आर्थराइटिस का ट्रीटमेंट- Arthritis ka Treatment

इन तरीकों से आर्थराइटिस का करें ट्रीटमेंट
इन तरीकों से आर्थराइटिस का करें ट्रीटमेंट

Treatment of Arthritis in hindi: अर्थराइटिस यानी गठिया इन दिनों सिर्फ बुजुर्गों को ही नहीं बल्कि युवाओं को भी तेजी से हो रहा है। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण बदलती जीवनशैली, मोटापा, गलत खानपान आदि वजहों से ये समस्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इसका सबसे ज्यादा प्रभाव घुटनों में और फिर कूल्हे की हड्डियों में दिखाई देता है। शुरुआती दौर में अगर इसका इलाज करा लेते हैं तो काफी हद तक राहत मिल सकती है। लेकिन, अगर समय रहते इलाज नहीं कराया तो फिर हड्डियां कमजोर हो सकती हैं और फिर जोड़ों का दर्द अधिक हो जाता है। इसमें कई बार जोड़ों में असहनीय दर्द होने लगते हैं।

शरीर में कैल्शियम की कमी के चलते अर्थराइटिस की समस्या होती है। अर्थराइटिस की समस्या के लिए वैसे तो डॉक्टर्स से इलाज करवा सकते हैं लेकिन, इसके लिए कुछ घरेलू उपचार हैं जिनकी मदद से आपको काफी हद तक आराम मिल सकता है।

आर्थराइटिस का 5 ट्रीटमेंट

वजन को नियंत्रित रखें (keep weight under control)

अर्थराइटिस को ठीक करने का सबसे पहला उपाय यह है कि, आप अपने वजन को नियंत्रित रखें। दरअसल, ज्यादा वजन के चलते जोड़ों, खासकर घुटनों, कूल्हों और पैरों पर अधिक दबाव डालता है। एक शोध में बताया गया है कि, जो अर्थराइटिस के मरीज अपने वजन को नियंत्रित रखते हैं उन्हें जोड़ों में दर्द के साथ ही सूजन की समस्या कम होती है। इसके लिए नियमित व्यायाम करें जिससे अर्थराइटिस की समस्या खत्म हो सकती है।

रोज करना चाहिए एक्सरसाइज (Arthritis patients should exercise daily)

गठिया के रोगियों को खूब एक्सरसाइज करना चाहिए। एक्सरसाइज से आपके जोड़ों में लचीलापन रहेगा, इसके साथ ही इसके आसपास की मांसपेशियों को मजबूत होने में मदद मिलेगी। इसके लिए आप चाहे तो- टहल सकते हैं, साइकिल चला सकते हैं, तैराकी भी करना काफी फायदेमंद होता है। इससे पूरे शरीर की एक्सरसाइज हो जाता है। नियमित व्यायाम करते हैं तो गठिया दर्द से आराम मिल सकता है।

लाभकारी है काली मिर्च (Black pepper is beneficial in arthritis)

गठिया रोग में काली मिर्च काफी काम आ सकती हैं। क्योंकि, काली मिर्च में कैप्साइसिन मौजूद होता है जो अर्थराइटिस (गठिया) में होने वाले दर्द को कम करने में मदद कर सकता है। इसके साथ ही गठिया में हुए जोड़ों में सूजन को भी कम कर सकता है। इसके लिए आप काली मिर्च को शहद के साथ सेवन कर सकते हैं या फिर भोजन में भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

करें अदरक का सेवन (Use ginger in arthritis)

आयुर्वेद में अदरक को कई सारी समस्याओं में लाभकारी माना गया है। अदरक में नेचुरल हीलिंग एजेंट मौजूद होते हैं जो अर्थराइटिस (गठिया) में होने वाले दर्द और सूजन को कम करने में मदद करते हैं। इसके लिए अदरक की चाय पी सकते हैं या फिर कच्चा अदरक भी खा सकते हैं।

सरसों तेल की मालिश (Mustard oil massage will end arthritis)

गठिया की समस्या होने पर सरसों का तेल आपके काफी काम आ सकता है। यह प्राकृतिक मरहम के रूप में काम करता है। अगर आप नियमित रूप से सरसों के तेल से मालिश करते हैं, तो ना सिर्फ सूजन से छुटकारा मिलेगा बल्कि दर्द भी कम हो सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Ritu Raj
App download animated image Get the free App now