Create

WWE को हुआ बहुत बड़ा नुकसान, ये खबर सुनकर विंस मैकमैहन के उड़ेंगे होश

PANKAJ

WWE अब अपने साल के अंतिम पीपीवी टीएलसी की तरफ बढ़ रहा है। WWE रॉ और स्मैकडाउन में इसे लेकर बिल्डअप चल रहा है। इस हफ्ते रॉ का एपिसोड अच्छा रहा। लेकिन व्यूअरशिप के मामले में फिर इस बार नुकसान झेलना पड़ा है। WWE को पिछले कुछ समय से काफी नुकसान रॉ को लेकर हो रहा है।

ये भी पढ़ें:- NXT TakeOver WarGames रिजल्ट्स: WWE को मिला नया चैंपियन, सैथ रॉलिंस के पुराने साथी ने की चौंकाने वाली वापसी

WWE को हुआ फिर नुकसान

इस हफ्ते WWE रॉ की व्यूअरशिप 1.736 मिलियन रही। पिछले हफ्ते की व्यूअरशिप 1.741 मिलियन थी। इस हफ्ते थोड़ा कम व्यूअरशिप हो गई है। हालांकि छोटा सा अंतराल है लेकिन बात बहुत खराब है। रॉ को लेकर ये ट्रेंड जैसा इस समय चल चुका है। पहले से लेकर तीसरे घंटे तक जाते-जाते व्यूअरशिप धरासाई हो जाती है। ऐसा इस बार ही नहीं हुआ है बल्कि पिछले कुछ समय से रॉ का काफी बुरा हाल है। WWE ने शो की शुरूआत 1.852 मिलियन से की लेकिन अंत में ये 1.583 में आकर खत्म हो गई।

वैसे ये चलन अब रॉ में चल गया है कि पहले घंटे की व्यूअरशिप खास रहती है और अंतिम में आते-आते लुड़क जाती है। पिछले एक साल से ये हो रहा है। पहले हमेशा तीसरे घंटे की व्यूअरशिप शानदार रहती थी। लेकिन अब ऐसा नहीं है। अब उल्टा हो गया है। रॉ तीन घंटे का शो होता है और इससे कंपनी को बहुत ज्यादा उम्मीदें रहती है। इस समय स्मैकडाउन शो ऊपर है। दो घंटे के शो में दो मिलियन से ज्यादा व्यूअरशिप वहां रहती है। व्यूअरशिप का मामला पिछले कुछ समय से चिंता का विषय विंस मैकमैहन के लिए बना हुआ है। इसके लिए उन्होंने बहुत सी चीजें कर दी है लेकिन वो सब फेल हो गई है।

हाल ही में स्टैफनी मैकमैहन ने भी ये बात कही है कि व्यूअरशिप बढ़ाने के लिए उन्होंने बहुत कुछ किया लेकिन सभी चीजें इस समय फेल हो गई है। वैसे देखा जाए तो रॉ में कोई बड़ा नाम नहीं है। ब्रॉक लैसनर, बैकी लिंच जैसे सुपरस्टार रॉ में अभी नहीं है। लेकिन अब इस बात को काफी समय हो गया है। कंपनी को इस बारे में कुछ अलग से सोचना पड़ेगा। अगर रेटिंग जल्द सही नहीं हुई तो आगे जाकर काफी नुकसान कंपनी को हो सकता है।

ये भी पढ़ें:- Raw रिजल्ट्स: WWE चैंपियन को मिला बड़ा 'धोखा', मेन इवेंट में मचा जबरदस्त बवाल


Edited by PANKAJ

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...