Create
Notifications

4 सबसे बड़े कारण जो बताते हैं कि ब्रॉक लैसनर का कैश इन सफल होगा

Enter caption
Neeraj sharma

मनी इन द बैंक पीपीवी में ब्रॉक लैसनर की जीत को अभी भी कुछ लोग भुला नहीं पाए हैं। सैमी जेन को रिप्लेस करते हुए उन्होंने लैडर मैच में सरप्राइज़ एंट्री ली और साथ ही साथ कॉन्ट्रैक्ट भी जीता।

ब्रीफ़केस जैसे ही लैसनर के हाथों में आया सोशल मीडिया पर WWE फैंस उन्हें लगातार आलोचनाओं का शिकार बनाने लगे। क्योंकि मिस्टर मैकमैहन पहले भी द बीस्ट को एक नहीं, दो नहीं बल्कि कई मौके दे चुके हैं। मनी इन द बैंक कॉन्ट्रैक्ट को आमतौर पर मिड-कार्ड सुपरस्टार्स को पुश देने के लिए प्रयोग में लाया जाता है और लैसनर कोई मिड-कार्ड सुपरस्टार तो नहीं हैं।

आलोचनाओं में घिरे रहने के बाद भी WWE ने लैसनर को विजेता बनाने का निर्णय लिया है और अब इंतज़ार है तो सिर्फ कैश इन का। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि अब सुपर शोडाउन में द बीस्ट इंकार्नेट सफल रूप से कैश इन करने वाले हैं। इस आर्टिकल में देखिये ऐसे चार कारण जो बताते हैं कि लैसनर द्वारा कैश इन के असफल होने की संभावनाएं लुप्त हो चुकी हैं।

# MMA से रिटायरमेंट मतलब वो WWE पर अधिक फोकस करेंगे

Enter caption

जो लोग अभी भी यह कह रहे हैं कि ब्रॉक लैसनर पर इतना फोकस करना कंपनी के लिए ठीक नहीं है क्योंकि वो तो पार्ट-टाइम अपीयरेंस के लिए जाने जाते हैं। उन लोगों को यह जानना चाहिए कि वो अब लगातार चार रॉ एपिसोड्स में मौजूद रहे हैं।

अप्रैल 2019 में डैना वाइट ने एक इंटरव्यू में कहा था कि लैसनर ने अब MMA ऑक्टागन में कभी ना उतरने की इच्छा जताई है। अब जब वो अपने MMA करियर को अंतिम रूप दे चुके हैं, जाहिर तौर पर वो WWE को अधिक समय दे पाएंगे।

विंस मैकमैहन के पास भी मौका है कि वो रैसलिंग वर्ल्ड में चल रही टॉप पर पहुँचने की रेस में लैसनर का भरपूर प्रयोग करे।

WWE News in Hindi, RAW, SmackDown के सभी मैच के लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

# FOX नेटवर्क के साथ डील से स्मैकडाउन को पहुंचाएंगे फायदा

Enter caption

WWE ने हाल ही में FOX नेटवर्क के साथ 200 मिलियन यूएस डॉलर से भी अधिक की डील साइन की है। अक्टूबर 2019 से स्मैकडाउन का प्रसारण इसी नए नेटवर्क पर किया जाएगा, इसलिए मैकमैहन परिवार का आधे से अधिक फोकस अपनी ब्लू ब्रांड पर चला गया है।

पॉल हेमन के एलान के बाद भी लैसनर द्वारा कैश इन ना करने के पीछे यही वजह छिपी हो सकती है कि वो यूनिवर्सल टाइटल पर नहीं बल्कि WWE चैंपियनशिप पर कैश इन करेंगे। वाइल्डकार्ड रूल इसी ओर इशारा कर रहा है कि द बीस्ट जल्द स्मैकडाउन में नजर आ सकते हैं।

यह भी पढ़ें: सुपर शोडाउन में ब्रॉन स्ट्रोमैन और बॉबी लैश्ले मैच को ख़त्म करने के 5 संभावित तरीके

# वर्ल्ड टाइटल्स के साथ लैसनर अहम भूमिका निभाएंगे

Enter caption

वाइल्डकार्ड रूल के कारण ब्रांड विभाजन की अहमियत धीरे-धीरे कमजोर पड़ती दिखाई दे रही है। WWE एक ही झटके में ब्रांड विभाजन को समाप्त नहीं कर सकती थी और शायद इसी कारण वाइल्डकार्ड रूल लागू किया गया है।

जैसे-जैसे FOX डील पास आएगी संभावनाएं भी बढ़ती चली जाएंगी कि दोनों मेंस और विमेंस वर्ल्ड टाइटल एक साथ आने वाले हैं। ऐसा करने पर फिर चाहे लैसनर यूनिवर्सल चैंपियन बनें या WWE चैंपियन, कंपनी को फायदा ही होगा।

# लगातार तीसरे साल कैश इन के असफल रहने से WWE को हो सकता है भारी नुकसान

Enter caption

पिछले दो मनी इन द बैंक विनर्स, ब्रॉन स्ट्रोमैन और बैरन कॉर्बिन को WWE में खास सफलता हासिल नहीं हुई है। ना तो कैश इन ही सफल रहा और ना ही ये दोनों चैंपियन बने। इस बार भी अगर कैश इन असफल रहा तो इसका नुकसान कितना भारी होगा, वो विंस मैकमैहन जानते हैं।

2005 से इसकी शुरुआत हुई और साल दर साल कैश इन सफल होता रहा और नए चैंपियन भी बनते रहे। जॉन सीना के बाद डेमियन सैंडो, ब्रॉन स्ट्रोमैन और बैरन कॉर्बिन ऐसे सुपरस्टार रहे हैं जो मनी इन द बैंक विनर होने के बाद भी चैंपियन नहीं बन पाए। अब लैसनर का नाम ही इतना बड़ा है कि WWE उन्हें असफल होते हुए तो बिलकुल नहीं देख सकती।

Edited by Ankit

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...