Create
Notifications

5 कारण जिनके आधार पर NXT, Raw और SmackDown से बेहतर है

कौन सा ब्रांड दूसरे से बेहतर है?
कौन सा ब्रांड दूसरे से बेहतर है?
Amit Shukla

NXT भले ही पिछले साल से लाइव आया हो इसमें दोराय नहीं कि ब्रांड को फैंस से अच्छा समर्थन मिल रहा था। अगर आप बाद में आई कंपनी से मिल रहे चैलेंज को एक किनारे कर दें तो भी डब्लू डब्लू ई (WWE) ने अच्छा प्रदर्शन किया है। इस ब्रांड ने कंपनी के दो बेहद पुराने ब्रांड को कड़ी टक्कर दी है। अब जितने भी रेसलर्स मेन रोस्टर का हिस्सा बनते हैं उनमें से अधिकतर इसी ब्रांड के जरिए ही वहां तक पहुंच पाते हैं।

इस तीसरे ब्रांड की ताकत का अंदाजा और उसके प्रदर्शन का कमाल आप इस बात से ही समझ सकते हैं कि कई प्रतिष्ठित रेसलर्स ने मेन रोस्टर से वहां जाना सही समझा। इनमें फिन बैलर, किलियन डेन जैसे नाम शामिल हैं जबकि टायलर ब्रीज़ और फैन्डैंगो ने भी ब्रांड में वापसी की और अब उनका काम काफी बेहतर है।

ये भी पढ़ें: रोमन रेंस की जगह WrestleMania 36 में ब्रॉन स्ट्रोमैन ले सकते हैं

ऐसे कई फैन हैं जो अमूमन NXT को दोनों ब्रांड से ज्यादा प्राथमिकता देते हैं और उसकी कई वजहें हैं। ऐसा क्या कारण है कि फैंस ने इतने पुराने और बेहतरीन ब्रांडस को छोड़कर इस नए ब्रांड को इतना पसंद किया? आइए इस आर्टिकल में जानने की कोशिश करते हैं:

#5 लंबे समय के लिए बुकिंग और बेहतरीन स्टोरीलाइन्स

बुकिंग और बेहतरीन स्टोरीलाइन्स
बुकिंग और बेहतरीन स्टोरीलाइन्स

जब एक कहानी लंबे समय तक चलती है तो उससे रेसलर्स को खुद के किरदार को बेहतर करने और उसे नए तरीके से समझने का मौका मिलता है। ये चीज तब नहीं होती जब कोई कहानी शुरू होकर एकदम से खत्म हो जाए जैसा मेन रोस्टर में अमूमन होता है। कई रेसलर्स सालों तक दोस्त और फिर दुश्मन के बाद दोस्त बनते हैं और उससे सबको फायदा होता है। सैमी जेन और केविन ओवेंस या डीआईवाई के बीच लड़ाई इसका उदहारण है।

WWE और रेसलिंग से जुड़ी तमाम बड़ी खबरों के साथ-साथ अपडेट्स, लाइव रिजल्ट्स को https://www.facebook.com/SKWrestlingHindi/ पर पाएं

#4 कोई फेवरिटिज़म नहीं

कोई फेवरिटिज़म नही
कोई फेवरिटिज़म नही

रॉ और स्मैकडाउन से उलट इस ब्रांड में रेसलर को पुश उसके किरदार के आधार पर मिलती है ताकि वो अपने लिए और बेहतर मौके बना सके। मेन रोस्टर में अमूमन रेसलर्स को एक या दो मौके देकर रोक दिया जाता है क्योंकि उनसे कंपनी को वो फायदा नहीं मिल रहा जिसकी उम्मीद थी। वहीँ दूसरी तरह हर रेसलर को इस तीसरे ब्रांड में तबतक पुश किया जाता है जबतक वो अपने किरदार और काम को बेहतर ना कर ले। इससे कई बार रेसलर्स को वो फायदा मिलता है जिसकी कोई उम्मीद भी नहीं कर सकता है।

ये भी पढ़ें: 5 WWE सुपरस्टार्स जिन्होंने ब्रॉक लैसनर को हराकर वर्ल्ड टाइटल जीते और अब वो कहां हैं?

#3 बड़े सुपरस्टार्स के स्तर से शो के काम पर कोई फर्क नहीं पड़ता

सिर्फ काम से मतलब
सिर्फ काम से मतलब

विंस मैकमैहन जहाँ सिर्फ मसल वाले या ज्यादा बॉडी बिल्डर टाइप रेसलर्स को पसंद करते हैं वहीँ तीसरे ब्रांड में ऐसा नहीं है और वो हर किसी को एक समान ही मानता है। इसकी वजह से सबको ये फायदा होता है कि हर कोई अपने मौके पाता है और शरीर की बनावट नहीं स्किल के आधार पर उनके काम को तरजीह मिलती है।

#2 हर डिवीजन पर एक समान ध्यान देना

एक समान ध्यान देना
एक समान ध्यान देना

अगर ध्यान से देखा जाए तो तीसरे ब्रांड ने हर रेसलर पर एक समान ध्यान दिया है जिसकी वजह से हर रेसलर और डिविजन को एकसमान बढ़ने के मौके मिले हैं। मेंस, विमेंस या टैग टीम डिवीजन हर किसी के लिए टेकओवर में एक समान मौके होते हैं और ये एक बेहद जरूरी और बड़ी बात हैं। इसमें कोई दोराय नहीं कि कंपनी का ये ब्रांड हर रेसलर को मौके देने से नहीं कतराता और इसकी वजह से इनके बड़े शो जैसे टेकओवर हमेशा हिट रहते हैं।

ये भी पढ़ें: 5 कारण क्यों एजे स्टाइल्स के साथ द अंडरटेकर का मैच उनका आखिरी मैच होना चाहिए

#1 मैच की बेहतर क़्वालिटी

बेहतर मैच
बेहतर मैच

अब इसके बिना आप कुछ भी करें तो कोई फर्क नहीं पड़ता। यही वजह हैं कि ब्रांड में हर मैच एक अलग और बेहतर स्तर का होता हैं। हर मैच चाहे कितनी ही बार लड़ा जाए उसमें एंटरटेनमेंट होता हैं और ये उस बात पर भी लागू होता है जो किसी कहानी का हिस्सा हों। कहानी या एक साधारण मैच दोनों ही स्तर पर शो ने धमाल किया है और यही इसकी सफलता का कारण है।

Edited by Ankit

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...