Create
Notifications

हाथ-पैरों में कमजोरी झुनझुनी का एहसास होना है किस बीमारी के लक्षण: haath pairon mein kamjori jhunjhuni ka ehsas hona hai kis beemaari ke lakshan

फोटो: Prabhat Khabar
फोटो: Prabhat Khabar
reaction-emoji
Amit Shukla

हाथ-पैरों में कमजोरी झुनझुनी का एहसास होना एक बड़ी परेशानी का कारण हो सकते हैं। ये पहले पहल तो बेहद आम सी घटनाएं लगेंगी लेकिन अगर समय रहते इसपर ध्यान नहीं दिया गया तो ये बड़ी परेशानी का सबब बन सकती हैं। ऐसे में आपको सतर्क एवं सचेत रहने की जरूरत है क्योंकि वो सबसे महत्वपूर्ण है।

ये भी पढ़ें: आंखों की एलर्जी का घरेलू उपाय: Aankhon ki allergy ka gharelu upaay

आपकी सेहत ही जीवन के लिए महत्वपूर्ण है और अगर आपके शरीर के हाथ पैर या किसी भी अंग में झुनझुनी हो तो ये कई कारणों से हो सकती है। ऐसा कई बार होता है कि आप कहीं बैठे हों और आपको अपने हाथ एवं पैर में एकदम से झुनझुनी का एहसास हो। अगर ऐसा होता है तो ये इस बात का संकेत है कि कुछ बेहद गड़बड़ हो रहा है।

ये भी पढ़ें: नारियल तेल में कपूर के 4 फायदे: Nariyal tel mein kapoor ke 4 fayde

इसे कई लोग ध्यान ना देकर भूल जाते हैं जो एक बड़ी गलती है। शरीर में होने वाले कंपन, झुनझुनी किसी बड़ी बीमारी के आने का संकेत होते हैं। अगर आपको ये परेशानी है या आपके किसी जानकार को ये दिक्कत है तो इन चीजों को जीवन का हिस्सा बनाकर खुद की सेहत को बेहतर करें।

ये भी पढ़ें: Yoga Tips: तितली आसन के 5 फायदे: titli aasan ke 5 fayde

हाथ-पैरों में कमजोरी झुनझुनी का एहसास होना है किस बीमारी के लक्षण

झुनझुनी होना कभी भी नजरअंदाज ना करें। ये निशानी है कि आपके शरीर की कोई नस जो रीढ़ की हड्डी के आसपास है उसमें कोई दबाव हो रहा है। ऐसा नहीं है कि ये परेशानी सिर्फ बड़ों को होती है क्योंकि छोटे बच्चों को भी ये दिक्कत हो सकती है और वयोवृद्ध लोगों को ये परेशानी होना बेहद आम है।

अगर आपके हाथ पैर में दबाव बढ़ रहा है या फिर शरीर के तंत्र में कोई दिक्कत पेश आती है तो हाथ पाँव सुन्न हो जाते हैं या उनमें झुनझुनी होने लगती है। ये मैग्नीशियम, विटामिन बी की कमी एवं डायबिटीज के लक्षण होते हैं। अगर आप ध्यान देते हैं तो आप इस बीमारी से निजात पा सकते हैं और आराम के लिए आप ये करें।

एक्सरसाइज

एक्सरसाइज को हर परेशानी का हल माना जाता है। ऐसे कई लोग हैं जिन्हें एक्सरसाइज करना पसंद नहीं है। ये बीमारी और परेशानी का सबसे बड़ा कारण हो सकता है। आप एक्सरसाइज करके हर मसल और नस को खुलने का मौका देते हैं जो एक अच्छी बात है।

सिकाई करें

सिकाई करना हर प्रकार से लाभकारी है। अगर आपके शरीर में कोई भी परेशानी है तो सिकाई करने से आप उस स्थान की नसों में खून का बहाव बढ़ा देते हैं। ये सबसे ज्यादा जरूरी है और आपकी फिटनेस के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है।

मालिश करें

अगर सिकाई ना करना चाहें तो आप नारियल या जैतून के तेल से मालिश कर सकते हैं। इससे आपकी सेहत अच्छी रहेगी और आपको बेहद आराम देगी। जैतून के तेल को गर्म कर लीजिए और अगर सरसों का तेल हो तो उसको परेशानी वाली जगह पर लगाकर शरीर पर उँगलियों से मालिश करें। इससे बेहद जल्दी आराम मिलेगा।


Edited by Amit Shukla
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...