Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

मिर्गी से खुद को बचाने के लिए इन आदतों को जीवन का हिस्सा बनाएं

मिर्गी
मिर्गी
Amit Shukla
ANALYST
Modified 08 Feb 2021
फ़ीचर
Advertisement

मिर्गी एक ऐसी परेशानी है जो किसी को भी हो सकती है और इसकी वजह से जिंदगी में कई बार कई काम करने में परेशानी पेश आती है। मिर्गी का मरीज अमूमन इस बात को कहने से डरता है क्योंकि लोग उसकी बात का गलत अर्थ निकाल लेते हैं। इससे इंसान का मनोबल गिरता है लेकिन अगर आपको या आपके जानने में किसी को मिर्गी की परेशानी है तो इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि ऐसी कोई गलती ना करे जिससे परेशानी का स्तर बढ़ जाए।

ये भी पढ़ें: हँसने के ये फायदे जानकर आप कभी भी उदास नहीं होना चाहेंगे

मिर्गी के मरीजों को खुद का ध्यान तो रखना ही चाहिए, साथ ही इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि उनके इमरजेंसी कॉन्टेक्ट्स भी उनके पड़ोसियों के पास लिखे हुए हों। इसमें दोराय नहीं कि मिर्गी के मरीजों को हर बीमारी से परेशान मरीजों की तरह ही खुद पर ध्यान देना चाहिए क्योंकि एक छोटी सी परेशानी काफी घातक हो सकती है।

ये भी पढ़ें: वजन घटाने के लिए इस वेजिटेरियन डाइट का इस्तेमाल आपके लिए अच्छा रहेगा

ऐसे में इंसान को ना सिर्फ उन बातों और स्थितियों से बचना चाहिए जो उन्हें परेशान करती हैं बल्कि ये भी ध्यान देना चाहिए कि ऐसी कोई बात ना हो जो उनकी परेशानी को बढ़ा दे। हर इंसान के जीवन में परेशानी होती है लेकिन अगर हम गलतियों का ध्यान रखेंगे तो ऐसी परेशानी पेश नहीं आएगी। अगर आपके जीवन में भी ऐसी कोई परेशानी है जो आपको परेशान कर रही है तो नीचे दिए गए सुझावों का ध्यान रखें।

ये भी पढ़ें: परसनैलिटी को बेहतर करने के लिए इन आदतों को जीवन का हिस्सा बनाएं

मिर्गी से ध्यान के लिए इन आदतों को अपनाएं

मिर्गी के मरीज खुद का ध्यान रखने के लिए पहले अपने ट्रिगर्स का ध्यान रखें। ऐसा कई बार होता है कि हम सब अपने ट्रिगर्स का ध्यान नहीं रखते हैं जिसकी वजह से परेशानी बढ़ जाती है। इसमें कई बार बुखार भी एक ट्रिगर का कारण हो सकता है। अगर आपको स्ट्रेस, बुखार के साथ साथ शराब और ड्रग का इस्तेमाल भी परेशान करता है तो आपको इन्हें छोड़ देना चाहिए।

ऐसा कई बार होता है कि कम नींद, कम ब्लड सुगर और मेनुस्ट्रल साइकल के कारण भी ये परेशानी आती है। जीवन में किए गए बदलावों से भी परेशानी बढ़ सकती है लेकिन अगर ये बदलाव समझकर किए जाए तो परेशानी कम भी हो सकती है। ऐसे में जरूरी है कि एक एमर्जेन्सी डिवाइस को इनस्टॉल करें या जरूरी नंबर एमर्जेन्सी में रखें।

Published 08 Feb 2021, 20:16 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now