Create

खाने में इस बात का ध्यान रखें और सेहत को बेहतर बनाएं

खाने
खाने
Amit Shukla

खाना तो हम सब खाते हैं लेकिन हम सबने ये देखा है कि कई लोगों की सेहत बेहतर रहती है जबकि कुछ अन्य की सेहत उतनी बेहतर नहीं होती है। इन दोनों ही स्थितियों में सिर्फ एक ही फर्क है और वो ये कि जिनकी सेहत अच्छी है वो अपने खाने की प्लेट को सही तरीके से भोजन से सजाते हैं जबकि दूसरे ऐसा कुछ भी नहीं कर पाते हैं। ऐसी स्थिति में उन्हें न्यूट्रिएंट नहीं, परेशानी पैदा करने वाले मिनरल्स ज्यादा मिलते हैं और वो शरीर में जाकर और परेशानी का कारण बनते हैं।

ये भी पढ़ें: कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए इन चीजों का इस्तेमाल करें

ऐसे में अगर आपकी थाली में क्या है और क्या नहीं ये निर्धारित करता है कि आपकी सेहत कैसी रहेगी। सब्जी, रोटी, सलाद, फल एवं दूध या दही का इस्तेमाल आपके भोजन के लिए सही है। वहीँ कई लोग वेज की जगह नॉन-वेज को खाना पसंद करते हैं और अगर ऐसा है तो आपको ये ध्यान देना चाहिए कि आप उनको पचाने के लिए जरूरी एक्सरसाइज भी जरूर करें। ऐसा ना करने की स्थिति में आप अपनी सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे होते हैं जो कहीं से भी अच्छी बात नहीं है।

ये भी पढ़ें: मूंगफली के ये फायदे जानकर आप इसका इस्तेमाल जरूर करेंगे

खाने से सेहत का एक अहम रिश्ता है

खाना और सेहत एक दूसरे के परिचायक है और आपकी थाली में मौजूद भोजन से जुड़े आइटम्स इस बात को बताते हैं कि आप सेहत को लेकर कितने सीरियस हैं। अगर भोजन को आपकी सेहत ने नहीं बल्कि आपकी जबान के स्वाद ने कंट्रोल कर रखा है तो इसमें दोराय नहीं कि आपको परेशानी पेश आनेवाली है। यहाँ ये जान लेना भी जरूरी है कि आपकी सेहत आपका निजी मामला है और इसलिए आपको लोग सुझाव दे सकते हैं लेकिन उन्हें पूरा करना है या नहीं ये आप स्वयं निर्धारित कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें: वजन घटाने के लिए इस वेजिटेरियन डाइट का इस्तेमाल आपके लिए अच्छा रहेगा

अगर आप सेहत को बेहतर करना चाहते हैं तो अपनी थाली को बेहतर करें क्योंकि आप जो भी खाएंगे वो ही आपकी सेहत पर प्रभाव ड़ालेगा। आपने वो कहावत तो सुनी होगी कि 'जैसा खाए अन्न, वैसा रहे मन' और इसमें दोराय नहीं कि सेहत अच्छी करने के लिए आपको अपने अन्न पर ध्यान देना होगा। ऐसी किसी भी चीज को ना खाएं जो ज्यादा तली भुनी हो और जिसमें फैट हो। फास्ट फूड को जीवन से हटाकर ही आप अपनी सेहत और जीवन को ट्रैक पर ला सकते हैं।


Edited by Amit Shukla

Comments

Fetching more content...