Create

गैस का आयुर्वेदिक उपचार - Gas ka Ayurvedic Upchar

ये है गैस का बेहतरीन आयुर्वेदिक उपचार
ये है गैस का बेहतरीन आयुर्वेदिक उपचार

Ayurvedic Treatment for Gas in hindi: पेट में गैस की समस्या कई लोगों को अक्सर बनी रहती है। इसका कई कारण हो सकता है। कभी-कभी जब हम अत्यधिक भोजन कर लेते हैं तो भी पेट में गैस बनने लगती है। साथ ही बैक्टीरिया का भी जब पेट में ज्यादा उत्पादन होता है तो गैस की समस्या हो जाती है। इसके साथ ही भोजन करने वक्त बातें करने से हमेशा मना किया जाता है और भोजन को चबा-चबा कर खाने के लिए कहा जाता है। ऐसा नहीं करने से भी गैस की समस्या हो जाती है। पेट की गैस की समस्या के कुछ आयुर्वेदिक उपचार हैं जिनको अपना कर आप राहत पा सकते हैं।

क्यों बनती है पेट में गैस |Why is gas formed in the stomach?

सबसे पहले हम ये जान लें कि, पेट में गैस की समस्या कैसे बनती है। गैस आपके पाचन तंत्र में दो तरह से जमा हो सकती है। खाते या पीते समय आप उस हवा को निगल जाते हैं जिससे ऑक्सीजन और नाइट्रोजन आपके शरीर में प्रवेश करती है। दूसरा और अधिक महत्वपूर्ण कारण यह है कि जब अपना भोजन पचाता हैं तो, हाइड्रोजन, मीथेन या कार्बन डाइऑक्साइड जैसी गैसें उत्सर्जित होती हैं और आपके पेट में जमा हो जाती हैं। ऐसे में अगर ये बाहर नहीं निकलती या फिर इनकी अधिक मात्रा हो जाने पर गैस की समस्या शुरू हो जाती है।

ये है गैस का बेहतरीन आयुर्वेदिक उपचार

अजवाइन से करें गैस का इलाज (Ajwain se door hogi pet ki gas)

अजवाइन के बीज में थाइमोल नामक एक यौगिक होता है जो गैस की समस्या को दूर करने में कारगर है। इसके साथ ही अजवाइन पाचन क्रिया को दुरुस्त कर एसिडिटी से निजात दिलाने में भी मदद करता है। गैस की समस्या को दूर करने के लिए दिन में एक बार पानी के साथ आधा चम्मच अजवाइन के सेवन से लाभ मिल सकता है। या फिर गर्म पानी के साथ भी इसका सेवन कर सकते हैं।

जीरा पानी (drinking cumin water Stomach gas)

गैस की समस्या को ठीक करने के लिए जीरा को सबसे अच्छा घरेलू उपचारों में से एक माना गया है। जीरा में आवश्यक तेल होते हैं जो लार ग्रंथियों को उत्तेजित करते हैं। ये भोजन को पचाने में मदद करते हैं और अतिरिक्त गैस को बनने से रोकते हैं। इसके लिए एक चम्मच जीरा को दो कप पानी में 10-15 मिनट तक उबालें और भोजन करने के बाद ठंडा कर इस पानी में से जीरा निकाल पर पानी को पी जाएं।

हींग (Asafoetida will remove gas problem)

हींग एक एंटी-फ्लैटुलेंट के रूप में कार्य करता है जो आंत बैक्टीरिया के विकास को रोकता है ये आपके पेट में अतिरिक्त गैस पैदा कर सकता है। आयुर्वेद के अनुसार हींग शरीर के वात दोष को संतुलित करने में मदद करती है। गैस की समस्या होने पर थोड़े से हींग को गुनगुने पानी में मिलाकर पीए। इससे बहुत जल्द आराम मिल सकता है।

अदरक (Ginger is Ayurvedic treatment for gas)

पेट की गैस को दूर करने के लिए अदरक भी सबसे बेस्ट घरेलू उपचार में से एक है। अदरक एक प्राकृतिक कार्मिनेटिव (पेट फूलने वाले एजेंट) के रूप में कार्य करता है। गैस हो जाने पर भोजन के बाद लगभग एक चम्मच ताजा अदरक को एक चम्मच नींबू के रस में मिला कर सेवन करने से काफी आराम मिलता है। इसके साथ ही आप चाहे तो अदरक का चाय भी पी सकते हैं।

त्रिफला (Triphala removes stomach problem)

हर्बल पाउडर त्रिफला एक आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है जो कई सारी समस्याओं में इस्तेमाल की जाती है। पेट में गैस की समस्या में भी यह कारगर है। इससे छुटकारा पाने के लिए आधा चम्मच त्रिफला को पानी में उबाल लें और सोने से पहले इस पानी को पी जाएं। इससे काफी आराम मिल सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Ritu Raj
Be the first one to comment