Create

तुलसी की बूंदों के 5 स्वास्थ्य लाभ - Tulsi ki bundo ke 5 swasthya labh

तुलसी की बूंदों के 5 स्वास्थ्य लाभ
तुलसी की बूंदों के 5 स्वास्थ्य लाभ
Ritu Raj

तुलसी सर्दी-खांसी से लेकर कई बड़ी बीमारियों में एक कारगर औषधि है। आयुर्वेद के लिए ये एक बेहतरीन औषधि है जिसके जरिए वो कई सारी समस्याओं से छुटकारा के लिए इस्तेमाल करता है। तुलसी का हर एक अंग औषधीय गुणों से भरपूर होता है। इसकी जड़, शाखाएं, पत्ती और बीज सभी फायदेमंद होते हैं। इसके जरिए यौन रोग से लेकर सर्दी-जुकाम, खांसी के साथ ही कई अन्य समस्याओं को दूर किया जा सकता है।

तुलसी की बूंदों के स्वास्थ्य लाभ

1- अनियमित पीरियड्स (irregular periods) कई महिलाओं को अनियमित पीरियड्स की समस्या होती है। ऐसे में तुलसी आपके काम आ सकता है। इसके लिए तुलसी के पत्तों के सेवन या फिर इसके पत्तों से कुछ बूंदों को एक गिलास में थोड़े पानी के साथ मिलाकर सेवन करने से भी ये समस्या दूर होती है। साथ ही तुलसी के बीज भी इसमें काफी असरकारी माने गए हैं।

2- सर्दी-खांसी (cold cough) तुलसी सर्दी-खांसी की समस्या से छुटकारा दिलाने में सबसे बेस्ट है। इसके पत्तों को पानी में उबालकर काढ़ा पीने से काफी फायदा होता है। या फिर इसकी गोलियां बनाकर भी सेवन करने से लाभ मिलता है।

3- दस्त (Diarrhea) की समस्या में भी छुटकारा पाने के लिए तुलसी के पत्तों के रस का सेवन करना फायदेमंद होता है। इसके लिए तुलसी के पत्तों को जीरे के साथ मिलाकर पीस कर इसे दिन में 3-4 बार चाटे। इससे दस्त रुक सकती है।

4- सांस की दुर्गंध दूर करे (get rid of bad breath) तुलसी में कई ऐसे गुण होते हैं जो सांस की दुर्गंध को दूर करने में मदद करते हैं। इसके लिए नियमित रूप से तुलसी के कुछ पत्तों को चबाने से लाभ मिलता है।

5- यौन रोगों के लिए (for venereal diseases) जिन पुरुषों में शारीरिक कमजोरी की समस्या है उनके लिए तुलसी बेहद ही कारगर मानी गई है। इसके सेवन से यौन-दुर्बलता और नपुंसकता को खत्म किया जा सकता है। इसमें इसके बीच भी काफी लाभकारी माने गए हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Ritu Raj

Comments

Fetching more content...