Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

रेसलिंग की 6 सच्चाई जो फैंस मानना नहीं चाहते 

Subham Pal
ANALYST
टॉप 5 / टॉप 10
Timeless

ब्रॉक लैसनर
ब्रॉक लैसनर

प्रो रेसलिंग की सबसे बड़ी खासियत यह है कि यहां हर तरह के दर्शकों के लिए कुछ-न-कुछ जरुर मौजूद है। अगर फैंस को टेक्निकल रेसलिंग पसंद हैं तो वे रिंग ऑफ़ हॉनर और NJPW देख सकते हैं वहीं हाई-फ्लाइंग एक्शन पसंद करने CMLL का लूचाडोर्स देख सकते हैं। इसके अलावा ऐसे प्रो रेसलिंग फैंस की तादाद काफी ज्यादा है जो बेहतरीन स्टोरीलाइन और ड्रामा से भरी रेसलिंग देखना पसंद करते हैं और यही कारण है कि दुनिया भर में डब्लू डब्लू ई(WWE) देखने वाले फैंस की संख्या सबसे ज्यादा है।

यह भी पढ़े: 3 कारण क्यों बैरन कॉर्बिन को द फीन्ड, डेनियल ब्रायन और द मिज़ की कहानी में शामिल किया गया 

अलग-अलग तरह के फैंस होने का यह भी मतलब है कि उन सभी के विचार अलग-अलग होते हैं इसलिए रेसलिंग से जुड़ी किसी बात को लेकर उनके बीच झड़प होना आम बात है। कई ऐसे तथ्य हैं जिन्हें फैंस मानना नहीं चाहते और इस आर्टिकल में हम रेसलिंग से जुड़ी ऐसी ही 6 कड़वी सच्चाईयों के बारे में बात करने वाले हैं।

#6.) AEW शायद ही WWE को पछाड़ पाएगी

AEW
AEW

AEW भले ही अस्तित्व में आने के बाद काफी लोकप्रिय हो गई है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि इसने WWE को पछाड़ दिया है। AEW भले ही स्पोर्ट्स एंटरटेनमेंट का भविष्य हो सकती है कि लेकिन वर्तमान में देखा जाए तो मार्केट शेयर, स्टोरीलाइन और एक्सपोज़र के मामले में WWE, AEW से कहीं आगे हैं। इसके अलावा एक्सपीरियंस के मामले में भी देखा जाए तो WWE, AEW से 40 साल आगे है।

अब जबकि प्रो रेसलिंग मार्केटप्लेस में AEW का WWE से ज्यादा दबदबा है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वह WWE से आगे निकल जाएगी। इसके अलावा फैंस के मामले में भी AEW, WWE के आस-पास भी नहीं है और उन्हें WWE के आस-पास भी पहुंचने में काफी समय लगेगा।


1 / 4 NEXT
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...