Create
Notifications

लिवर सिरोसिस से ऐसे बचें: Liver Cirrhosis se aise bachein

फोटो: Naturallynourishedrd
फोटो: Naturallynourishedrd
Amit Shukla

लिवर सिरोसिस एक ऐसी परेशानी है जो किसी भी इंसान के लिए घातक साबित हो सकती है। आज कल के दौर में आपका लिवर ही आपकी ताकत है और जब तक लिवर ठीक है तब तक सब कुछ ठीक है। पेट से जुड़ी हर परेशानी में लिवर का एक अहम योगदान होता है। यदि आपको लिवर सिरोसिस है तो आपको काफी मुश्किल पेश आ सकती है।

ये भी पढ़ें: डायबिटीज मेलिटस से बचने के लिए ये करें: Diabetes Mellitus se bachne ke liye ye karein

इस स्थिति में आपके लिवर में एक स्कार यानी खरोंच आ जाती है। ऐसी स्थिति में आपका लिवर प्रोटीन नहीं बना सकता है और ना ही वो इंफेक्शन से लड़ सकता है। खून को साफ करना हो या फिर खाने को पचाना और ऊर्जा का भरण करना, ये सभी काम एक खरोंच पाया हुआ लिवर नहीं कर सकता है।

ये भी पढ़ें: इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए इन चीजों का इस्तेमाल करें: Immunity ko badhaane ke liye in cheezon ka istemaal karein

इस परेशानी के कारण आपको जल्दी चोट लग सकती है या फिर खून का रिसाव जल्दी हो सकता है। इस स्थिति में आपके पैर एवं आँतों में सूझन हो सकती है और दवाइयों के प्रति आप कुछ अधिक सेंसिटिव हो सकते हैं। ऐसे में आइए आपको बताते हैं कि आप क्या करके खुद को इस परेशानी से बचा सकते हैं।

लिवर सिरोसिस से ऐसे बचें

खाने पर रखें कंट्रोल

अपनी सेहत पर कंट्रोल करने के लिए आपको अपने खाने को कंट्रोल करना होगा। यदि सही मायनों में देखा जाए तो इसका कोई व्यापक इलाज नहीं है और डॉक्टर यदि इसको शुरूआती स्थिति में रोक ले गए तो आप बच सकते हैं वरना आपकी सेहत पर बुरा असर हो सकता है।

फुल बॉडी चेकअप कराएं

आपने कई बार सुना होगा कि हमें अपना फुल बॉडी चेकअप करवाना चाहिए। ऐसा करना इसलिए भी जरूरी है क्योंकि यदि आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपको अपने शरीर में हो रही बीमारियों और परेशानियों का पता नहीं चलेगा जिस स्थिति में आपको काफी ज्यादा नुकसान हो सकता है।

मिल्क थिसल

आपको ये किसी भी दवाई की दुकान में मिल जाएगी लेकिन ये जरूरी है कि आपको इस बीमारी के बारे में समय से पता चल जाए। यदि ऐसा नहीं होता है तो आपको काफी नुकसान होगा जो कहीं से भी सही नहीं है। ऐसे में आपको मिल्क थिसल के बारे में जान लेना चाहिए क्योंकि ये फायदेमंद है।

ट्रांसजुगुलर इंटरहैप्टिक पोर्टसिस्टम्स शंट (टिप्स)

ये एक बड़ी मुश्किल प्रक्रिया है और इसे बेहद कम लोग ही कर सकते हैं। इसमें आपके शरीर की पोर्टल नली को लिवर की हेप्टिक नली से जोड़ दिया जाता है। स्टेंट नाम की एक मेटल डिवाइस को ऐसे रख दिया जाता है जिससे कि खून का प्रवाह सही रूप से हो सके और कोई परेशानी ना पेश आए।

ये भी पढ़ें: भारत सरकार की 1 मई से होने वाली कोविड वैक्सीनेशन ड्राइव का हिस्सा आप ऐसे बन सकते हैं


Edited by Amit Shukla

Comments

Fetching more content...