Create

गिलोय घनवटी कब खाना चाहिए: giloy vati kab khana chahiye

फोटो- 1 mg
फोटो- 1 mg

इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए गिलोय का इस्तेमाल किया जाता है। इतना ही नही इसका इस्तेमाल डेंगू, चिकनगुनिया, मलेरिया के साथ-साथ बैक्टीरियल इंफेक्शन दूर करने के लिए भी होता है। गिलोय के पत्तों का आकार पान के पत्तों से मिलता-जुलता होता है औऱ स्वाद में ये थोड़े कड़वे, कसैले और तीखे होते हैं। गिलोय पाचन संबंधी समस्याओं, डायबिटीज, हार्ट बर्न, पीलिया आदि से आराम दिलाने में भी लाभकारी है। अगर आपको गिलोय नहीं मिल रहे हैं तो आप बाजार से गिलोय घनवटी ले सकते हैं इसका सेवन आप दिन में दो बार एक-एक गोली कर सकते हैं।

गिलोय के फायदे-

ये भी पढ़ें: सुबह खाली पेट नीम की पत्ती खाने के फायदे: subah khali pet neem ki patti khane ke fayde

पाचन की समस्या- लोगों को आज कल अपच,कब्ज जैसी समस्या होती है। इन समस्या से छुटकारा पाने के लिए गिलोय का सेवन लाभकारी है। गिलोय का स्वाद थोड़ा कड़वा होता है इसलिए आप इसमें मिश्री मिला सकते हैं।

बुखार- गिलोय का काढ़ा व्यक्ति को कई बीमारियों से बचाता है। इसका सेवन खाली पेट करना चाहिए। इसे बनाने के लिए गिलोय की ताजी पत्तियों को मसलकर उसमें पानी डालकर रात भर रख दें। सुबह होने पर इस पानी को छानकर इसका सेवन करें। बुखार में राहत मिलेगी।

ये भी पढ़ें: इम्यूनिटी बढ़ाने के घरेलू उपाय: immunity badhane ke gharelu upay

इम्यूनिटी- गिलोय का इस्तेमाल इम्यूनिटी को मजबूत करने के लिए किया जाता है। ध्यान रहे इसका ज्यादा लाभ पाने के लिए इसे खाली पेट खाना चाहिए। गिलोय को आप किसी भी रुप में इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे चटनी, गोली, काढ़ा आदि।

ये भी पढ़ें: खाली पेट बेल का जूस पीने के फायदे: khali pet bel ka juice peene ke fayde

गिलोय इन लोगों को नहीं खाना चाहिए-

अगर किसी को डायबिटीज है और उनका शुगर लेवल लो रहता है तो उन लोगों को गिलोय का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि यह शुगर को और ज्यादा डाउन कर देती है। वहीं अगर कोई महिला मां बने वाली हैं तो उनके लिए गिलोय का सेवन नुकसानदायक होता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment