Create

गले की एलर्जी का घरेलू उपचार: Gale Ki Allergy Ka Gharelu Upchaar

फोटो: Lokmat News Hindi
फोटो: Lokmat News Hindi
Amit Shukla

गले में कोई भी परेशानी घातक हो सकती है। इसमें मुँह के कैंसर से लेकर मुँहे जिन्हें अंग्रेजी में माउथ अल्सर्स या मुँह के छाले भी कहा जाता है शामिल हैं। गले में सिर्फ मुँह से लेकर खाने की नली ही शामिल नहीं है बल्कि वो गिल्टी भी है जो आपके शरीर में एक अहम भूमिका निभाती है। इसका होना भी बेहद जरूरी है।

ये भी पढ़ें: विटामिन ए की कमी से कौन सा रोग होता है: Vitamin A Ki Kami Se Kaun Sa Rog Hota Hai

गले में दिक्कत के कारण कई बार खाना पीना भी मुहाल हो जाता है। ऐसे कई लोग हैं जो टॉन्सिल्स या कुछ अन्य कारणों से भोजन को खा नहीं सकते हैं और उन्हें लिक्विड खाना खाने की सलाह दी जाती है। इसलिए अपनी सेहत का ध्यान हमेशा रखें और कोई भी ऐसी परेशानी ना खड़ी करें ना होने दें जिससे आपको दिक्कत हो।

गला आपके शरीर में चीजों को खाने के बाद निगलने के लिए इस्तेमाल होता है और इसके अलावा ये आपके शरीर की सेहत को भी दर्शाता है। गले की सेहत अगर ठीक है तो आप एकदम फिट हैं वरना दिक्कत हो सकती है। आइए आपको बताते हैं वो तरीके जिनसे आप इस परेशानी को खत्म कर सकते हैं।

गले की एलर्जी का घरेलू उपचार

मुलेठी

मुलेठी को सिर्फ चाय में नहीं इस्तेमाल किया जाता है। इसका इस्तेमाल आप गले में एलर्जी के दौरान भी कर सकते हैं। एलर्जी होने का अर्थ है कि किसी चीज का प्रभाव बदल गया है। ऐसे में आप मुलेठी को पानी में डालकर उसका गरारा कर सकते हैं। इससे आपको काफी लाभ होगा जो एक अच्छी बात है।

ये भी पढ़ें: गर्म पानी में नींबू मिलाकर पीने के 3 फायदे: Garam Paani Mein Neembu Milakar Peene Ke 3 Fayde

दालचीनी

यहाँ ये बात स्पष्ट कर देना जरूरी है कि आप इसके पाउडर का इस्तेमाल ना करें। आप इसको बादाम के दूध में ड़ालें और इसका सेवन करें। आपके घर में मौजूद दालचीनी में एंटी ऑक्सीडेंट (Anti Oxidant) और एंटी बैक्टीरियल (Anti Bacterial) गुण होते हैं जो इसे गले की खराश के खिलाफ एक बड़ा कारगर उपाय बनाते हैं।

नमक

नमक का इस्तेमाल आपने अमूमन होते हुए देखा होगा। खाने के साथ साथ गले की एलर्जी को ठीक करने के लिए आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। नमक के पानी का गरारा बेहद अच्छी बात है और इससे कई प्रकार के जर्म्स को मारने में मदद मिलती है। इसलिए इसका इस्तेमाल आप कभी भी कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें: कच्चा पपीता खाने के 2 फायदे और 2 नुकसान: Kaccha Papita Khaane Ke 2 Fayde Aur 2 Nuksaan

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Amit Shukla

Comments

Fetching more content...