नैचुरल फेस मास्क से अपने स्किन का ग्लो बढ़ाएं

नैचुरल फेस मास्क
नैचुरल फेस मास्क

नैचुरल फेस मास्क किसी भी ऐसे मास्क से काफी बेहतर है जो आपकी सेहत को नुकसान पहुँचाए। आज के दौर में जहाँ समस्याएं बहुत हैं और ऐसे कई कीटाणु आपके आसपास भी मौजूद हैं जो आपकी सेहत को खराब कर दें तो ऐसे में ये जरूरी है कि आप खुद को इनसे दूर रखें। ऐसे कई फेस मास्क आपको बाजार में मिल जाएंगे जो सुरक्षित होने का दावा करते हैं लेकिन यदि ध्यान दिया जाए तो वो परेशानी ही बढ़ाते हैं। ऐसे में ये बेहद जरूरी हो जाता है कि आप खुद का ध्यान रखें और ऐसे किसी भी प्रोडक्ट को ना अपनाएं जो असलियत में सेहत के लिए हानिकारक हो।

ये भी पढ़ें: खाने में इस बात का ध्यान रखें और सेहत को बेहतर बनाएं

ऐसी कोई भी कंपनी नहीं है जो अपनी गलतियों को बताए या स्वीकारे। अगर आप खुद पर ध्यान देंगे और मार्केट में आ रहे प्रलोभनों का हिस्सा नहीं बनेंगे तो आपको ऐसी किसी भी परेशानी से दो चार नहीं होना पड़ेगा। ऐसा इसलिए है क्योंकि हम सबके घरों में ही ऐसे हर मास्क के लिए जरूरी सामान मौजूद होता है। चूँकि हम उनके असली काम और अपने लिए होने वाले आराम को नहीं जानते हैं तो हम ऐसी चीजों को जीवन का हिस्सा बना लेते हैं जो ना सिर्फ शरीर को नुकसान पहुँचाते हैं बल्कि डॉक्टर्स के लिए भी आय के रास्ते बना देते हैं।

ये भी पढ़ें: वजन घटाने के लिए इस वेजिटेरियन डाइट का इस्तेमाल आपके लिए अच्छा रहेगा

नैचुरल फेस मास्क के तीन तरीके

नैचुरल फेस मास्क के लिए जरूरी चीजें आपके घर में ही मौजूद हैं। यदि आप हल्दी और दही को मिलाते हैं तो आपको एक ग्लो करते हुए चेहरे वाला फेस मास्क बनाने में आसानी होगी। यहाँ ये ध्यान देना जरूरी है कि ग्लो की बात के बारे में बताया जा रहा है जिसका किसी के स्किन कलर से कोई सरोकार नहीं है। ग्लो करते हुए स्किन का अर्थ है एक ऐसा चेहरा जो मुर्झाया हुआ या दुखी ना दिखे। हल्दी और दही आपके शरीर के अंगों पर बेहतरीन असर करते हैं इसलिए इनका इस्तेमाल अहम हो जाता है।

ये भी पढ़ें: मूंगफली के ये फायदे जानकर आप इसका इस्तेमाल जरूर करेंगे

वहीं अगर आप हल्दी और शहद का इस्तेमाल करते हैं तो आप चेहरे पर मौजूद मुहाँसों को हटा सकते हैं। अगर हल्दी के साथ एलोवेरा का इस्तेमाल करते हैं तो आप अपने चेहरे पर मौजूद डार्क स्पॉट्स को हटा सकते हैं। ये बात देखने वाली है कि हल्दी इन तीनों ही मास्क में अहम है और इसका इस्तेमाल हमेशा ही अच्छा माना जाता है।

Edited by Amit Shukla