Create

5 अनोखी टैग टीम जिन्हें आप नहीं जानते WWE में चैंपियनशिप जीत चुके हैं

दुर्लभ WWE टैग टीम्स जिनके बारे में आप नहीं जानते होंगे
दुर्लभ WWE टैग टीम्स जिनके बारे में आप नहीं जानते होंगे

WWE में समीकरण कभी भी बदल सकते हैं। एक रेसलर अगर किसी दूसरे से लड़ाई कर रहा है और आपकी लड़ाई भी उस इंसान से है तो ऐसा मुमकिन है कि वो दो रेसलर्स एक साथ आ जाएं और अपने एक कॉमन विरोधी पर अटैक करने लगें। इसको रेसलिंग की भाषा में एक टैग टीम बनाना कहते हैं।

ये भी पढ़ें: WWE को 2 कारणों से ब्रैंड स्प्लिट को खत्म कर देना चाहिए और 3 क्यों ऐसा नहीं होना चाहिए

वैसे तो कई टैग टीम्स हैं जिनको फैंस जानते हैं और बार बार देखना पसंद करते हैं जिनमें डीएक्स और ब्रदर्स ऑफ डिस्ट्रक्शन शामिल है। ऐसे भी कई रेसलर्स हैं जिनके साथ आने को लोग हैरानी से देखते हैं लेकिन जिन्होंने टैग टीम डिवीजन में अपना एक अलग प्रभाव छोड़ा है। इस आर्टिकल में हम आपको उनके बारे में ही बताने वाले हैं।

#5 WWE हॉल ऑफ फेमर केन और हरिकेन

इन दोनों को क्या आप कभी एक साथ एक टैग टीम के तौर पर देखने की उम्मीद भी कर सकते हैं। जी हाँ, ये मुश्किल है लेकिन चूँकि WWE में कुछ भी संभव है तो ये दोनों टैग टीम के तौर पर काम कर चुके हैं और टैग टीम चैंपियंस भी बन चुके हैं। केन जहाँ बेहद सीरियस रहते हैं तो वहीं हरिकेन काफी मजाकिया रेसलर हैं।

ये भी पढ़ें: 5 WWE सुपरस्टार्स जिन्होंने 2021 में अबतक एक भी मैच नहीं जीता है

ये बात अलग है कि दोनों के काम करने का अंदाज एक दूसरे से जुदा है लेकिन फिर भी दोनों ने एक साथ काम किया और 23 सितंबर 2002 वाले Raw में ये दोनों क्रिश्चियन और लांस स्टॉर्म को हराकर नए टैग टीम चैंपियन बन गए थे। ये एक ऐतिहासिक पल था जिसे फैंस आज भी याद करते हैं।

ये भी पढ़ें: 5 कारणों से Hell in a Cell मैच में बॉबी लैश्ले को WWE चैंपियनशिप को रिटेन करना चाहिए

कृपया Sportskeeda के WWE सेक्शन को बेहतर बनाने में मदद करें। अभी 30 सेकंड का सर्वे करें!

#4 सैथ रॉलिंस और जेसन जॉर्डन

youtube-cover

इस मैच और खासकर जेसन जॉर्डन को फैंस कुछ खास पसंद नहीं कर रहे थे। इसके पीछे एक बड़ी वजह ये थी कि इसी समय जेसन एक ऐसी कहानी का हिस्सा थे जिसके आधार पर कर्ट उनके पिता थे और वो उनकी एक ऐसे बेटे का किरदार कर रहे थे जो जायज नहीं था। फैंस को जेसन और कर्ट के बीच की ये कहानी पसंद नहीं आ रही थी।

जेसन ने कर्ट की मदद से खुद को सैथ के साथ जोड़ा और ये एक टैग टीम के तौर पर काम करने लगे। 25 दिसंबर 2017 को इन्होंने उस समय Raw टैग टीम चैंपियंस रहे शेमस और सिजेरो से लड़ाई की और टैग टीम टाइटल को अपने नाम कर लिया। इस समय जेसन एक बैकस्टेज प्रोड्यूसर हैं जबकि सैथ SmackDown में रेसलिंग कर रहे हैं।

#3 स्टोन कोल्ड स्टीव ऑस्टिन और डूड लव

youtube-cover

ब्रिटिश बुलडॉग और ओवन हार्ट इस दौरान Raw टैग टीम चैंपियंस थे और इनका मुकाबला 14 जुलाई 1997 को ऑस्टिन और उनके टैग टीम पार्टनर से होने वाला था। एक चौंकाने वाली बात ये थी कि मैच के शुरूआती कुछ मिनटों तक किसी को भी ये मालूम नहीं था कि ऑस्टिन का टैग टीम पार्टनर कौन होने वाला है।

मिक फोली ने अपने करियर में कई धमाकेदार किरदार किए हैं जिनमें वो रेसलिंग और खतरे के स्तर को बढ़ा देते हैं। उन्होंने इसके साथ साथ एक मजाकिया किरदार भी किया था जिसका नाम डूड लव था। जब ये रिंग में ऑस्टिन के पार्टनर बने तो खुद ऑस्टिन हैरान थे लेकिन मैच के अंत में ये दोनों टैग टीम चैंपियन बन गए थे।

#2 द अंडरटेकर और द रॉक

youtube-cover

इनके नाम को एक साथ एक टैग टीम के तौर पर लेना और ऐसा सोचना भी हैरान करने वाला है क्योंकि ये दोनों अपने रेसलिंग करियर में अमूमन एक दूसरे के विरोधी ही रहे हैं। WWE में कुछ भी संभव है और उसमें इन दोनों का साथ आकर WWE के टैग टीम टाइटल को जीतना भी शामिल है।

18 दिसंबर 2000 वाले Raw में ये दोनों क्रिश्चियन और ऐज से लड़ाई कर रहे थे। क्रिश्चियन और ऐज बेहद अच्छे दोस्त हैं जबकि यही बात इनके विरोधियों के लिए नहीं कही जा सकती है। इसके बावजूद ये दोनों साथ आए और इन्होंने WWE टैग टीम टाइटल्स को अपने नाम किया जो एक अच्छी बात है।

#1 जॉन सीना और बतिस्ता

4 अगस्त 2008 को Raw में ये विरोधी साथ आए और इन्होंने लेगेसी के मेंबर्स और Raw टैग टीम चैंपियंस कोडी रोड्स और टेड डीबियासी को चैंपियनशिप के लिए चैलेंज किया। बतिस्ता और सीना अगर एक साथ एक ही रिंग या मैच में हो तो उससे एक्शन बढ़ना तय है और वही इस मैच के दौरान भी देखने को मिला।

जॉन और बतिस्ता इस मैच के अंत में Raw टैग टीम चैंपियंस बन गए थे। ये दोनों चिर विरोधी हैं और इनका साथ आना किसी कमाल से कम नहीं था। जॉन और बतिस्ता के बीच में कई मैच हुए हैं लेकिन साथ में आकर किसी के खिलाफ लड़ना और फिर टैग टीम टाइटल भी जीतना एक दुर्लभ पल है।

Quick Links

Edited by मयंक मेहता
Be the first one to comment