Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

5 भारतीय बल्लेबाज जिन्होंने गेंद के साथ यागदान देते हुए मैच का रुख बदला

  • पढ़िए इसमें कौन से खिलाड़ियों के नाम शामिल हैं
ANALYST
टॉप 5 / टॉप 10
Modified 20 Dec 2019, 20:16 IST
Enter caption

दक्षिण अफ्रीका या इंग्लैंड की तरह भारत को ज्यादातर ऑलराउंडर्स नहीं मिले। अगर एक गुणवत्ता वाला ऑलराउंडर टीम में नहीं हो तो ये कप्तान के फैसले को प्रभावित करती है क्योंकि उन्हें वनडे क्रिकेट में 10 ओवरों के लिए पांचवें गेंदबाज के विकल्पों को देखना पड़ता है जो कि टीम के संतुलन को प्रभावित करती है।

टीम को संतुलन प्रदान करने के लिए शीर्ष क्रम के बल्लेबाज जोकि पार्ट टाईम गेंदबाजी करते हो उन्हें कुछ ओवरों की गेंदबाजी दी जाती है, इसी प्रक्रिया में उन्होंने कई दफा कुछ महत्वपूर्ण साझेदारियां तोड़ दी और मैच का रुख अपनी टीम की ओर मोड़ दिया था।

आइए हम यहां 5 ऐसे प्रदर्शनों को देखें, जहां पार्ट टाइम गेंदबाजों ने अपनी आश्चर्यजनक गेंदबाजी से मैच में काफी अंतर पैदा कर दिया और टीम को जीतने में काफी मदद की।

#5 राहुल द्रविड़ - 2/43 बनाम दक्षिण अफ्रीका - 2000, कोच्चि

ODI: India v South Africa

दक्षिण अफ्रीका ने साल 2000 के सीरीज के पहले वनडे मैच में भारत के खिलाफ पहले बैटिंग करने का फैसला किय और उनके फैसले को सलामी बल्लेबाज गैरी कर्स्टन और हर्शेल गिब्स ने सही साबित कर दिया और एक शानदार साझेदारी की।

सौरव गांगुली जो कप्तान के रूप में पहली बार भारत का नेतृत्व कर रहे थे, एक आउट ऑफ द बॉक्स विचार के साथ आए और राहुल द्रविड़ से गेंदबाजी करने को कहा। द्रविड़, जोकि पहले सईद अनवर को भी अपने ऑफ स्पिन से आउट कर चुके थे।

दक्षिण अफ्रीका ने 42 ओवरों में 249 रन एक विकेट के नुकसान पर बनाए थे, द्रविड़ ने कर्स्टन को 115 रन और क्लूजनर को 0 रन के स्कोर पर एक ही ओवर में चलता कर दिया था, उनका बॉलिंग फिगर 9-1-43-2 था।

यह भी पढ़ें: 5 भारतीय खिलाड़ी जो 2019 में अपना पहला विश्व कप खेल सकते हैं

क्रिकेट की ब्रेकिंग न्यूज़ और ताज़ा ख़बरों के लिए यहां क्लिक करें


1 / 5 NEXT
Published 08 Dec 2018, 19:47 IST
Advertisement
Fetching more content...