Create

ब्राह्मी के फायदे: Brahmi ke Fayde

फोटो- patrika
फोटो- patrika

दुनिया भर में कई प्रकार की जड़ी-बूटियां पाई जाती हैं, जिसमें से एक ब्राह्मी भी है। ब्राह्मी एक ऐसे पौधा है जिसके पत्ते, फूल, फल, बीज और जड़ का औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। यह मस्तिष्क के लिए बेहद उपयोगी है, इसलिए इसे ब्रेन बूस्टर के नाम से भी जाना जाता है। लेकिन ब्राह्मी में कई और भी महत्वपूर्ण गुण होते हैं, जिनसे सेवन से शरीर की अनेक समस्याओं का इलाज संभव है। जानते हैं ब्राह्मी से क्या लाभ होता है।

इसे भी पढ़ें: दूध और चना खाने के फायदे: Doodh Aur Chana Khane Ke Fayde

ब्राह्मी के फायदे-

खून के प्रवाह को बढ़ाने में मददगार- ब्राह्मी के इस्तेमाल से खून को पतला करने में मदद मिलती है, जिससे नसों में रक्त का प्रवाह आसानी से हो सकता है। इसके साथ ही इससे बीपी के खतरे को भी कम किया जा सकता है।

तनाव को कम करता है- आज के समय में लोगों में तनाव की बहुत समस्या है। हर दूसरा व्यक्ति तनाव में रहता है जिसकी वजह से कई बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इसके लिए ब्राह्मी का इस्तेमाल फायदेमंद है। इसे एक एडाप्टोजेन जड़ी-बूटी माना जाता है।

कैंसर में गुणकारी- अगर कोई ब्राह्मी का उपयोग करता है तो इसमें कैंसर प्रतिरोधी गुण होते हैं जो मस्तिष्क के ट्यूमर की कोशिकाओं को मारने के साथ साथ स्तन कैंसर और कोलन कैंसर की हानिकारक कोशिकाओं के विकास को रोकने में मदद करती है, इसलिए यदि कैंसर की शुरुआती स्टेज पर हों, तो ब्राह्मी का नियमित सेवन करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: पैर की सूजन का इलाज: Pairo ke Sujan Ka Ilaj

मिर्गी की बीमारी में फायदेमंद- ब्राह्मी की जड़ी बूटियों से शरीर की नसों को मजबूत किया जा सकता है। वहीं अगर किसी को मिर्गी आती है, तो इसके लिए एक आयुर्वेदिक दवा मेंटट का इस्तेमाल किया जाता है, जिसमें ब्राह्मी भी उपयोग की जाती है। मेंटट में एंटीपीलेप्टिक गुण होते हैं, जिससे मिर्गी की बीमारी ठीक हो जाती है।

डायबिटीज मरीजों को होता है फायदा- डायबिटीज के मरीजों को अपनी सेहत का खास ध्यान रखना जरूरी है। क्योंकि इसकी वजह से दिल की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है। अगर ब्राह्मी का नियमित सेवन करते हैं को इससे डायबिटीज को नियंत्रित किया जा सकता है। क्योंकि ब्राह्मी में एंटीडायबिटिक गुण होते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

इसे भी पढ़ें: गुड़हल के फूल के फायदे: Gudhal ke Phool ke Fayde

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment