Create

गुड़हल के फूल के फायदे: Gudhal ke Phool ke Fayde

फोटो- wikimedia
फोटो- wikimedia

हम सबने घर के आस पास पार्क में, घर के आंगन में या सड़क के किनारे गुड़हल के खूबसूरत फूल देखें होगें। यह फूल कई रंगों में होते हैं जैसे लाल, गुलाबी, पीले और सफेद। गुड़हल का पौधा वैसे तो एक आम सा पौधा होता है। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि यह फूल न केवल दिखने में खूबसूरत होता है, बल्कि यह आपकी सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। गुड़हल का फूल काफी लाभकारी होता है, क्योंकि इस फूल में विटामिन सी, मिनरल, आयरन, फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट आदि भरपूर मात्रा में होते है।

इसे भी पढ़ें: पैर की सूजन का इलाज: Pairo ke Sujan Ka Ilaj

इस फूल के इस्तेमाल से सांस संबंधी तकलीफों को दूर करने के साथ-साथ गले की समस्या जैसे कोल्‍ड कफ को भी ठीक किया जा सकता है। वहीं अगर गुड़हल को गरम पानी के साथ या फिर हर्बल टी की तरह इस्तेमाल किया जाए तो यह हाई ब्लड प्रेशर को कम करता है और बढे हुए कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद, क्योंकि इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते है। इस फूल के इस्तेमाल से बालों और त्वचा को भी खूबसूरत बनाया जा सकता है। जानते हैं गुड़हल के फूल के अन्य फायदे।

गुड़हल के फूल के लाभ-

मोटापा कम करने के लिए- अगर आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो इसके लिए गुड़हल की चाय का सेवन करें। इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। जो वजन को कम करने में मदद करता है।

पीरियड्स में फायदेमंद- अगर किसी महिला को पीरियड्स की समस्या रहती है तो उसके पीछे का कारण शरीर में एस्‍ट्रोजन का स्तर कम होने की वजह हो सकता है। जिसकी वजह से हार्मोन्‍स का संतुलन खराब हो जाता है। ऐसे में गुड़हल की पत्तियों की चाय पीना काफी फायदेमंद होता है।

ये भी पढ़ें: मुल्तानी मिट्टी और शहद के फायदे: multani mitti aur shahad ke fayde

डायबिटीज के लिए फायदेमंद- जिन लोगों को डायबिटीज की बीमारी है, उन लोगों को गुड़हल की पत्तियों का सेवन करना लाभकारी होता है।

कैसे बनाएं गुड़हल के फूल की चाय -

गुड़हल के फूल की चाय बनाने के लिए सबसे पहले 1/2 कप पानी लें और उसमें गुड़हल के फूल डालकर उबालें। जब पानी आधा रह जाए तो गैस बंद कर दीजिए। अब इसमें अपने हिसाब से शहद, काला नमक औऱ चुटकी भर काली मिर्च डालकर मिला लें।

इसे भी पढ़ें: बाजरे की रोटी के फायदे और नुकसान: Bajre ki Roti Ke Fayde Aur Nuksan

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment