चार्ल्सटन ओपन : महिला सिंगल्स के फाइनल में पहुंची बेन्चिक और जेबूर, मिलेगी नई चैंपियन

अपने करियर के पहले क्ले-कोर्ट टूर्नामेंट फाइनल में पहुंचने के बाद खुशी का इजहार करती बेन्चिक।
अपने करियर के पहले क्ले-कोर्ट टूर्नामेंट फाइनल में पहुंचने के बाद खुशी का इजहार करती बेन्चिक।

स्विट्जरलैंड की बेलिन्डा बेन्चिक ने WTA 500 चार्ल्सटन ओपन के फाइनल में जगह बना ली है। अमेरिका में खेली जा रही प्रतियोगिता में 10वीं वरीयता प्राप्त बेन्चिक ने रूस की एकतरिना एलेग्जेंड्रोवा को सीधे सेटों में 6-4, 6-3 से हराकर दिन का पहला सिंगल्स सेमीफाइनल जीता और अपने करियर में पहली बार किसी क्ले-कोर्ट फाइनल में पहुंची।

जीत के बाद बेन्चिक ने कहा कि वो खुद भी नतीजे से हौरान थीं, लेकिन अपने खेल से काफी खुश भी थीं। साल 2014 में बेन्चिक 17 साल की क्वालीफ़ायर के रूप में चार्ल्सटन ओपन के सेमीफाइनल में पहुंची थीं, लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। पिछले साल टोक्यो ओलंपिक गोल्ड जीतने वाली बेन्चिक के पास अपने करियर का छठा WTA खिताब जीतने का मौका है। अगर बेन्चिक खिताब जीत जाती हैं तो अपनी मौजूदा 21वीं WTA रैंकिंग से नंबर 13 पर आ जाएंगी। बेन्चिक का सामना अब फाइनल में दूसरे सेमीफाइन की विजेता चौथी वरीय ट्यूनिशिया की ओंस जेबूर से होगा।

जेबूर ने बेहद रोमांचक मुकाबले में अमेरिका की 15वीं वरीय अमांडा अनिसिमोवा को 2-6, 6-1, 6-4 से हराया। पहला सेट आसानी से हारने वाली ओंस ने दूसरे सेट में बेहतरीन वापसी करते हुए सेट जीता। ओंस जेबूर तीसरे सेट में 1-3 से पीछे चल रहीं थीं, लेकिन उन्होंने अमांडा की सर्विस ब्रेक करते हुए सेट अपने नाम कर लिया।

जेबूर पिछले साल चार्ल्सटन ओपन के सेमीफाइन में पहुंची थीं लेकिन यहां उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। अब उनके पास अपने करियर का दूसरा WTA टाइटल जीतने का मौका है। जेबूर ने पिछले साल बर्मिंघम ओपन के रूप में पहला WTA खिताब जीता था और ऐसा करने वाली पहली अरब महिला टेनिस खिलाड़ी बनीं थीं। जेबूर और बेलिन्डा ने इकलौता मैच 2021 में मेड्रिड मास्टर्स के रूप में खेला था जहां बेलिन्डा ने जीत दर्ज की थी ।

Edited by Prashant Kumar
App download animated image Get the free App now