मियामी ओपन : विम्बल्डन चैंपियन रिबाकिना को हराकर 33 साल की पेट्रा क्वितोवा ने जीता खिताब

मियामी ओपन के खिताब के साथ पूर्व विश्व नंबर 2 खिलाड़ी पेत्रा क्वितोवा।
मियामी ओपन के खिताब के साथ पूर्व विश्व नंबर 2 खिलाड़ी पेट्रा क्वितोवा।

पूर्व विश्व नंबर 2 टेनिस खिलाड़ी चेक रिपब्लिक की पेट्रा क्वितोवा ने मियामी ओपन WTA 1000 टूर्नामेंट जीत लिया है। अमेरिका में हो रही प्रतियोगिता के महिला सिंगल्स के फाइनल में पेट्रा ने खिताब की प्रबल दावेदार और मौजूदा विम्बल्डन चैंपियन एलिना रिबाकिना को कड़े मुकाबले में 7-6, 6-2 से हराते हुए अपने करियर का 30वां खिताब जीता। 33 साल की पेट्रा क्वितोवा 2015 के बाद यह खिताब जीतने वाली सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बन गई हैं।

क्वोतिवा और रिबाकिना के बीच पहले सेट में बेहद जबरदस्त मुकाबला हुआ। टाईब्रेक 14-14 से बराबरी के बाद क्वितोवा ने तोड़ा और 67 मिनट के लंबे अंतराल के बाद पहला सेट जीता। खास बात यह है कि रिबाकिना इस सीजन इससे पहले एक भी मुकाबले में टाईब्रेक सेट नहीं हारी थीं, लेकिन क्वितोवा ने उन्हें इस बार मात दी।

दूसरे सेट में क्वितोवा के शॉट्स का जवाब रिबाकिना के पास नहीं था। क्वितोवा अपने करियर में 13वीं बार मियामी ओपन के मुख्य ड्रॉ में खेल रही थीं और पहली बार क्वार्टरफाइनल से आगे बढ़ीं। पेट्रा ने मियामी में खिताब जीतने के लिए महज एक सेट गंवाया। क्वितोवा की किसी टॉप 10 खिलाड़ी के खिलाफ यह करियर की 60वीं जीत थी और इस मामले में मौजूदा समय में खेल रहे खिलाड़ियों में केवल वीनस विलियम्स और विक्टोरिया अजारेंका ही उनसे आगे हैं।

इस खिताब को जीतने के साथ ही क्वितोवा सोमवार को जारी होने वाली नई WTA रैंकिंग में टॉप 10 में वापसी कर लेंगी। वहीं लगातार 13 मुकाबले जीतते आ रही रिबाकिना की जीत का सिलसिला आखिरकार टूट गया। इस साल ऑस्ट्रेलियन ओपन में उपविजेता रहने वाली रिबाकिना ने दो हफ्ते पहले ही इंडियन वेल्स का खिताब अपने नाम किया था।

ऐसे में उनके पास मियामी ओपन जीतकर अमेरिका में होने वाली इन दोनों प्रतियोगिताओं यानी Sunshine Double को अपने नाम करने का ऐतिहासिक मौका था लेकिन वह असफल रहीं।

Edited by Prashant Kumar
App download animated image Get the free App now