Create
Notifications

सोशल मीडिया से मानसिक स्वास्थ्य पर होने वाले प्रभाव

सोशल मीडिया
सोशल मीडिया
Amit Shukla
ANALYST
Modified 05 Feb 2021
फ़ीचर

सोशल मीडिया का उपयोग आजकल के दौर में काफी होने लगा है। इसकी वजह से जीवन में एक दूसरे से बातचीत कम और एक दूसरे के बारे में बातचीत ज्यादा होने लगी है। ये एक बड़ी वजह है जिसके कारण लोग हमेशा अपनी तस्वीरें खींचकर उन्हें पब्लिक के बीच में शेयर करना चाहते हैं। इसकी वजह से लोगों के मन में एक जिज्ञासा रहती है कि किसने उनके पोस्ट को देखा और जवाब दिया और साथ ही क्या जवाब दिया गया।

ये भी पढ़ें: बेहतर मानसिक सेहत के लिए बातचीत जरूर करें

यदि इसे सेल्फ इम्पॉर्टैंस के स्तर से देखा जाए तो ये एक अच्छी बात है लेकिन हाल में आए मेडिकल केस और कई अन्य सर्वे के द्वारा प्राप्त जानकारी के आधार पर ये बात स्थापित हो जाती है कि सोशल मीडिया एक परेशानी का कारण बनता जा रहा है। ऐसे कई मामले आए हैं जहाँ लोगों ने खुद को दूसरे से सिर्फ इसलिए कमतर आँका क्योंकि सामने वाले ने सोशल मीडिया पर कुछ बेहद अच्छी तस्वीर साझा की थी और वो किसी जगह के सफर पर गए हुए थे।

ये भी पढ़ें: परसनैलिटी को बेहतर करने के लिए इन आदतों को जीवन का हिस्सा बनाएं

सोशल मीडिया और मेंटल हेल्थ

सोशल मीडिया में ना सिर्फ कई गलत खबरें आती हैं बल्कि लोगों के अंदर एक सोशल एन्गेजमेन्ट एंग्जायटी डेवेलप होने लगा है। ये हर तस्वीर पर मिलने वाले लाइक, कमेंट और तस्वीर को सच मानने लगा है। इसकी वजह से लोग एक दूसरे से पहले के मुकाबले अधिक कम्पैरिजन करने लगे हैं।

ये भी पढ़ें: वजन घटाने के लिए इस वेजिटेरियन डाइट का इस्तेमाल आपके लिए अच्छा रहेगा

ये इमोशनल स्ट्रेस का कारण बन गया है इसके एडिक्शन के कारण लोग अपनी नींद से ज्यादा सोशल मीडिया को तवज्जो देने लगे हैं। इसके कारण आँखों को भी परेशानी का सामना करना पड़ता है और थकावट भी महसूस होती है। सोशल मीडिया के कारण ही लोग एक्सरसाइज पर कम ध्यान देते हैं और उनके द्वारा ध्यान दिए जाने की क्षमता में भी एक बदलाव देखने को मिला है। यदि आप खुद के जीवन में सुकून चाहते हैं तो अपने फोन के इस्तेमाल को कम कर दें और सोशल मीडिया को सिर्फ जरूरत भर ही इस्तेमाल करें।

Published 05 Feb 2021
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now