Create

खांसी में मुलेठी का उपयोग:  khansi mein mulethi ka upyog

फोटो- punjab kesari
फोटो- punjab kesari

मुलेठी का उपयोग आमतौर पर पान में किया जाता है। लेकिन अगर किसी को खांसी की समस्या हो रही है तो उसमें भी मुलेठी वरदान साबित होती है। मुलेठी में औषधि गुण पाए जाते हैं जो गले की समस्या, खांसी जैसी परेशानी में बहुत लाभ पहुंचाती है। इसमें कैल्शियम, ग्लिसराइजिक एसिड, ऐंटीऑक्सिडेंट, ऐंटीबायॉटिक गुण होते हैं। जो शरीर को बहुत फायदा करते हैं।

मुलेठी का पौधा झाड़ी जैसा होता है। आमतौर पर इसका इस्तेमाल पौधे के तने की छाल को सुखा कर किया जाता है। मुलेठी का स्वाद चीनी की तुलना में काफी मीठा होता है। इसमें विटामिन ई और विटामिन बी का एक अच्छा स्रोत है। इसके अलावा इमसें कई फाइटोन्यूट्रिएंट्स भी होते हैं।

ये भी पढ़ें: भीगे मुनक्का के फायदे: bheege munakka khane ke fayde

सूखी खांसी होने पर मुलेठी का उपयोग-

अगर किसी को सूखी खांसी हो रही है तो इससे निजात पाने के लिए मुलेठी रामबाण है। इसके लिए दो से चार काली मिर्च लें और उसमें मुलेठी का छोटा टुकड़ा पीस लें। अब इसका सेवन दिन में दो बार करें खांसी में आराम मिलेगा। अगर आप काली मिर्च का इस्तेमाल नहीं करना चाहते तो इसकी जगह शहद का उपयोग कर सकते हैं। वहीं मुलेठी को पानी में उबालकर या चूसने से गले की खराश औऱ दर्द से भी छूटकारा पाया जा सकता है। इसके साथ ही आप मुलेठी का काढ़ा बनाकर भी पी सकते हैं। अगर किसी के गले में कफ जमा है तो इसके लिए भी मुलेठी का इस्तेमाल किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें: मुनक्का और दूध के फायदे: munakka aur doodh ke fayde

मुलेठी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज खांसी और गले के दर्द पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारने के साथ ही कई अन्य संक्रमणों से भी बचाती है। इसके साथ ही मुलेठी का सेवन दिल के स्वास्थ्य को बनाए रखने और रक्तचाप को नियंत्रित रखने के लिए भी जाना जाता है। मुलेठी को आज के समय में कई टूथपेस्ट में भी इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा भी मुलेठी खाने के कई फायदे हैं जैसे आंखों की समस्या होने पर मुलेठी को सौंफ के साथ खाने पर आंखों की जलन और लालपन में आराम मिलता है।

ये भी पढ़ें: बुखार में क्या खाना चाहिए: bukhar mein kya khana chahiye

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment