Create
Notifications

5 बातें जो आप WWE छोड़ने वाले भारतीय मूल के दिग्गज सोंजय दत्त के बारे में नहीं जानते होंगे

बातें जो आप WWE छोड़ने वाले भातीय मूल के दिग्गज सोंजय दत्त के बारे में नहीं जानते होंगे
बातें जो आप WWE छोड़ने वाले भातीय मूल के दिग्गज सोंजय दत्त के बारे में नहीं जानते होंगे
Amit Shukla

WWE में इस समय रेसलर्स और बैकस्टेज से कई लोगों का जाने का क्रम जारी है। इसमें हालिया नाम भारतीय मूल के अमरीका में जन्मे रेसलर और हाल में WWE में प्रोड्यूसर के तौर पर काम कर रहे सोंजय दत्त (Sonjay Dutt) शामिल है। इन्होंने बीते हुए हफ्ते में रेसलिंग की इस अग्रणी कंपनी से दूरियाँ बना लीं।

ये भी पढ़ें: 5 बातें जो आप WWE हॉल ऑफ फेमर और रुस्तम-ए-हिन्द Dara Singh जी के बारे में नहीं जानते होंगे

अब ये दूरियाँ व्यक्तिगत कारणों से हैं या इसके पीछे भी व्यवसायिक कारण हैं, इसके बारे में कोई स्पष्ट जानकारी सामने नहीं आई है। इस समय कंपनी से लोग बेवजह ही रिलीज हो रहे हैं जो बाद में विरोधी कंपनियों का हिस्सा बन रहे हैं। ऐसी खबरें थीं कि ये भी उसी वजह से कंपनी से दूर हुए हैं लेकिन इसकी असली वजह के बारे में हम कोई टिपण्णी नहीं कर सकते हैं। आइए आपको सोंजय दत्त से जुड़ी वो बातें बताते हैं जो आप नहीं जानते होंगे।

#5 WWE में समय बिताने वाले सोंजय दत्त भारतीय फैंस के बेहद मुरीद हैं

सोंजय दत्त सिर्फ अमरीका में रहते हैं लेकिन ये आज भी दिल से पूरी तरह से भारतीय हैं। इनका मानना है कि भारतीय रेसलर्स जैसा कोई रेसलर नहीं है और भारतीय फैंस जैसा कोई फैन नहीं है। इस बात में दोराय नहीं कि सोंजय दत्त की ये बात बिल्कुल सच है। सोंजय दत्त की इस बात का अंदाजा आप भारत में हुए किसी भी इवेंट से लगा सकते हैं।

ये भी पढ़ें: 5 दिग्गज WWE सुपरस्टार्स और उनका Indian Greeting Challenge में प्रदर्शन कैसा रहा

जब भारत में लाइव शो हुआ था तो फैंस का उत्साह एवं जोश देखते ही बनता था। फैंस रेसलिंग के साथ साथ उससे जुड़े जज्बे से भी बेहद इत्तेफाक रखते हैं। उन्हें रेसलिंग से जुड़े हर पहलू के बारे में जानकारी थी और जिस तरह का फैन बेस भारत में है वैसा दूसरा कोई नहीं है। इस बात को खुद WWE के सीओओ ट्रिपल एच भी मान चुके हैं।

ये भी पढ़ें: WWE ने SmackDown के ऐतिहासिक एपिसोड का किया ऐलान, एक साथ दो अलग जगह देखने को मिलेगा एक्शन

कृपया Sportskeeda के WWE सेक्शन को बेहतर बनाने में मदद करें। अभी 30 सेकंड का सर्वे करें!

#4 इनका असली नाम रितेश भल्ला है

जी हाँ, आपने सही पढ़ा, इनका असली नाम सोंजय दत्त नहीं है बल्कि रितेश भल्ला है। रितेश को भारतीय फिल्मों से खासा लगाव था और इस लगाव के पीछे का कारण है उनका भारत से जुड़ाव। ये दिल्ली के रहने वाले थे और इनके जन्म के पहले ही इनके माता पिता अमरीका चले गए थे।

इस कारण से वो भारत में अपना समय नहीं बिता सके लेकिन भारतीय मूल का होने के कारण इन्हें भारत से बेहद प्यार था। ये अपने दौर में संजय दत्त की फिल्में देखते थे और वहीं से उन्हें इस नाम का आइडिया आया था। क्या इन्होंने अपने पहले मैच में इस नाम का इस्तेमाल किया था?

#3 इन्होंने अपने पहले मैच में ड्रैगन राणा के नाम से एंट्री की थी

youtube-cover

इनका पहला प्रोफेशनल मैच 2003 में Major League Wrestling के लिए था जिसमें इनका मुकाबला जिमी यैंग के साथ हुआ था। ये उस मैच को जीतने में कामयाब रहे थे। इन्होंने 2003 में ही हुई एक अंताराष्ट्रीय प्रतियोगिता को जीता था जिसे Major League Wrestling ने ही करवाया था।

इस प्रतियोगिता के अंतिम मैच में इनका मुकाबला टोनी ममलूक, एडी कोलोन, और क्रिस्ट्रोफर डैनिएल्स के साथ था और इन तीनों को हराकर ये जूनियर हैवीवेट चैंपियनशिप को अपने नाम करने में कामयाब रहे थे। ये इनकी पहली बड़ी जीत थी और इसके बाद इन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा।

#2 इन्होंने फॉरेन रिलेशंस में पढाई की हुई है

youtube-cover

सोंजय ने बताया कि जब उन्होंने अपने माता पिता को अपने करियर के बारे में बताया तो एक भारतीय माता पिता की तरह उनका कहना था कि अगर मैं ये सब करना चाहता हूँ तो कर सकता हूँ लेकिन मुझे अपनी पढाई पूरी करनी होगी। दत्त ने कहा कि वो उस समय जॉर्ज मेसन से पढाई कर रहे थे।

वो उस समय अपनी ग्रेजुएशन के अंतिम साल में थे जब उन्होंने इसपर पूरी तरह से विचार किया और जब एक बार उनके मन ने ये निश्चय कर लिया कि उन्हें यही करना है तो फिर उन्होंने कभी किसी और की बात पर ध्यान ना देकर अपने लक्ष्य को सामने रखा और बढ़ते चले गए। इसके कारण वो आज इतने बड़े मुकाम पर पहुँच गए हैं।

#1 ये ECW लेजेंड साबू से लड़ना चाहते थे

youtube-cover

रेसलिंग में साबू का एक बड़ा नाम है। वो रेसलिंग करते समय हर हद को पार कर देते थे। उनकी रेसलिंग का तरीका काफी अलग था जिसे फैंस बेहद पसंद करते थे। फैंस इनके काम को आज भी पसंद करते हैं और सोंजय दत्त इससे अलग नहीं हैं। साबू उस समय एक बेहद बड़ा नाम थे जबकि सोंजय दत्त 2003 में अपनी शुरुआत कर रहे थे।

सोंजय के मुताबिक आज भी अगर उन्हें साबू के साथ एक मैच मिल सके तो ये उसे एक बड़ा पल मानेंगे। ये बात और है कि शायद साबू अब एक्शन को करने से इंकार कर दें। वैसे ये एक ड्रीम मैच ही होगा जिसे सभी देखना चाहेंगे और सोंजय तो इस मैच के लिए कभी भी तैयार हो सकते हैं।

Edited by Amit Shukla

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...