिटी का आयुर्वेदिक उपचार- acidity ka ayurvedic upchar

एसिडिटी का बेहतरीन आयुर्वेदिक उपचार
एसिडिटी का बेहतरीन आयुर्वेदिक उपचार
Ritu Raj
visit

Ayurvedic Treatment of Acidity in hindi: ज्यादा देर तक खाली पेट रहने पर या फिर तला भुना खाने के बाद खट्टी डकार और पेट में गैस आदि की समस्या बनने लगती है। ये ऐसी समस्या है जिससे कोई भी नहीं बच सकता है। एक न एक बार जरूर ये समस्या हुई होगी। एसिडिटी होने पर पेट में दर्द, खट्टी डकार, सीने में जलन जैसी कई और परेशानी होने लगती है। ऐसे में इस परेशानी को दूर करने के लिए हम कुछ आयुर्वेदिक उपचार को अपना सकते हैं।

एसिडिटी का आयुर्वेदिक उपचार- acidity ka ayurvedic upchar in hindi

आंवला (Amla is a panacea for acidity)

आंवला एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होता है जो हमारे पाचन के लिए बेहद ही लाभकारी होते हैं। यह आयुर्वेदिक उपाय पित्त (एसिडिटी) को कम करने में मदद करता है। एसिडिटी होने पर आंवले का जूस पीना लाभकारी साबित हो सकता है।

हरीतकी (Acidity will end with haritaki)

एसिडिटी की समस्या को खत्म करने के लिए हरीतकी को काफी प्रभावी माना गया है। इसमें कई सारे ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो इस समस्या को खत्म करने में मदद करते हैं। इसके लिए रोज सुबह खाली पेट हरीतकी का सेवन करना चाहिए।

अंजीर (figs remove acidity problem)

सिर्फ एसिडिटी ही नहीं बल्कि, पेट से जुड़ी कई सारी अन्य समस्याओं को भी दूर करने में अंजीर बेहद ही फायदेमंद मानी गई है। इसमें इतने सारे पोषक तत्व पाए गए हैं जो हमारे शरीर के लिए बेहद ही फायदेमंद होते हैं। अंजीर में विटामिन ए, सी, के पोटेशियम, मैग्नीशियम, कॉपर, जिंक, आयरन के अलावा भी कई सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं। एसिडिटी को दूर करने के लिए 2 सूखे अंजीर को रात में भिगो दें और सुबह इस पानी को पी जाए और साथ ही दोनों अंजीरों को अच्छे से चबाकर खा लें।

अजवाइन (Ajwain is beneficial for acidity)

भारतीय घरों में अजवाइन खाना बनाने के साथ ही कई सारी समस्याओं को दूर करने के लिए इस्तेमाल की जाती है। खासकर ठंड के मौसम में इसका खूब इस्तेमाल किया जाता है। एसिडिटी की समस्या होने पर आधा चम्मच अजवाइन में एक चुटकी नमक मिलाकर गर्म पानी के साथ सेवन करने से आराम मिलता है।

दालचीनी (Use cinnamon like this in acidity)

आयुर्वेद दालचीनी को कमाल की जड़ी-बूटी बताता है। इसके जरिए दिमाग तक तेज किया जा सकता है साथ ही कई सारी और समस्याएं दूर हो सकती हैं। एसिडिटी को दूर करने के लिए चुटकी भर से ज्यादा दालचीनी का सेवन करने से लाभ मिलता है। साथ ही ये पाचन शक्ति को मजबूत बनाने में भी मदद करता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Ritu Raj
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now