Create

होम्योपैथिक अश्वगंधा के फायदे: Homeopathic Ashvagandha Ke Fayde

फोटो: Navbharat Times
फोटो: Navbharat Times

अश्वगंधा के फायदों के बारे में आपने सुना होगा। ऐसे कई लोग हैं जिन्हें आयुर्वेद पर विश्वास है तो वहीं कुछ लोगों को होमियोपैथ पर, और कुछ अन्य को एलोपैथ पर विश्वास है। चूँकि ये किसी का विश्वास है तो उसपर सवाल नहीं करना चाहिए क्योंकि विश्वास ही जीवन में हर चीज का संपूर्ण मूल है।

ये भी पढ़ें: शरीर पर लाल चकत्ते का घरेलू इलाज: Shareer Par Laal Chakatte Ka Gharelu Ilaaj

होमियोपैथी में भी अश्वगंधा का इस्तेमाल होता है। होमियोपैथी में ऐसा माना जाता है कि अश्वगंधा आपके शरीर में से अस्सी प्रतिशत चीजों का इलाज करने में सक्षम है। इसमें दोराय नहीं कि अश्वगंधा का इस्तेमाल करके आप अपनी सेहत को ठीक रख सकते हैं क्योंकि जब तक सेहत ठीक नहीं है तब तक कुछ भी ठीक नहीं है।

ऐसे में अगर आपके मन में अब भी होमियोपेथी में अश्वगंधा के इस्तेमाल या इसके फायदों को लेकर सवाल है तो इस आर्टिकल में आपको उसका जवाब प्राप्त हो जाएगा। इससे आप निश्चिंत होकर अश्वगंधा का सेवन कर सकेंगे और लोगों को भी इसके फायदों के बारे में बता सकेंगे जिससे उनका फायदा हो सके।

होम्योपैथिक अश्वगंधा के फायदे

कैंसर को रखे दूर

कैंसर सेल्स को उपजने और कीमोथेरेपी के साइड इफेक्ट्स को ठीक करने के लिए आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। कैंसर कितनी जानलेवा है ये किसी को अलग से बताने की जरूरत नहीं है। ऐसे में ये जरूरी है कि आप अपनी सेहत का ध्यान रखें ताकि आपको किसी भी प्रकार की परेशानी ना हो।

ये भी पढ़ें: खाली पेट लहसुन खाने के फायदे और नुकसान: Khaali Pet Lehsun Khaane Ke Fayde Aur Nuksaan

इम्यून सिस्टम को करे ठीक

इम्यून सिस्टम अगर सही है तो कोई चिंता नहीं है लेकिन अगर इम्यून सिस्टम में कोई दिक्कत है तो आपको बीमारियाँ आसानी से लग सकती हैं और आपको इसके कारण कई दुष्प्रभाव भी देखने को मिलेंगे। ऐसे में आप खुद को बीमार रखकर बिस्तर पकड़ना चाहेंगे या चुस्ती एवं फुर्ती के साथ दौड़ना चाहेंगे, ये आपको तय करना है।

मानसिक तनाव को करे कम और नींद हो अच्छी

नींद ना आने या खराब नींद से परेशान हैं। अगर इन दोनों में से किसी एक का भी जवाब हाँ है तो आपको इसका इस्तेमाल करना चाहिए। आपकी सेहत के लिए ये बेहद जरूरी है और नींद से ही आपकी चुस्ती फुर्ती एवं स्फूर्ति का अंदाजा लगाया जा सकता है। अपनी सेहत को खराब ना करें, ना होने दें, और इसलिए रिलैक्स रहकर आराम करें, और शरीर को सोने दें।

ये भी पढ़ें: सिर दर्द और आँखों में दर्द के कारण इन हिंदी: Sar Dard Aur Aankhon Mein Dard Ke Kaarn In Hindi

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Amit Shukla
Be the first one to comment