ब्रेकअप से खुद को बाहर निकालें और अपनी हेल्थ एवं फिटनेस को बेहतर बनाएं

ब्रेकअप
ब्रेकअप

ब्रेकअप एक दुखद स्थिति होती है खासकर तब जब आप किसी से प्रेम करें और वो आपके प्रेम को या तो सिरे से नजरअंदाज कर दे। ये एक ऐसा अनुभव है जो जीवन में कष्ट दे सकता है और साथ ही ऐसी भावनाओं को जीवन का हिस्सा बना सकता है जहाँ आप खुद में भी अच्छा नहीं महसूस करते हैं। ऐसा जरूरी नहीं कि आप इसके लिए जिम्मेदार हों क्योंकि कई बार सामने वाला या तो उन भावनाओं को ना समझे या फिर आपको उस रिश्ते के काबिल ही ना समझे जो आप पाना चाहते हैं।

ये भी पढ़ें: पैरालिसिस या फालिस से बचने के लिए ये काम करें

ऐसे में खुद को किसी भी स्थिति के लिए कोसना या दुखी होना इस स्थिति का निदान नहीं है। हम सब जिंदगी में इन पलों से दो चार होते हैं और उसकी वजह से हमें जीवन में कुछ पल के लिए बुरा महसूस होता है। ये सोचना कि इसमें सिर्फ आपकी ही गलती थी एक गलत धारणा होगी क्योंकि ये किसी के जीवन के लिए सही नहीं है।

ये भी पढ़ें: सर के बाल की लंबाई को बढ़ाने के लिए इनको अपने खानपान का हिस्सा बनाएं

हम सब ऐसा सोचते हैं कि अगर ऐसी परेशानी आती है या ब्रेकअप होता है तो उससे उबरना मुश्किल है। ये बात कुछ हद तक सही है और काफी हद तक इस बात में सच्चाई नहीं है। ऐसा इसलिए है क्योंकि हम सब अगर किसी भी बुरी घटना पर ही ध्यान केंद्रित रखेंगे तो उससे किसी को कोई लाभ नहीं होने वाला है।

ये भी पढ़ें: किडनी स्टोन की समस्या का समाधान कर के खुद को सेहतमंद बनाएं

ब्रेकअप के बाद खुद को कैसे दोबारा से बेहतर महसूस कराएं

ब्रेकअप के बाद सबसे पहले उस नंबर को कॉन्टैक्ट से हटा दें क्योंकि अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपको काफी बुरा लगेगा और ये आपके लिए अच्छा नहीं है। नंबर हटाने के बाद अगर ऐसी कोई भी याद आपके पास हो जो आपको उस इंसान की याद दिलाए तो उसे हटाना ही सही होगा। इसमें गिफ्ट्स, मेसेज इत्यादि शामिल हैं।

अगर आप उन यादों को रखना चाहते हैं तो अपने ऑनलाइन ड्राइव में उन्हें रख लें ताकि अगर आप कभी उन दिनों को याद करना चाहें तो आप ऐसा कर सकें। खुद को दोषी ना मानें और ना ही दूसरे को बुरा कहें, बल्कि खुद में ही उन सभी बातों को कह डालें, और अगर मुमकिन हो तो तेज आवाज में ताकि वो बातें मन में कोई गुबार ना पैदा करें। ऐसी स्थिति में किसी अन्य रिलेशनशिप में ना पड़ें क्योंकि वो एक अच्छा कदम नहीं है।

यदि मुमकिन हो तो पढ़ने, गीत सुनने, या एक्सरसाइज में अपने मन को लगाएं। अगर आप कहीं घूमने जा सकते हैं तो ये जरूर करें। इन बातों का असर आपके दिमाग पर होता है बिल्कुल उसी तरह जैसे ब्रेकअप का असर होता है। ऐसे में आप खुद पर फोकस करें और अपनी सेहत (खासकर मानसिक सेहत) के लिए दिमाग को डाइवर्ट करें।

Edited by Amit Shukla