Create
Notifications

गरुड़ासन कैसे और क्यूँ करे: Garudasana Kaise aur kyu kare

फोटो: Lokmat News Hindi
फोटो: Lokmat News Hindi
Amit Shukla
visit

गरुणासन को संतुलन से जुड़ा हुआ आसन कहा जाता है क्योंकि इसको करने के बाद आप अपने शरीर को संतुलन की स्थिति में ला सकेंगे। यहाँ ये ध्यान रखना जरूरी है कि इस आसन को करने से आपके दिमाग, सोच और शरीर पर अच्छा प्रभाव पड़ता है। ये बात भी जान लेना जरूरी है कि शुरुआत में ये कष्टकारी लगेगा लेकिन इसके फायदे जानकर आप इसे कभी नहीं रोकना चाहेंगे।

ये भी पढ़ें: तरबूज खाने के बाद क्या नहीं खाना चाहिए: Tarbooj khaane ke baad kya nahin khaana chahiye

इसको करने से आपकी जांघों, हिप्स, अपर बैक और कंधों में खिंचाव देखने को मिलता है। ये ध्यान को केंद्रित करने और संतुलन को बनाने में भी मदद करता है। इससे आपके पैर की मांसपेशियां एवं पिंडलियों से जुड़ी नसें मजबूत होती है। ये कई प्रकार की बीमारियों को दूर करता है जिनमें रूमेटिज्म, आमवात, आर्थराइटिस और साइटिका शामिल है।

अगर आपको टखने, घुटने या कुहनी में चोट लगी है तो इस आसन को ना करें। लो ब्लड प्रेशर के मरीज इस आसन को बिल्कुल ना करें। आप अगर किसी बीमारी से दो चार हो रहे हैं तो आपको डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही इस आसन को करना चाहिए वरना आपको परेशानी पेश आ सकती है।

गरुड़ासन कैसे करे

योगासन की मुद्रा में आएं

इसके लिए आप पहले मैट पर खड़े हो जाएं। अब अपने बाएं पैर को दाएं पैर के ऊपर लपेट दें जिसमें आपका बायां पैर पिंडलियों के निचले हिस्से को छू रहा हो। इसके साथ ही आपके दोनों पंजे एक दूसरे के ऊपर होने चाहिए। इस अवस्था में आने से आपने आसन के शुरूआती प्रभाव को कर लिया है।

ये भी पढ़ें: खाना खाने के कितनी देर बाद पानी पीना चाहिए: khaana khaane ke kitni der baad paani peena chahiye

हाथों को ऊपर उठाएं

जब आप अपने हाथों को ऊपर उठाएं तो ये कुछ इस प्रकार से होने चाहिए कि कुहनी से लेकर हथेलियों तक के बीच में कंधे से नब्बे डिग्री का कोण हो। इसके बाद अपने हाथों को भी आपस में लपेट लें और अब कूल्हों को नीचे लाने का प्रयास करें। इस दौरान पैर दाएं या बाएं नहीं मुड़ने चाहिए।

मुद्रा में रहें

इस स्थिति में आप जहाँ तक खुद को नीचे ले जा सकते हैं वहाँ तक ले जाएं। इस मुद्रा में आप गहरी सांस लेते और छोड़ते रहें लेकिन इसमें एक पैर पर सिर्फ अधिकतम तीस सेकेंड तक ही अभ्यास करें। इसके बाद इसी मुद्रा को दूसरे पैर के साथ करें। इससे आपको काफी लाभ होगा।

ये भी पढ़ें: खाना खाने के बाद नींबू पानी पीने के फायदे: Khaana Khaane ke baad neembu paani peene ke fayde


Edited by Amit Shukla
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now