Create

सिर दर्द और आँखों में दर्द के कारण: Sar Dard Aur Aankhon Mein Dard Ke Kaarn

फोटो: Sarkaari Naukri Hindi
फोटो: Sarkaari Naukri Hindi
Amit Shukla

सर दर्द हो रहा है तो उसे कोई नॉर्मल परेशानी के तौर पर ही देखना चाहिए। इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं जिनमें सही नींद का ना होना, सफर के समय कानों का कवर ना होना या सफर में सर खुला रहना शामिल है। सर दर्द के लिए आप अमूमन कोई भी घरेलू नुस्खा करते हैं और फिट महसूस करते हैं।

ये भी पढ़ें: शरीर पर लाल चकत्ते का घरेलू इलाज: Shareer Par Laal Chakatte Ka Gharelu Ilaaj

वहीं अगर आपको सर दर्द के साथ साथ आँखों में भी दर्द हो रहा है और ये पीड़ा बढ़ती जा रही है तो इसे नकारे नहीं। ये एक छोटा सा दर्द कल बड़ी परेशानी का रूप ले सकता है और उस स्थिति में ये घातक हो सकता है। इंसान को अपनी सेहत को पल पल में ठीक रखने की जरूरत है ना कि किसी एक दिन या एक पल।

ऐसे में अगर सर दर्द हो रहा है और साथ ही आँखों में भी दर्द हो रहा है तो आपको अपनी सेहत को ठीक करने की जरूरत है। आप इसके लिए अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं या फिर इस आर्टिकल में बताए गए उपायों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे आपको काफी लाभ होगा जो एक अच्छी बात है।

सिर दर्द और आँखों में दर्द के कारण इन हिंदी

माइग्रेन

माइग्रेन में आपको ये दोनों परेशानियाँ हो सकती हैं। ऐसे में पहले तो माइग्रेन के कारणों को समझकर उनका इलाज करना जरूरी होगा। ऐसा करते ही आपको काफी अच्छा लगेगा और आप अपनी परेशानी को ठीक कर पाएंगे। आपकी सेहत के लिए सर का दर्द रोकना पहली प्राथमिकता होनी चाहिए।

ये भी पढ़ें: गले की एलर्जी का घरेलू उपचार: Gale Ki Allergy Ka Gharelu Upchaar

क्लस्टर हेडेक

आपने अब तक सिर्फ क्लस्टर बसों के बारे में सुना होगा लेकिन ऐसा नहीं है। क्लस्टर हेडेक में आपके शरीर के एक हिस्से में दर्द होता है और इसके साथ साथ आँखों में भी दर्द के साथ साथ लालिमा देखने को मिल सकती है। इसके साथ साथ कई अन्य लक्षण भी देखने को मिलते हैं लेकिन इसके इलाज के लिए आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं क्योंकि घरेलू उपाय इस स्थिति में काम नहीं आएँगे।

साइनस का दर्द

ये दर्द वैसे तो नाक में एक हड्डी में हुए बदलाव के कारण होना चाहिए लेकिन चूँकि हर तंत्र एक दूसरे से जुड़ा है और सबका मेन पॉइंट आपके दिमाग में है तो साइनस के दर्द में आपके सर में दर्द होता है जो आँखों के साथ साथ नाक पर भी प्रभाव ड़ालता है। अगर आप साइनस को ठीक करने की कोई दवा खा रहे हैं तो उसका सेवन करें अन्यथा डॉक्टर से संपर्क करें।

ये भी पढ़ें: एलर्जी वाली खांसी का इलाज: Allergy Wali Khaansi Ka Ilaaj

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Amit Shukla

Comments

Fetching more content...