Create
Notifications

हाइपर थायराइड के घरेलू उपचार: Hyper Thyroid Ke Gharelu Upchaar

फोटो: Patrika
फोटो: Patrika
Amit Shukla
visit

हाइपर थायराइड या हाइपरथायरॉइडिज्म एक ऐसी परेशानी है जो आपके शरीर में कई बदलाव लेकर आती है। इन बदलावों से इंसान के मन में घबराहट, स्वभाव में चिड़चिड़ापन होना शामिल है। ये पुरुषों एवं महिलाओं में हो सकता है लेकिन महिलाओं में इसके होने की संभावना अधिक है।

ये भी पढ़ें: खाली पेट लहसुन खाने के फायदे और नुकसान: Khaali Pet Lehsun Khaane Ke Fayde Aur Nuksaan

आप अगर हाइपर थायराइड या हाइपरथायरॉइडिज्म के मरीज हैं तो आपको पसीना ज्यादा आएगा। ऐसे लोगों को किसी भी समय और बेवजह भी पसीना आ सकता है। एसी के सामने होने पर भी ऐसे लोगों को पसीना आ सकता है और हाथ भी कांपने लग सकते हैं। ये महज कुछ लक्षण हैं जो इस बीमारी के कारण दिखाई देते हैं।

ऐसा नहीं है कि इसका इलाज नहीं है क्योंकि डॉक्टर के पास सर्जरी के माध्यम से इसका इलाज करने की क्षमता है लेकिन ऑपरेशन थियेटर तक पहुँचने वाली स्थिति ही क्यों बनाना जब आपका काम सिर्फ कुछ घरेलू उपायों से ही हो सकता है। इसको ध्यान में रखते हुए आइए एक नजर ड़ालते हैं उन चीजों पर जिनको करके आप हाइपर थायराइड या हाइपरथायरॉइडिज्म से बच सकते हैं।

हाइपर थायराइड के घरेलू उपचार

पोषक तत्व खाएं

जी हाँ, फास्ट फूड आपको फिट नहीं बनाएगा लेकिन पोषक तत्व आपकी सेहत को कई गुना बेहतर कर देंगे। आपका पेट ही हर बीमारी के कारण को अपने साथ रखता है। ऐसे में अगर आप उसे पोषक तत्व देंगे तो वो बीमारियों को बढ़ने या पनपने ही नहीं देगा। इसीलिए आयुर्वेद में पेट की महत्ता पर जोर दिया गया है।

ये भी पढ़ें: खाना खाने के बाद नींबू पानी पीने के फायदे: Khaana Khaane ke baad neembu paani peene ke fayde

आयोडीन वाले खानों का सेवन करें

आयोडीन सिर्फ नमक में ही नहीं होता है क्योंकि मिथौरी, कटहल, एवं अन्य सब्जियों का सेवन करके आप आयोडीन का स्तर बेहतर कर सकते हैं। अगर आप नॉन वेज खाते हैं तो अंडे, मछली एवं चिकन में भी आपको आयोडीन मिल जाएगा। इसका सेवन सही रूप में करें ताकि ये परेशानी ना हो।

डेयरी प्रोडक्ट्स का सेवन करें

दूध, दही या ऐसे किसी भी डेयरी प्रोडक्ट को खाने से आपके शरीर को लाभ होता है। आप किसी भी रूप में इसका सेवन कर सकते हैं और ये हाइपर थायराइड या हाइपरथायरॉइडिज्म से आपको बचाने में मदद करता है। सेहत ठीक है तो आप एकदम फिट रहेंगे और आप खुद को परेशानी में तो नहीं लाना चाहेंगे।

ये भी पढ़ें: हाथ-पैरों में कमजोरी झुनझुनी का एहसास होना है किस बीमारी के लक्षण: haath pairon mein kamjori jhunjhuni ka ehsas hona hai kis beemaari ke lakshan

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Amit Shukla
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now