Create

WWE के 7 बड़े रिकॉर्ड जो शायद कभी नहीं टूट पाएंगे

निकोलस WWE इतिहास के सबसे कम उम्र के चैंपियन हैं
निकोलस WWE इतिहास के सबसे कम उम्र के चैंपियन हैं

रिकॉर्ड्स बनते ही टूटने के लिए हैं, ये बात WWE में भी बहुत बार सच साबित हो चुकी है। रेसलर्स अपने करियर में रिटायर होने से पहले कई बड़े-बड़े रिकॉर्ड्स को अपने नाम कर जाते हैं, जिन्हें तोड़ पाना अन्य सुपरस्टार्स के लिए मुश्किल जरूर होता है लेकिन नामुमकिन नहीं।

पिछले कुछ सालों की बात करें तो ब्रॉक लैसनर का 504 दिनों तक WWE यूनिवर्सल चैंपियन बने रहने और पीट डन का 685 दिनों तक NXT UK चैंपियन बने रहने का रिकॉर्ड का टूटना लगभग असंभव सा प्रतीत होता है।

ये भी पढ़ें: WWE के 5 मौके जब बड़ी टीमों के टूटने पर फैंस अपने आंसुओं को रोक नहीं पाए

इनके अलावा भी WWE में कई ऐसे रिकॉर्ड बने हैं जिनका टूट पाना लगभग असंभव सा प्रतीत होता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए इस आर्टिकल में हम WWE के ऐसे 7 रिकॉर्ड्स को आपके सामने रख रहे हैं जो शायद ही कभी टूट पाएंगे।

एक ही WWE चैंपियनशिप को सबसे ज्यादा बार जीतने का रिकॉर्ड

एक समय था जब रेवन ने WWE हार्डकोर चैंपियनशिप को 27 बात जीता था। ऐसा प्रतीत होने लगा था कि एक ही चैंपियनशिप को सबसे ज्यादा बात जीतने का ये रिकॉर्ड कभी टूट ही नहीं पाएगा।लेकिन 2019 में WWE 24/7 टाइटल का अनावरण हुआ, जिसे कोई भी व्यक्ति जीत सकता है।

मौजूदा स्थिति को देखते हुए ये कहना गलत नहीं होगा कि आर ट्रुथ जल्द ही 50 बार 24/7 चैंपियन बनने वाले सुपरस्टार बनने वाले हैं। एक ही चैंपियनशिप को सबसे ज्यादा बार जीतने के मामले में आर ट्रुथ पहले ही टॉप पर पहुंच चुके हैं।

ये भी पढ़ें: 5 चीजें जिन्हें क्रिस जैरिको अपने करियर में कभी हासिल नहीं कर पाए

WWE में सबसे कम उम्र का चैंपियन

रैने डुप्री और टायलर बेट ने 19 साल की उम्र में WWE में अपना पहला टाइटल जीता था। दोनों का नाम WWE के इतिहास के सबसे कम उम्र के चैंपियंस में गिना जाता था।

लेकिन रेसलमेनिया 34 में इस तरह के सभी रिकॉर्ड्स को 10 साल के एक बच्चे ने ध्वस्त कर दिया था। क्योंकि रेसलमेनिया 34 में ही ब्रॉन स्ट्रोमैन ने 10 वर्षीय बच्चे निकोलस के साथ मिलकर रॉ टैग टीम चैंपियनशिप जीती थी।

ये भी पढ़ें: 5 बड़े सुपरस्टार्स जिनका WWE से बाहर भी बिजनेस चल रहा है

WWE के इतिहास का सबसे ज्यादा उम्र का चैंपियन

आमतौर पर प्रो रेसलर्स 50 की उम्र तक रिटायर हो चुके होते हैं। इसका जीता जागता उदाहरण बतिस्ता और कर्ट एंगल जैसे सुपरस्टार्स हैं। लेकिन विंस मैकमैहन ने 54 की उम्र में WWE चैंपियन बनकर बहुत बड़ा कारनामा कर दिखाया था।

उनका ये रिकॉर्ड पैट पैटरसन ने जुलाई 2019 में तोड़ा। पैटरसन 74 साल की उम्र में ड्रेक मेवरिक को हराकर WWE 24/7 चैंपियन बने थे।

रेसलमेनिया के इतिहास का सबसे छोटा मैच

हर एक WWE सुपरस्टार का सपना होता है कि उन्हें रेसलमेनिया में मैच लड़ने का अवसर प्राप्त हो। एरिक रोवन को रेसलमेनिया 32 में मैच तो मिला लेकिन ये एक ऐसा मुकाबला साबित हुआ, जिसे वो कभी याद नहीं रखना चाहेंगे।

द रॉक और एरिक रोवन के बीच लड़ा गया ये मैच केवल 6 सेकेंड में ही समाप्त हो गया था। जिसमें केवल एक ही रॉक बॉटम मूव देखने को मिला।

सबसे लंबे समय तक WWE इंटरकॉन्टिनेंटल चैंपियन रहने का रिकॉर्ड

WWE इंटरकॉन्टिनेंटल चैंपियनशिप को साल 1979 में अमल में लाया गया था। ये बेहद चौंकाने वाली बात है कि एक ही समय पर कोई भी सुपरस्टार 500 दिनों तक भी इंटरकॉन्टिनेंटल चैंपियन नहीं बना रह सका है।

सबसे लंबे समय तक इंटरकॉन्टिनेंटल चैंपियन बने रहने का रिकॉर्ड द होंकी टोंक मैन के नाम है। जो 1987-1988 के समय में 454 दिनों तक चैंपियन बने रहे थे। मिड-कार्ड डिविजन की मौजूदा हालत को देखते हुए ये कहना गलत नहीं होगा कि ये रिकॉर्ड शायद कभी नहीं टूट पाएगा।

सबसे लंबे समय तक WWE चैंपियन बने रहने का रिकॉर्ड

ब्रूनो सम्मार्टिनो ने साल 1963 में WWE में एंट्री ली थी और विंस मैकमैहन सीनियर ने जल्द ही उन्हें टॉप स्टार बनाने की ओर कदम उठाने शुरू कर दिए थे।

इसी का नतीजा रहा कि सम्मार्टिनो 2803 दिन यानी करीब 8 साल तक चैंपियन बने रहे थे। इन दिनों अगर कोई सुपरस्टार 1 साल तक भी चैंपियन बना रहता है तो फैंस के मन में उसके प्रति ऊब की भावना पैदा होने लगती है। इसलिए इस रिकॉर्ड का टूट पाना असंभव है।

अंडरटेकर की रेसलमेनिया स्ट्रीक

अंडरटेकर WWE के सबसे निष्ठावान रेसलर्स में से एक रहे हैं। इसी का नतीजा रहा कि उन्होंने लगातार 21 रेसलमेनिया मैचों में जीत दर्ज की थी। इस स्ट्रीक की शुरुआत रेसलमेनिया 7 में जिमी स्नूका के खिलाफ जीत से हुई और अंत रेसलमेनिया 30 में ब्रॉक लैसनर के खिलाफ हार से हुआ।

सबसे ज्यादा रेसलमेनिया मैच लड़ने का रिकॉर्ड भी अंडरटेकर के ही नाम है। 27 मैचों में उन्हें 25 में जीत और 2 में हार मिली है।

Quick Links

Edited by Neeraj sharma
Be the first one to comment