Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

सरफराज अहमद (Sarfraz Ahmed)


ABOUT
BATTING STATS

GAME TYPE M INN RUNS BF NO AVG SR 100s 50s HS 4s 6s CT ST
ODIs 116 90 2302 2622 22 33.85 87.80 2 11 105 172 12 116 24
TESTs 49 86 2657 3743 13 36.40 70.99 3 18 112 268 8 146 21
T20s 58 41 812 641 12 28.00 126.68 0 3 89 79 15 35 10
BOWLING STATS

GAME TYPE M INN OVERS RUNS WKTS AVG ECO BEST 5Ws 10Ws
ODIs 116 1 2 15 0 0 7.50 0 0 0
TESTs 49 0 0 0 0 0 0 0 0
T20s 58 0 0 0 0 0 0 0 0
ABOUT

सरफराज अहमद एक पाकिस्तानी क्रिकेटर हैं। उनका जन्म 22 मई 1987 को सिंध के कराची में हुआ था। वह टीम के विकेटकीपर हैं और दाएं हाथ के बल्लेबाज हैं। सरफराज ने 2017 में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के लिए पाकिस्तानी टीम का नेतृत्व किया और टीम को खिताब दिलाया।



अंडर-19 विश्व कप में पाकिस्तान को दिलाया खिताब

सरफराज अहमद ने 2006 के आईसीसी अंडर-19 क्रिकेट विश्वकप में पाकिस्तान का नेतृत्व कर टीम को ट्रॉफी दिलाई थी। इसके बाद ही वह चयनकर्ताओं की नजर में आ गए थे। सरफराज ने घरेलू क्रिकेट में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए 10 मैचों में 523 रन बनाए। इसके अलावा विकेटकीपिंग में भी बेहतरीन प्रदर्शन किया। अपने प्रदर्शन की बदौलत 2007 में आस्ट्रेलिया दौरे के लिए उन्होंने पाकिस्तान ए टीम में जगह बनाई।


खराब शुरुआत

सरफराज ने 2007 में जयपुर में भारत के खिलाफ अपना वनडे डेब्यू किया था। उन्हें अपने पहले तीन मैचों में बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिला था। सरफराज ने पहले 8 एकदिवसीय मैचों में केवल दो बार बल्लेबाजी की और 7 और 19 रन बनाए। साथ ही उन्होंने विकेटकीपिंग में 9 खिलाड़ियों को आउट किया। इसके बावजूद सरफराज को टीम से बाहर कर दिया गया था।


सरफराज ने 2010 में होबार्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना टेस्ट डेब्यू किया। उन्होंने डेब्यू मैच में 1 और 5 रन बनाए और चार कैच लपके। अपने पहले दो मैचों में उन्होंने केवल 5 रन बनाए, जिसके बाद वह टीम से हटा दिए गए।


कप्तान बनने का सफर

पाकिस्तान के 2016 के टी-20 विश्वकप में खराब प्रदर्शन के बाद शाहिद अफरीदी को कप्तानी से बर्खास्त कर दिया गया था। इसके बाद पाकिस्तानी क्रिकेट बोर्ड ने सरफराज को टी-20 का नया कप्तान नियुक्त किया। एक साल बाद उन्हें वनडे टीम का कप्तान भी बना दिया गया। मिस्बाह उल-हक ने जब टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लिया, तो सरफराज खेल के सबसे लंबे प्रारूप में पाकिस्तान का नेतृत्व करने वाले 32 वें कप्तान बन गए।


टीम को दिलाई चैंपियंस ट्रॉफी

2014 में दुबई में श्रीलंका के खिलाफ 74 रन बनाने के बाद सरफराज की वापसी हुई। उन्होंने अगले डेढ़ साल में 71.20 की औसत से अपने आप को नंबर एक विकेटकीपर के रूप में स्थापित किया। 2015 वर्ल्ड कप के लिए वो शुरुआत में विकेटकीपर के रूप में पहली पसंद नहीं थे। हालांकि आयरलैंड के खिलाफ पहला एकदिवसीय शतक लगाने के बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा।


सरफराज को पहली बड़ी सफलता तब मिली जब उन्होंने 2017 आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब जीता। पहले मैच में भारत से हारने के बावजूद सरफराज ने टीम की उम्मीदें टूटने नहीं दीं और जोरदार वापसी करते हुए फाइनल में भारत को हराया।


वनडे में निराशाजनक बल्लेबाजी

वनडे में सरफराज अहमद की बल्लेबाजी का औसत खास नहीं रहा है। उन्होंने शुरुआती 85 मैचों में 33.90 के औसत से रन बनाए, जिसमें उन्होंने 10 बार ही पचास रन से ऊपर बनाए। 2019 के विश्वकप में पाकिस्तान का नेतृत्व करने वाले सरफराज की अगुआई में टीम ने बेहद निराशाजनक प्रदर्शन किया।


पाकिस्तान सुपर लीग में बेहतरीन प्रदर्शन

सरफराज पाकिस्तान सुपर लीग में क्वेटा ग्लैडिएटर्स की कप्तानी करते हैं। उन्होंने लगातार दो साल 2016 और 2017 में टूर्नामेंट के फाइनल में अपनी टीम की जगह बनवाई लेकिन फाइनल का खिताब जिताने में असमर्थ रहे।


Fetching more content...